लॉकडाउन में चल रहा सात निश्चय का काम, कैसे लड़ेंगे कोरोना से जंग

Purnia News - सरकार के पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा पर अब गांव के लोग भी अपना जरूरी कार्य बंद कर घर में रहने लगे हैं, लेकिन सरकार के...

Mar 27, 2020, 07:25 AM IST
Kothi News - seven determined work in lockdown how will fight corona

सरकार के पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा पर अब गांव के लोग भी अपना जरूरी कार्य बंद कर घर में रहने लगे हैं, लेकिन सरकार के आदेशों का बिहार सरकार के अतिमहत्वाकांक्षी योजना सात निश्चय में हर घर नल से जल के संवेदक धड़ल्ले से उड़ाते नजर आते हैं। इन बाबुओं के लिए कार्य को जल्द पूरा करना ही सब कुछ है। यह बात दीगर है कि संवेदक तो खुद अपने ऊंचे अट्टालिका में बैठ कर कोरोना से बचने के लिए तरह-तरह के उपाय कर चुके होंगे। इन पूंजीपतियों के लिए गरीबों की जान की क्या कीमत। गरीबों की जान को अपना कमाई बनाकर कार्य पूर्ण करने में कोई कोर कसर नही छोड़ रहा है। तीन सौ की दहियारी में दहियारी मजदूर अपना जान जोखिम में डाल कर पेट के लिए काम करने को विवश है। इनकी सुधि लेने वाला कोई नहीं है।

बताते चलें कि जबकि सरकार के तरफ से घोषणा की गई है कि जो मजदूर जिस कंपनी या संवेदक के यहां काम करता है उन्हें लॉकडाउन के दौरान बिना काम किये ही संबंधित कंपनी के द्वारा मजदूरी का भुगतान किया जाएगा, लेकिन मजदूरों की बातों को माने तो संवेदक के द्वारा साफ-साफ शब्दों में कहा गया है कि बिना काम किये मजदूरी में फूटी कौड़ी भी वे देनेवाले नहीं है। शायद इसी धमकी के डर से मजदूर अपना जान जोखिम में डाल कर सात निश्चय योजना में सड़क किनारे पाइप बिछाने में लगे हुए हैं। सड़क किनारे काम कर रहे मजदूरों को देख जब ग्रामीणों के द्वारा अकबरपुर के पुलिस के गश्ती गाड़ी के दारोगा आरपी चौरसिया से किया तो दारोगा बाबू ग्रामीणों को ही लॉक डाउन के बारे में जानकारी देकर ज्ञान बघारने लगे।

इतना ही नही ग्रामीणों का आरोप है की वे उनकी बातों का अनसुनी करते हुए मजदूर को काम करने से रोकने के बजाय सीधे गाड़ी पर बैठ चलते बने। इस बावत रुपौली बीडीओ पंकज कुमार से पूछा गया तो बोले कि मामला गम्भीर है। पीएचईडी के अभियंता से बात कर अविलंब काम बंद करवाया जाएगा।

लॉकडाउन का सख्ती से हुआ पालन, सड़कों पर पसरा रहा सन्नाटा

बीकोठी|बड़हरा कोठी थानाध्यक्ष सुनील कुमार द्वारा बरती गई सख्ती के बाद ब कोठी में लॉक डाउन के निर्देशों का शत प्रति शाट पालन देखा गया। सभी लोग पूरे दिन अपने अपने घरों में दुबके रहे तथा सड़कों एवं बाजारों में सन्नाटा छाया रहा। दवा दुकान को छोड़ बाजार की सभी दुकान दुकानें भी बंद देखी गई। सप्ताह में दो दिन रविवार एव गुरुवार को लगने वाले हाट में भी सन्नाटा पसरा रहा।प्रखंड क्षेत्र के बाजार के अलावा ग्रामीण क्षत्रों में भी लोग अपने घरों एवं दरवाजों पर बैठ समय बिताते नजर आए। कुछ लोग पूरे दिन टेलीविजन से चिपके देखे गए।कुछ लोग अतिआवश्यक कार्य के लिए ही बाहर निकल रहे हैं। बड़हरा कोठी बाजार के दवा दुकानों में मास्क और सैनिटाइजर के भारी कमी की जानकारी मिल रही है।

अकबरपुर में हर घर नल से जल योजना के तहत काम करते मजदूर।

X
Kothi News - seven determined work in lockdown how will fight corona

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना