• Home
  • Jeevan Mantra
  • Jyotish
  • Rashi Aur Nidaan
  • shani jayanti 2018, shani ka rashifal, shani in dhanu rashi, शनि जयंती 15 मई को- 205 साल बाद बन रहा है दुर्लभ योग, 9 राशियों के लिए शुभ रहेगा समय
--Advertisement--

शनि जयंती 15 मई को- 205 साल बाद बन रहा है दुर्लभ योग, 9 राशियों के लिए शुभ रहेगा समय

शनि जयंती पर शनि के लिए तेल का दान करना चाहिए।

Danik Bhaskar | May 07, 2018, 05:02 PM IST

रिलिजन डेस्क। मंगलवार, 15 मई 2018 को ज्येष्ठ मास के कृष्ण पक्ष की अमावस्या है, इस दिन शनि जयंती है। शास्त्रों के अनुसार प्राचीन समय में इस तिथि पर सूर्य और छाया के पुत्र शनि का जन्म हुआ था। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार शनि का जन्म कृत्तिका नक्षत्र में हुआ था। ये सूर्य के स्वामित्व वाला नक्षत्र है। शनि जयंती के समय शनि हमेशा वक्री होता है। यहां जानिए शनि जयंती पर कौन-कौन से योग बन रहे हैं और सभी राशियों पर शनि का कैसा असर होने वाला है...

205 साल बाद बनेगा मंगल का ये योग

- इस साल 15 मई को शनि जंयती और मंगलवार का योग रहेगा। मंगलवार का कारक मंगल है। मंगल ग्रह इस समय अपनी उच्च राशि मकर में है। पं. शर्मा के अनुसार मंगल के उच्च राशि में रहते हुए शनि जयंती २०५ साल पहले ३० मई १८१३ में आई थी। उस समय भी मंगल, केतु के साथ मकर राशि में और राहु कर्क राशि में था, बुध मेष में था।

- इस वर्ष शनि धनु राशि में वक्री है। 29 साल पहले भी शनि धनु राशि में था और उस समय शनि जयंती मनाई गई थी। 1988 में 15 मई को ही शनि जयंती थी। ये भी एक शुभ योग है। जानिए सभी 12 राशियों पर शनि का असर...

मेष- शनि नवम है। इच्छाओं को दबाकर रखें। निवेश से बचें और कोई विवाद, जोखिम न लें। स्वयं पर भरोसा रखें। आगे आने वाले समय में सुधार होगा। क्या करें- निर्धन को तेल एवं नमक का दान करें।

वृषभ- वर्तमान समय में शनि का ढय्या बना रहेगा। शनि वक्री है। इस समय में परेशानियां कम रहेंगी और आय भी अच्छी बनी रहेगी। समस्त आवश्यक काम इन दौरान निपटाने का प्रयास करें। गुड़ और चने का दान निर्धन को करें।

मिथुन- शनि की दृष्टि राशि पर है, लेकिन वक्री होने के कारण आपके ऊपर शनि का बुरा असर नहीं रहेगा। समय सामान्य रहेगा। किसी प्रकार की परेशानी आने की संभावना नहीं है। निर्धन को पुराने वस्त्र अन्नादि का दान करें।

कर्क- राशि के ऊपर शनि का कोई बुरा प्रभाव नहीं है। सब कुछ सामान्य रहेगा। आर्थिक ढांचा सुधरेगा और नई योजनाएं सफल होगी। व्यापार में वृद्धि होगी। विवादों में विजय प्राप्त होगी। गाय का हरा चारा खिलाएं एवं कुत्ते को रोटी दें।

सिंह- शनि के वक्री होने से काम में देरी के साथ व्यापारियों को अस्थिर आय की प्राप्ति होगी। सरकारी कामों में अनावश्यक देरी हो सकती है। परिवार के साथ सामंजस्य बनाकर रखें, विवादों से दूर रहें। पक्षियों के लिए दाने ड़ालें और किसी बुजुर्ग की मदद करें।

कन्या- शनि का ढय्या चल रहा है। अभी शनि वक्री है, इस कारण समय का लाभ उठाएं। सभी आवश्यक काम अभी निपटाने का प्रयास करें, लेकिन जोखिम से दूर रहें। नया काम शुरू करने से बचें। किसी को उधार न दें। निर्धन को चावल का दान करें।

तुला- शांति बनाएं रखें, धैर्य से काम लें और विवादों से दूर रहें। इस समय निवेश से बचें और नए काम शुरू न करें। शनि के वक्री रहते आपको सावधान रहना होगा। व्यापारियों को संभलकर रहने की सलाह है। निर्धन को खाने की वस्तुएं और फल का दान करें।

वृश्चिक- इस राशि के लिए शनि की स्थिति ठीक नहीं है। इस कारण ये लोग काफी समय से परेशान हैं। अभी सावधान रहने की आवश्यकता है। ऐसा कोई काम न करें, जिससे परेशानी बढ़ सकती हो। निर्धन को अन्न एवं पक्षियों के लिए जल की व्यवस्था करें।

धनु- शनि का गोचर साढ़ेसाती जारी रहेगी। सहयोग प्राप्त होगा और आय भी अच्छी बनी रहेगी। नए कार्यों की प्राप्ति होगी। वर्तमान में वक्री होने से लाभ की स्थिति बनेगी। किसी असहाय बुजुर्ग की मदद करें एवं अन्नदान करें।

मकर- शनि की साढ़ेसाती शुुरु हो गई है, शनि राशि स्वामी होने से यह प्रतिकूल नहीं होगा। समझदारी से मुश्किलों का हल निकलेगा। समय पर काम होंगे। फिर भी संभलकर रहें। विवादों से बचें। पशुओं के लिए जल, हरी घास और अन्न का दान करें।

कुंभ- वर्तमान में शनि की दृष्टि प्राप्त हो रही है। समय भी सभी प्रकार से अनुकूल है। व्यापार और नौकरी में तरक्की होगी। समस्याओं का निदान होगा। यात्राएं सुखद रहेंगी। विवादों में विजय प्राप्त होगी। निर्धन को मिठाई का दान करें।

मीन- शनि का प्रभाव राशि पर अनुकूल है। राशि प्रबल है। कार्य में सफलता मिलेगी और आय की कमी नहीं रहेगी। कारोबार उत्तम रहेगा। शादी के प्रस्ताव प्राप्त होंगे। कार्यक्षेत्र का विस्तार होगा। नए काम भी मिलेंगे। निर्धन को फल एवं रस का दान करें।

Related Stories