पाबंदी के बावजूद सब्जियों और फलों पर स्टिकर लगाकर बेच रहे दुकानदार

Mohali Bhaskar News - फूड सेफ्टी रूल्स की उल्लंघन करते हुए शहर में लोगों की सेहत के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। लेकिन हेल्थ विभाग के...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 07:31 AM IST
Mohali News - shopkeepers selling stickers on vegetables and fruits despite ban
फूड सेफ्टी रूल्स की उल्लंघन करते हुए शहर में लोगों की सेहत के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। लेकिन हेल्थ विभाग के अधिकारियों को इसकी कोई परवाह नहीं है। सरकार की ओर से फ्रूट्स और सब्जियों पर स्टिकर लगाने पर रोक लगाई गई है, लेकिन उसके बावजूद बाजारों में खुलेआम सब्जियों और फलों पर स्टिकर लगा कर बेचे जा रहे हैं। लेकिन अधिकारियों के पास इसको लेकर चैकिंग करवाने का भी समय नहीं है।

आलम यह है कि शहर के बाजारों और शहर की अपनी मंडियों पर जो भी फल और सब्जियां बेची जा रही है उनपर स्टिकर लगाए होते हैं। जो की सेहत के लिए काफी नुकसानदायक होते हैं। लेकिन इसपर ना तो अधिकारियों का ध्यान है और हैल्थ विभाग के फिल्ड स्टाफ का। जिसका खामियाजा शहर में लोगों को भुगतना पड़ रहा है।

सैक्टर-70 निवासी अंकुर सूरी की ओर से इसको लेकर पंजाब सरकार के ग्रेवियंसेस पोर्टल पर शिकायत की गई थी। शिकायतकर्ता अंकुर सूरी ने बताया कि उन्होंने े इसको लेकर 11 अगस्त को पंजाब सरकार के ग्रेवियंसेस पोर्टल पर शिकायत की थी। लेकिन शिकायत करने के तीन महीने गुजर जाने के बाद भी शहर में इस शिकायत का कोई असर देखने को नहीं मिला। ना तो हैल्थ विभाग के अधिकारियों की ओर से शहर में इसको लेकर कोई चैकिंग अभियान चलाया गया और ना ही शहर में ऐसे दुकानदारों तथा वेंडर्स के खिलाफ कोई कार्रवाई की गई जो कि फ्रूट्स और सब्जियों पर इस प्रकार से स्टिकर लगा कर बेच रहे हैं।

कोल्ड स्टोर से लगे आते हैं स्टिकर, कैमिकल स्प्रे भी होता है...

इस बारे में जब व्यापर मंडल मोहाली के अध्यक्ष विनीत वर्मा से बात की गई तो उन्होंने कहा कि फलों ओर सब्जियों पर इस प्रकार से स्टिकर दुकानदारों की ओर से नहीं लगाए जाते। बल्कि यह स्टिकर पीछे से कोल्ड स्टोरों से ही लगे हुए आते हैं। उन्होंने कहा कि कोल्ड स्टोरों के मालिक माफी मात्रा में फल और सब्जियां स्टोर करके रखते हैं और बाद में उन सब्जियों और फलों पर हाई क्वालिटी के स्टिकर लगा कर उन्हें मार्केट में सप्लाई किया जाता है। उन्होंने कहा कि हैल्थ विभाग को इसपर ध्यान देना चाहिए। उन्होंने कहा कि फलों को कैमिकल स्प्रे भी किया जाता है जिससे कि फल ऊपर से फ्रेश नजर आते हैं बल्कि अंदर से उन फलों की हालत काफी खराब होती है। उन्होंने कहा कि इस प्रकार से स्टिकर लगा कर मार्केट में फलों ओर सब्जियों को बेचना सिर्फ और सिर्फ लोगों को गुमराह करने तथा उनकी सेहत के साथ खिलवाड़ करने का काम है।

मोहित शंकर | मोहाली

फूड सेफ्टी रूल्स की उल्लंघन करते हुए शहर में लोगों की सेहत के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। लेकिन हेल्थ विभाग के अधिकारियों को इसकी कोई परवाह नहीं है। सरकार की ओर से फ्रूट्स और सब्जियों पर स्टिकर लगाने पर रोक लगाई गई है, लेकिन उसके बावजूद बाजारों में खुलेआम सब्जियों और फलों पर स्टिकर लगा कर बेचे जा रहे हैं। लेकिन अधिकारियों के पास इसको लेकर चैकिंग करवाने का भी समय नहीं है।

आलम यह है कि शहर के बाजारों और शहर की अपनी मंडियों पर जो भी फल और सब्जियां बेची जा रही है उनपर स्टिकर लगाए होते हैं। जो की सेहत के लिए काफी नुकसानदायक होते हैं। लेकिन इसपर ना तो अधिकारियों का ध्यान है और हैल्थ विभाग के फिल्ड स्टाफ का। जिसका खामियाजा शहर में लोगों को भुगतना पड़ रहा है।

सैक्टर-70 निवासी अंकुर सूरी की ओर से इसको लेकर पंजाब सरकार के ग्रेवियंसेस पोर्टल पर शिकायत की गई थी। शिकायतकर्ता अंकुर सूरी ने बताया कि उन्होंने े इसको लेकर 11 अगस्त को पंजाब सरकार के ग्रेवियंसेस पोर्टल पर शिकायत की थी। लेकिन शिकायत करने के तीन महीने गुजर जाने के बाद भी शहर में इस शिकायत का कोई असर देखने को नहीं मिला। ना तो हैल्थ विभाग के अधिकारियों की ओर से शहर में इसको लेकर कोई चैकिंग अभियान चलाया गया और ना ही शहर में ऐसे दुकानदारों तथा वेंडर्स के खिलाफ कोई कार्रवाई की गई जो कि फ्रूट्स और सब्जियों पर इस प्रकार से स्टिकर लगा कर बेच रहे हैं।


-डॉ. राजबीर सिंह कंग, डिस्ट्रिक्ट हेल्थ ऑफिसर मोहाली

X
Mohali News - shopkeepers selling stickers on vegetables and fruits despite ban
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना