होम डिलीवरी के नाम पर कई जगह खुली दुकानें, सब्जी मंडियों में लगी लोगों की भीड़, मेडिकल स्टोर भी दवाई बेचते दिखे

Mohali Bhaskar News - ये रेट वसूला लोगों से स्ट्रीट हॉकर्स ने... प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लॉकडाउन के ऐलान के दूसरे दिन प्रशासन...

Mar 27, 2020, 07:30 AM IST
Mohali News - shops opened in many places in the name of home delivery crowds of people engaged in vegetable markets medical stores were also seen selling medicines
}ये रेट वसूला लोगों
से स्ट्रीट हॉकर्स ने...


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लॉकडाउन के ऐलान के दूसरे दिन प्रशासन की ओर से होम डिलीवरी घरेलू सामान पहुंचाने और दुकानें बंद रखने का जो एलान किया था, वह वीरवार को पूरी तरह से लागू नहीं हुआ। शहर के सभी केमिस्ट शॉप्स खुली रही और शॉप्स पर लोगों की भीड़ लगी रही। यहां पर पुलिस कर्मी सोशल डिस्टेंस मेंटेन करवाते हुए दिखाई दिए।

कैमिस्ट मालिकों को निर्देश थे कि वे दुकानें खुली रखें, लेकिन दवाएं लोगों के घर जाकर सप्लाई करें। परंतु दुकानदार रिटेल में दवाएं देते हुए दिखाई दिए। इसी प्रकार डोर टू डोर ग्रॉसरी व अन्य सामान भेजने का फरमान था। शहर में तो पुलिस की सख्ती के चलते कोई दुकान नहीं खुली। दुकानदार दुकान के अंदर बैठकर ही लोगों के ब्हटसएप्प पर आए आर्डर डिलीवरी के लिए तैयार करते रहे। लेकिन जिस एरिया में पुलिस नहीं थी उन दुकानों पर लोगों की भीड़ दिखाई दी। इसमें शहर के ग्रामीण क्षेत्रों में दिखाई दिया। इसके साथ ही जहां भी सब्जी मंडी थी वहां पर भीड़ को बश में करने के लिए पुलिस को भारी मशक्कत करनी पडी। खरड़ में ठीक इसी प्रकार के हालात थे। कुराली में शीतला माता का मेला आज था। इसलिए वहां मंदिर तो बंद थे लेकिन लोग आते रहे। जिन्हें वहां से हटाने में पुलिस को भारी मशक्कत करनी पडी। डीसी गरीश दयालन ने बताया कि होम डिलीवरी का सिस्टम सफल रहा है। आने वाले दिनों में ओर बढिय़ा होगा। डेराबस्सी एरिया में दुकानों के बाहर सोशल डिस्टेंस को अपनाते हुए लोगों ने सामान खरीदा।

}सब्जी मंडी में भी लोग सब्जियां लूट कर ले गए, आलू-प्याज ही बचे

सब्जी मंडी में सुबह 4 बजे से ही लोगों का आना शुरु हो गया था। यहां होल सेल के साथ-साथ रिटेल में सब्जी बेची जा रही थी। दुकानदारों ने बताया कि सुबह 5 बजते ही दुकानों पर इतनी भीड़ हो गई कि लोग सब्जियां लूट कर ले जाने लगे। जिसको काबू करने के लिए पुलिस को बुलाना पडा। पुलिस ने भारी मशक्कत कर लोगों को भगाया। सुबह 9 बजे मंडी में कोई सब्जी नहीं थे। मात्र आलू व प्याज की बोरियां ही दिखाई दे रहे थे।

कैमिस्ट मालिकों को निर्देश थे कि वे दुकानें खुली रखें, लेकिन दवाएं लोगों के घर जाकर सप्लाई करें। परंतु दुकानदार रिटेल में दवाएं देते हुए दिखाई दिए। इसी प्रकार डोर टू डोर ग्रॉसरी व अन्य सामान भेजने का फरमान था। शहर में तो पुलिस की सख्ती के चलते कोई दुकान नहीं खुली। दुकानदार दुकान के अंदर बैठकर ही लोगों के ब्हटसएप्प पर आए आर्डर डिलीवरी के लिए तैयार करते रहे। लेकिन जिस एरिया में पुलिस नहीं थी उन दुकानों पर लोगों की भीड़ दिखाई दी। इसमें शहर के ग्रामीण क्षेत्रों में दिखाई दिया। इसके साथ ही जहां भी सब्जी मंडी थी वहां पर भीड़ को बश में करने के लिए पुलिस को भारी मशक्कत करनी पडी। खरड़ में ठीक इसी प्रकार के हालात थे। कुराली में शीतला माता का मेला आज था। इसलिए वहां मंदिर तो बंद थे लेकिन लोग आते रहे। जिन्हें वहां से हटाने में पुलिस को भारी मशक्कत करनी पडी। डीसी गरीश दयालन ने बताया कि होम डिलीवरी का सिस्टम सफल रहा है। आने वाले दिनों में ओर बढिय़ा होगा। डेराबस्सी एरिया में दुकानों के बाहर सोशल डिस्टेंस को अपनाते हुए लोगों ने सामान खरीदा।

मोहाली गांव में दुकानें खुली, लोगों की भीड़ मिली: शहर के सबसे अहम मोहाली गांव में दुकानें खुली दिखाई दी। यहां पर होम डिलीवरी की जगह दुकानें खोलकर सामान बेचा जा रहा थ्ा। जिस कारण सुबह से ही भारी संख्या में लोग लाइनें बनाकर खड़े हुए थे। सोशल डिस्टेंस का कोई भी पालन नहीं कर रहा था। यहां तक दुकानदार व उनके कारिंदों ने मास्क तक नहीं लगाए हुए थे। बच्चों से लेकर बूड़े व जवान व महिलाएं सब कतारों में लगे दिखाई दे रहे थे। इसी प्रकार कुंभडा, शाहीमाजरा, सोहाना आदि में भी ऐसे ही हालात दिखे।

समाज के दुश्मन बेवजह निकल रहे बाहर, पुलिस ने सिखाया सबक, सख्ती से कहा-घर पर ही रहो

फोटो: मोहित शंकर**

मटर100 रुपए किलो

प्याज100 रुपए के डेढ़ किलो

आलू100 रुपए के ढाई किलो

गोभी70 रुपए किलो

टमाटर80 से 100 रुपए किलो

बैगन60 रुपए किलो

कदू60 रुपए किलो

कोरोना वायरस की संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए लगाए गए 21 दिनों के कर्फ्यू के दूसरे दिन ही प्रशासन की तरफ से घरों में बंद लोगों तक रोजमर्रा का सामन मुहैया करवाना तो शुरू कर दिया है लेकिन इसमें एक बात निकलकर सामने आई है कि जो सब्जियां लोगों तक बैंड्स पहुंचा रहे हैं। वह उनके लिए मनमर्जी के दाम वसूला रहे हैं। जोकि लोगों के लिए चिंता का विषय बना हुआ है। जो टमाटर आम तौर से 25 से 30 रुपए प्रतिकिलो मिल जाता था वही टमाटर वीरवार को लोगों को 80 से 100 रुपए प्रति किलो के हिसाब से मिला।

}मंडी में सस्ती तो गलियों में महंगी बिकी सब्जियां...


}कैमिस्ट शॉप खुली, होम डिलीवरी की जगह रिटेल पर जोर...प्रशासन की तरफ से कैमिस्ट को भी होम डिलीवरी मेडिसन सप्लाई के निर्देश दिए थे। जो कफ्र्यू की ढील के अनुसार सुबह 8 बजे से 11 बजे तक होम डिलीवरी के निर्देश थे लेकिन कैमिस्ट शॉप आर्नर उसी हिसाब से आए जिस प्रकार से सुबह साढ़े 9 बजे दुकानें खुलती है। दुकानें खोलने के बाद उन्होंने डोर टू डोर मेडिसन देने की बजाए शॉप पर आने वाले लोगों को रिटेल में सामान बेचा। इन दुकानों के बाहर लंबी कतारें दिखाई दी लेकिन लोग सोशल डिस्टेंस अपनाकर लाइन में लगे हुए थे। भले ही कैमिस्ट ऑनर्स न्हे प्रशासन के नियमों का पालन नहीं किया लेकिन लोगों ने प्रधानमंत्री द्वारा बताए गए सोशल डिस्टेंस के नियम को कैमिस्ट शॉप पर अपनाए रखा।


}शहरी क्षेत्र की सभी मार्केट्स में दुकानें बंद कर दुकानदारों ने सामान डिलीवर किया

शहर की मेन मार्केट्स में पुलिस का सख्त पहरा था। हर चौराहे तथा मार्केट एरिया में पुलिस के जवान तैनात थे जो किसी को भी दुकान नहीं खोलने दे रहे थे। उन्होंने सभी ग्रॉसरी शॉप्स के आनर को अपनी दुकानों के शटर बंद कर अंदर बैठकर डिलीवरी आनर्स तैयार करने को कहा। जो वो 11 बजे तक कफ्र्यू की ढील के अनुसार डोर टू डोर सप्लाई करते रहे। किसी मार्केट में कोई भी ग्रॉसरी शॉप नहीं खुली थी। इसके अतिरिक्त सभी दुकानें बंद थी।

}बिना वजह वाहनों में घूमने वालों को पुलिस ने घर पहुंचाया...

सुबह-सुबह जहां लोगों
को सब्जियां लूटने व दवाएं लेने की होड़ थी लेकिन कुछ ऐसे वाहन चालक भी दिखे जिनका बाहर कोई काम नहीं था लेकिन फिर भी वह सड़कों पर घूमने के लिए निकले। इसको लेकर शहर की सड़कों व चौराहों पर खड़े पुलिस मुलाजिमों ने ऐसे लोगों को पहले चैक कर फटकार लगाई और उसके बाद उनको वहीं से वापिस घर भेजा।

}फेज-9 में केमिस्ट शॉप के बाहर घेरे लगाकर लोगों को दूर-दूर रहने के लिए कहा गया।

| }फेज-4: पुलिस की सख्ती देख निकल पड़े आंसू**

| }फेज-9 ये तरीका बिल्कुल सही...**

| }फेज-1 का माेहाली गांव, यहां दूरी ही नहीं है...**

| }फेज-4: लगा उठक-बैठक...**

Mohali News - shops opened in many places in the name of home delivery crowds of people engaged in vegetable markets medical stores were also seen selling medicines
Mohali News - shops opened in many places in the name of home delivery crowds of people engaged in vegetable markets medical stores were also seen selling medicines
Mohali News - shops opened in many places in the name of home delivery crowds of people engaged in vegetable markets medical stores were also seen selling medicines
Mohali News - shops opened in many places in the name of home delivery crowds of people engaged in vegetable markets medical stores were also seen selling medicines
X
Mohali News - shops opened in many places in the name of home delivery crowds of people engaged in vegetable markets medical stores were also seen selling medicines
Mohali News - shops opened in many places in the name of home delivery crowds of people engaged in vegetable markets medical stores were also seen selling medicines
Mohali News - shops opened in many places in the name of home delivery crowds of people engaged in vegetable markets medical stores were also seen selling medicines
Mohali News - shops opened in many places in the name of home delivery crowds of people engaged in vegetable markets medical stores were also seen selling medicines
Mohali News - shops opened in many places in the name of home delivery crowds of people engaged in vegetable markets medical stores were also seen selling medicines

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना