ऑनलाइन फीडबैक में अब तक पंचकूला प्रदेश में चौथे नंबर पर, रोहतक सबसे आगे

Panchkula Bhaskar News - शहर में स्वच्छता सर्वेक्षण चल रहा है। केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय की टीम शहर में घूमकर निरीक्षण कर रही हैं।...

Jan 16, 2020, 07:35 AM IST
Panchkula News - so far in panchkula state rohtak leads in online feedback
शहर में स्वच्छता सर्वेक्षण चल रहा है। केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय की टीम शहर में घूमकर निरीक्षण कर रही हैं। रैंकिंग सुधारने के लिए पंचकूला नगर निगम अपने स्तर पर पूरा प्रयास कर रहा है। स्वच्छता रैंकिंग सुधारने के लिए शहरवासियों से भी सहयोग के लिए अपील की जा रही है। इसके लिए एमसी की तरफ से गठित टीमें डोर टू डोर और मार्केटों में घूमकर लोगों को अवेयर कर रही हैं।

अभी तक आई रिपोर्ट के अनुसार सिटीजंस फीडबैक में पंचकूला पूरे हरियाणा में चौथे नंबर पर है। अभी तक 3429 लोगों ने फीडबैक दी है। रोहतक में सबसे ज्यादा 9614 लोगों ने ऑनलाइन फीडबैक दिया है। इसके बाद 4370 फीडबैक संख्या के साथ सोनीपत दूसरे और 4299 फीडबैक संख्या के साथ हिसार तीसरे स्थान पर है। पंचकूला की रैंकिंग सुधारने के लिए अभी शहरवासियों के पास टाइम है।

ऑनलाइन फीडबैक 31 जनवरी तक जारी रहेगी। लोग अपने मोबाइल पर स्वच्छता सर्वेक्षण-2020 वोट फॉर माई सिटी एप डाउनलोड कर सकते है। इस एप के माध्यम से अपनी सिटी का ऑप्शन चुनकर बताया जा सकता है कि आपकी सिटी में स्वच्छता की व्यवस्थाएं कैसी हैं। इसके अलावा स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 पोर्टल, 1969 पर कॉल करने और स्वच्छता एप से भी फीडबैक दे सकते हैं। इसमें सिटीजंस से आठ सवालों के जवाबों के माध्यम से फीडबैक लिया जाएगा।

वहीं स्वच्छता सर्वेक्षण टीमें भी पिछले दो दिन से पंचकूला में हैं। यह टीमें शहर में घूमकर सफाई के इंतजाम देख रहे हैं। पार्कों में सफाई चैक की जा रही है। मार्केटों में टॉयलेट्स देखे जा रहे हैं। गीला कचरा व सूखा कचरा अलग अलग एकत्र करने के लिए हुए प्रयास देखे जा रहे हैं। स्वच्छता को बढ़ावा देने के लिए इनोवेटिव आइडिया पर हुए काम को भी देखा जा रहा है। कालोनियों में स्वच्छता के इंतजाम देखे जा रहे हैं।

स्वच्छता सर्वेक्षण-2020 में पंचकूला को टॉप 20 रैंक में लाने के लिए पंचकूला नगर निगम प्रयासरत है। रात को मार्केटों में नाइट स्वीपिंग की जा रही है। लोगों को गीले कचरे की घरों में ही खाद बनाने के लिए अवेयर किया जा रहा है। स्कूल स्टूडेंट्स की मदद से सूखा कचरा एकत्र कर इसे सीधा री-साइक्लिंग करने वालों के पास पहुंचाने के प्रयास हो रहे हैं। कोशिश है कि डम्पिंग ग्राउंड तक कम से कम कचरा पहुंचे।

भारत में 2016 से स्वच्छ सर्वेक्षण की शुरूआत की गई थी। पहले साल समय पर एप्लाई न कर पाने के कारण पंचकूला स्वच्छ रैंकिंग की दौड़ से बाहर हो गया था। साल 2017 स्वच्छ सर्वेक्षण में 434 शहरों में से पंचकूला 211वें स्थान पर रहा। बीते दो साल में पंचकूला में स्वच्छता को बढ़ावा देने में उल्लेखनीय काम हुआ है। साल 2018 में 4302 शहरों में से पंचकूला 142वें स्थान पर पहुंच गया। नगर निगम पंचकूला ने वर्ष 2019 में शानदार उछाल मारते हुए 4267 शहरों में से 71वां रैंक स्थान हासिल किया।

पंचकूला की सड़काें पर सफाई करते कर्मचारी और सड़क किनारे इकट्‌ठे किए गए कूड़े को डस्टबीन में डालता कर्मचारी।

पंचकूला ने अपनी रैंक में सबसे अधिक सुधार किया

साल 2018 में चंडीगढ़ को भारत में तीसरा सबसे स्वच्छ शहर का दर्जा मिला था, जोकि 2019 में 20वें स्थान पर आ गया। इसी तरह मोहाली 2018 में 109 पर था, जोकि 2019 में 153 पर आ गया। लेकिन पंचकूला ने अपनी रैंक में सबसे अधिक सुधार किया है। स्मार्ट सिटी की लिस्ट में न आने के बाद पिछले डेढ़ साल में पंचकूला में बहुत से ऐसे काम हुए है, जो स्मार्ट सिटी दौड़ में शहर को अच्छा रैंक दिला सकते है। सफाई, गीला और सूखा कूड़ा अलग करने, गीले कूड़े से खाद बनाने, आईईसी के तहत लोगों को जागरुक करना, नुक्कड़ नाटक जैसे प्रयास किए जा रहे हैं। स्कूलों के साथ मिलकर भी कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। पंचकूला में पहले चरण में 48 सीसीटीवी कैमरे लगे थे जबकि दूसरे चरण में शहर की प्रमुख एंट्रेंस, राउंड अबाउट्स और जंक्शन पर 397 सीसीटीवी लगाने का काम पूरा हो चुका है।

Panchkula News - so far in panchkula state rohtak leads in online feedback
X
Panchkula News - so far in panchkula state rohtak leads in online feedback
Panchkula News - so far in panchkula state rohtak leads in online feedback
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना