सोशल डिस्टेसिंग ही अहम... सड़क पर दिखा सन्नाटा

Kodarma News - काेरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम को लेकर जारी संपूर्ण लॉकडाउन के दूसरे दिन गुरुवार को पूरे जिले में सन्नाटा...

Mar 27, 2020, 07:21 AM IST

काेरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम को लेकर जारी संपूर्ण लॉकडाउन के दूसरे दिन गुरुवार को पूरे जिले में सन्नाटा पसरा रहा। सड़कों पर मालवाहक वाहनों को छोड़ कर अन्य वाहनों का परिचालन नहीं हुआ। बंद को लेकर जगह जगह पर प्रशासन की ओर से पुलिस के जवान तैनात दिखे। वहीं बंद के दौरान आवश्यक वस्तुओं में दी गई छूट के कारण सुबह व शाम के समय सड़कों पर लोगों की भीड़ लगी रही। प्रशासन की ओर से आवश्यक वस्तुओं की खरीदारी करने वाले लोगांे से सोशल डिस्टेसिंग का पालन कराया जा रहा है। लॉकडाउन के कारण शहर की प्रमुख चौक चौराहे सहित राष्ट्रीय उच्च पथ पर वीरानगी है। मालवाहन वाहन भी काफी कम संख्या में चल रहे है। गुरूवार को शहर के अधिकांश दुकानें बंद रहे। वहीं जो अावश्यक वस्तुओं की दुकानें खुली है उनके लिए भी समय सीमा का निर्धारण कर दिया गया है।

सरकार के प्रधान सचिव डाॅ. नितिन कुलकर्णी ने उपायुक्त व सिविल सर्जन को पत्र लिखकर जिला में उपलब्ध चिकित्सकों की सेवा प्राप्त करने के लिए दो दिनों के भीतर जिलावार उपलब्ध चिकित्सकों का ब्योरा विभाग को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है। पत्र में कहा गया है कि कोरोना वायरस के प्रसार को देखते हुए सरकारी चिकित्सा व्यवस्था के सुदृढ़ीकरण के लिए अन्य चिकित्सकों की आवश्यकता पड़ सकती है। जिला में सेवानिवृत चिकित्सक व अन्य विभागों के चिकित्सक उपलब्ध है। साथ ही साथ कई निजी चिकित्सक भी जिला में उपलब्ध है। इन सभी की सेवाएं आवश्यकतानुसार प्राप्त की जा सकती है।

प्रधान सचिव ने डीसी व सीएस को तत्काल आईएमए के साथ संपर्क स्थापित कर ऐसे सभी चिकित्सकों की सूचि तैयार करने व आवश्यकता पड़ने पर सरकारी व्यवस्था में उनसे सहयोग के बिंदुओं पर सहमति प्राप्त करने का निर्देश दिया है। नगर पर्षद की ओर से एक टीम का गठन किया जा रहा है। जिसमें विभिन्न राज्यों से आने वाले लोगों को चिन्हित करने का काम करेगी। यह टीम वार्डों में जाकर हाल के दिनो में विदेश व अन्य राज्यों से आए लोगों को चिन्हित करने का काम करेगी और इनलोगों का कोरोना वायरस से संबंधित जांच स्वास्थ्य विभाग में ले जाकर कराया जाएगा।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना