--Advertisement--

घरवालों से छिपकर मां की सिलाई से रात में कर रहा था कुछ काम, एक दिन पिता ने बच्चे को ऐसा करते देख लिया

बच्चे से सच जानकर पिता के निकल आए आंसू, लेकिन असल कहानी अभी बाकी थी

Dainik Bhaskar

Oct 13, 2018, 10:47 AM IST
Son Keeps Sneaking Off To Use Mom’s Sewing Machine, But Dad Is Stunned By His Secret Creation

(ये कहानी 'सोशल वायरल सीरीज' के तहत है। दुनियाभर में सोशल मीडिया पर ऐसी स्टोरीज वायरल हुईं हैं, जिसे आपको जानना चाहिए।)

होबार्ट. ऑस्ट्रेलिया के तस्मानिया स्टेट में रहने वाला एक लड़का अपनी उम्र के बाकी लड़कों से बेहद अलग है। ये टीनेजर पिछले कई सालों से बीमार बच्चों के लिए अपने हाथों से खिलौने सिलता है। ये सिलसिला कुछ साल पहले तब शुरू हुआ था जब वो अपने शहर के लोकल हॉस्पिटल में भर्ती बच्चों को क्रिसमस गिफ्ट देना चाहता था। हालांकि परिवार की माली हालत अच्छी नहीं होने की वजह से उसके पेरेंट्स ने उसे ऐसा नहीं करने दिया। लेकिन इसके बाद भी उसका हौंसला कम नहीं हुआ और उसने अपने तरीके से बीमार बच्चों की जिंदगी में खुशियां भरना शुरू कर दिया। लेकिन जब ये बात उसके पिता को पता चली तो उनका दिल पिघल गया।

मां-बाप ने किया इनकार तो बेटे ने खोज लिया अपना तरीका

- ये स्टोरी ऑस्ट्रेलियाई शहर होबार्ट में रहने वाले 13 साल के बच्चे कैम्पबेल रेमेस की है। जो अपनी खास काम की वजह से दुनियाभर में फेमस हो चुका है।
- चार साल पहले जब कैम्पबेल 9 साल का था, तब एक दिन उसने अपने पेरेंट्स से पूछा कि क्या वो लोकल हॉस्पिटल में भर्ती बच्चों के लिए क्रिसमस गिफ्ट खरीद सकता है।
- कैम्पबेल के घर में उसके अलावा 7 और बच्चे थे, जिसके बाद घर की आर्थिक स्थिति को देखते हुए उसकी मां सोन्या और पिता नाथन ने उसकी बात मानने से इनकार कर दिया।
- भले ही पेरेंट्स ने उसे मना कर दिया लेकिन इसके बाद भी बच्चे का हौसला कम नहीं हुआ और उसने अपनी ख्वाहिश पूरी करने के लिए एक जबरदस्त आइडिया खोज निकाला। अपनी मां की सिलाई मशीन की मदद से वो बच्चों के लिए खुद अपने हाथों से सॉफ्ट टॉयज सिलने लगा। यहां तक कि इससे पहले उसे इस बात का कोई एक्सपीरियंस भी नहीं था।

5 घंटे में बना था पहला टॉय

- अपना पहला सॉफ्ट टॉय बनाने में टीनेजर को करीब 5 घंटे लगे थे। इस काम में उसने इंटरनेट की मदद भी ली। इसके बाद वो हर दिन एक बीमार बच्चे के लिए एक टॉय बनाने लगा। वो हर हफ्ते हॉस्पिटल जाता और बीमार बच्चों के बीच खुशियां सर्व करता।
- ये काम वो अपने घरवालों से छुपकर रात के वक्त कर रहा था। हालांकि एक रात को उसके पिता की नींद खुल गई और उन्होंने उसे ये काम करते हुए देख लिया। इसके बाद बच्चे की फीलिंग्स जान उनकी आंख से आंसू निकल आए।

पिता के लिए भी बनाना पड़ा टॉय

- साल 2011 में इस परिवार के सामने उस वक्त मुसीबत आ गई, जब कैम्पबेल के पिता नाथन को कैंसर होने का पता चला। ट्रीटमेंट के दौरान उसके पेट से टेनिस बॉल जितना बड़ा कैंसर ट्यूमर बाहर निकाला गया। डॉक्टर्स ने उससे कहा कि उसके शरीर में कैंसर लौटने के 80% चांसेस हैं।
- कैम्पबेल को पता था कि जब वो अपने हाथ का बना कोई खिलौना बीमार बच्चों को देता है तो उसका क्या असर होता है। ऐसे में उसने खासतौर पर अपने पिता के लिए भी एक टेडीबियर बनाया। टीनेजर का कहना था, 'मुझे पता था कि तनाव में कैंसर की बीमारी और भी ज्यादा खराब हो जाती है। इसलिए उनके लिए भी मैंने एक टैडी बियर बना दिया, ताकि उन्हें कैंसर से छुटकारा मिल सके।'
- शायद कैम्पबेल का फॉर्मूला काम भी कर गया, क्योंकि उसके मिले गिफ्ट के बाद नाथन की हालत में तेजी से सुधार हुआ और वो जल्द ही कैंसर से पूरी तरह ठीक हो गए।
- कैम्पबेल ने अपना पहला टैडी 9 साल की उम्र में बनाया था, इसके बाद अगले तीन साल में वो 1000 बच्चों को सॉफ्ट टॉय बांट चुका था, इसके साथ ही उसने बच्चों के लिए मदद जुटाना भी शुरू कर दिया था।

Son Keeps Sneaking Off To Use Mom’s Sewing Machine, But Dad Is Stunned By His Secret Creation
Son Keeps Sneaking Off To Use Mom’s Sewing Machine, But Dad Is Stunned By His Secret Creation
X
Son Keeps Sneaking Off To Use Mom’s Sewing Machine, But Dad Is Stunned By His Secret Creation
Son Keeps Sneaking Off To Use Mom’s Sewing Machine, But Dad Is Stunned By His Secret Creation
Son Keeps Sneaking Off To Use Mom’s Sewing Machine, But Dad Is Stunned By His Secret Creation
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..