--Advertisement--

बैडमिंटन: सौरभ वर्मा ने रूस ओपन में पुरुष सिंगल्स का खिताब जीता, ऐसा करने वाले पहले भारतीय बने

Dainik Bhaskar

Jul 29, 2018, 01:05 PM IST

फाइनल जीतने पर सौरभ को 51.5 लाख रुपए ईनाम के तौर पर मिले

शनिवार को हुए सेमीफाइनल में सौ शनिवार को हुए सेमीफाइनल में सौ
  • हैदराबाद के सौरभ के कोच पुलेला गोपीचंद हैं
  • सौरभ वर्ल्ड रैंकिंग में 65वें स्थान पर

व्लादिवोस्तोक (रूस). सौरभ वर्मा ने रविवार को रूस ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट में पुरुष सिंगल्स इवेंट का फाइनल जीत लिया। वे ऐसा करने वाले पहले भारतीय पुरुष शटलर हैं। ये उनका इस सीजन में पहला खिताब है। इससे पहले महिलाओं में रुत्विका शिवानी ने 2016 में खिताब अपने नाम किया था। स्पोर्ट्स हॉल ओलिंपिक में खेले गए खिताबी मुकाबले में उन्होंने जापान के कोकी वतानबे को 19-21, 21-12, 21-17 से हराया। इस जीत के बाद dainikbhaskar.com ने सौरभ के पिता सुधीर वर्मा से बेटे की इस उपलब्धि पर बातचीत की।

पिता ने कहा- चोट के बाद भी प्रैक्टिस नहीं छोड़ी : सौरभ के पिता सुधीर वर्मा बेटे की इस उपलब्धि पर खुश हैं। उन्होंने कहा कि उनका सपना है कि बेटा देश के लिए ओलंपिक पदक जीते। उन्होंने सौरभ कि तैयारियों को लेकर बताया कि वह बचपन से काफी मेहनती रहा है। बैडमिंटन की ओर रुझान देख हमने उसके कदम उसी ओर बढ़ाने में उसकी मदद की। मार्च में सौरभ के एंकल में इंजरी हो गई थी, जिससे वह थोड़ा परेशान हो गया था। इस पर मैंने उससे कहा था कि बेटा यह सब तो चलता ही रहता है। इतना मत सोचो। चोट के बाद भी वह घंटों प्रैक्टिस करता था।

सौरभ एशियन गेम्स टीम में भी शामिल: सौरभ ऑल इंडिया सीनियर रैंकिंग टूर्नामेंट जीत चुके हैं। इस टूर्नामेंट को जीतने के बाद ही उनका चयन एशियन गेम्स के लिए हुआ। उन्होंने चीनी ताइपे प्री गोल्ड टूर्नामेंट भी अपने नाम किया था। सौरभ 2016 में बिटबर्गर ओपन के उपविजेता भी हैं।

रोहन-कुहू की जोड़ी हारी : मिक्स्ड डबल्स के फाइनल में भारतीय जोड़ी रोहन कपूर और कुहू गर्ग को हार का सामना करना पड़ा। उन्हें रूस के व्लादिमीर इवानोव और कोरिया की मिन युंग किम की जोड़ी ने 21-19, 21-17 से हरा दिया।

X
शनिवार को हुए सेमीफाइनल में सौशनिवार को हुए सेमीफाइनल में सौ
Astrology

Recommended

Click to listen..