--Advertisement--

राज्य पेट्रोल में 3.20, डीजल में 2.30 रुपए कम करें तो भी उन्हें घाटा नहीं: एसबीआई की रिपोर्ट

रुपए में गिरावट, क्रूड के रेट बढ़ने से राज्यों को फायदा

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2018, 09:42 AM IST
State have option to cut Rs 3 on petrol without loss says SBI report

- अप्रैल से अब तक पेट्रोल 10% और डीजल 13% महंगा

- पेट्रोल-डीजल के रेट में 40-50% टैक्स शामिल

नई दिल्ली. पेट्रोल-डीजल के दाम रोजाना बढ़ने से जनता परेशान है। लेकिन, राज्य सरकारों का मुनाफा बढ़ रहा है। एसबीआई की रिसर्च के मुताबिक कीमतें बढ़ने से 19 प्रमुख राज्यों को 2018-19 में 22,702 करोड़ रुपए की अतिरिक्त कमाई होगी। यह आकलन साल में कच्चे तेल की औसत कीमत 75 डॉलर बैरल और डॉलर का मूल्य 72 रुपए मान कर किया गया।एसबीआई की रिपोर्ट में कहा गया कि राज्य पेट्रोल के दाम औसत 3.20 रुपए और डीजल के 2.30 रुपए घटा दें, तब भी रेवेन्यू उनके बजट अनुमान के बराबर रहेगा। राज्य पेट्रोल-डीजल की कीमत और डीलर कमीशन पर वैट वसूलते हैं। जिन 19 राज्यों पर रिसर्च है, वहां पेट्रोल पर वैट 24% से 39% तक और डीजल पर 17% से 28% तक है। कीमत बढ़ने के साथ वैट के रूप में वसूली बढ़ने से राज्यों की कमाई भी बढ़ जाती है। 2017-18 में वैट से राज्यों को 1.84 लाख करोड़ रुपए मिले।

केंद्र की एक्साइज ड्यूटी फिक्स होती है। अभी पेट्रोल पर यह 19.48 रुपए और डीजल पर 15.33 रुपए प्रति लीटर है। पश्चिम बंगाल ने मंगलवार को राज्य में पेट्रोल-डीजल की कीमत एक रुपए घटा दी। आंध्रप्रदेश ने सोमवार को 2 रुपए घटाए थे। राजस्थान ने रविवार को वैट 4% कम कर दिया था।

दिल्ली में अभी इस तरह तय होती है पेट्रोल की कीमत

रिफाइनिंग के बाद डीलर को बेचे गए पेट्रोल की कीमत

40.45 रुपए

डीलर कमीशन 3.64 रुपए
एक्साइज ड्यूटी 19.48 रुपए
दिल्ली में 27% वैट

17.16 रुपए

कुल टैक्स (एक्साइज+वैट) 36.64 रुपए
पेट्रोल का फाइनल रेट 80.73 रुपए

जीएसटी और वैट लगने पर दिल्ली में पेट्रोल 9 रुपए सस्ता हो सकता है

रिफाइनिंग के बाद डीलर को बेचे गए पेट्रोल की कीमत 40.45 रुपए
डीलर कमीशन 3.64 रुपए
अधिकतम 28% जीएसटी

12.34 रुपए

दिल्ली में 27% वैट 15.23 रुपए
कुल टैक्स (जीएसटी+वैट) 27.57 रुपए
जीएसटी लगने से इस रेट पर मिलेगा पेट्रोल 71.66 रुपए

*गणना 10 सितंबर के रेट के मुताबिक

X
State have option to cut Rs 3 on petrol without loss says SBI report
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..