पुलिस पर पथराव, 8 घायल

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

लॉकडाउन के दौरान गीदड़गंज गांव के बड़ी मस्जिद में 100 से अधिक जमाती रुकने की खबर मिलने पर मंगलवार की शाम जांच करने पहुंची पुलिस पर स्थानीय लोगों ने जमकर पत्थरबाजी और फायरिंग की। स्थानीय लाेगाें ने पुलिस को करीब एक किमी मदरसा हनफीया तक खदेड़ दिया। बचाव में पुलिस ने भी लोगों पर बल का प्रयोग किया है। ग्रामीणों ने पुलिस वाहन को बगल के तालाब में उल्टा दिया। इस घटना में आधे दर्जन पुलिस और दो ग्रामीणों की जख्मी होने की सूचना मिली है। पुलिस के साथ हुए पथराव में मस्जिद में ठहरे जमाती भागने में कामयाब रहे। उल्लेखनीय है कि कोराेना वायरस को लेकर 22 मार्च से जिले में लॉकडाउन है। ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करना और पुलिस द्वारा कार्रवाई करने पर उनपर हमला करना कहां तक उचित है। ऐसे हालात में एक जगह जमा होना अक्ल पर पत्थर पड़ने जैसा ही है।

सभी एक साथ कर रहे थे नमाज अदा

दिल्ली स्थित निजामुद्दीन मगरिव की तरह ही गीदड़गंज में नमाजी नमाज अदा कर रहे थे। मंगलवार को शाम पांच बजे अंधराठाढ़ी थाना पुलिस दल बल के साथ पहुंची। पुलिस के पहुंचते ही स्थानीय लोगों ने पुलिस पर पथराव करते हुए गोली चला दी।

सीओ व बीडीओ को मिली थी सूचना : एसपी

किसी अज्ञात ने फोन करके अंधराठाढ़ी सीओ और बीडीओ को गीदड़गंज गांव के बड़ी मस्जिद में में एक साथ नमाज पढ़ने की और बाहर से आए जमातियों की इक्ठ्‌ठा होने की सूचना दी थी। इसके बाद दोनो अधिकारियों के साथ पुलिस बल मौके पर गई और लोगों को लॉकडाउन के नियम का उल्लंघन नहीं करने की अपील की। इतने में लोगों ने पुलिस पर पथराव कर दिया है। हालांकि, गोली चलने की अभी तक कोई सूचना नहीं है। पुलिस इन लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कर रही है। ये सभी फरारा हैं। सभी को गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा। किसी को भी लॉकडाउन के नियम का उल्लंघन नहीं करने दिया जाएगा। -डॉ. सत्यप्रकाश, एसपी।

गांव के दो गुटों में से एक गुट के लोगांे ने दी सूचना


पुलिस से जानकारी के अनुसार गीदड़गंज गांव में दो लोगों के गुट हैं। पहला गुट वसीम का है। उसी गुट के लोगों ने सीओ और बीडीओ को फोन करके एकसाथ नमाज और जमातियों के बारे में सूचना दी थी। इसके बाद जब बीडीओ, सीओ और पुलिस पदाधिकारी पहुंचे। और इसके बाद कमरुजुम्मा गुट ने उन पर हमला कर दिया। इस घटना में सीओ के भी घायल होने की सूचना आ रही है।

घटना के बाद जमाती समेत मोहल्ले के लोग फरार हैं

उल्लेखनीय है कि गीदड़गंज गांव में एक ही समुदाय अल्पसंख्यक लोग है। घटना वर्तमान मुखिया अोजेरा खातून के घर के बगल में हुई हैं। पुलिस पर गोली चलाने वाली उसी मोहल्ले के मो. मुसवा एवं अन्य बताए जाते हैं। घटना के बाद अंधराठाढ़ी थाना पुलिस किसी तरह जान बचाते हुए वहां से निकली। कुछ देर बाद झंझारपुर डीएसपी अमित शरण, रुद्रपुर थाना, अररिया थाना पुलिस दुबारा मौका ए वारदात पहुंची गांवों में जमाती समेत मोहल्ले के लोग नदारद हैं।

बड़ी मस्जिद के पास हुई झड़प के बाद पहुंची पुलिस। झड़प में दोनों तरफ से लोग घायल हुए हैं। स्थानीय लोगों ने पुलिस की जीप तालाब में पलट दिया। पुलिस यहां लगातार कैंप कर रही है।

गीदड़गंज की बड़ी मस्जिद में जमात के लिए जमा हुए थे 100 लोग, जांच के लिए गई पुलिस से स्थानीय लोगों ने की झड़प

कोरोना वायरस का नाश करो मां

मां के दर्शन भास्कर में

घर से ही दर्शन

मंदिर बंद है

ग्रामीण कहते हैं कि यहां मन्नते पूरी होने पर बड़ी संख्या में दूर दराज से श्रद्धालु आते हैं। इस बार श्रद्धालु काेराेना वायरस से बचाव काे लेकर ही मां को गुहरा रहे हैं। मां की अाराधाना पूजा समिति के द्वारा की जा रही है।

फुलपरास | पर्व-त्याेहार पर इस बार काेराेना का साया है। जिले में लॉकडाउन है। मंदिराें में प्रवेश वर्जित हैं, इसलिए दैनिक भास्कर अापकाें घराें में रहते हुए मां दुर्गा के स्वरूपों का दर्शन कराएगा। आज आप दर्शन कर रहे हैं प्रखंड के रामनगर पंचायत स्थित पोखड़ा बस्ती गांव में स्थापित मां दुर्गा की। यहां 25 वर्षों से चैती दुर्गा पूजा पूरे विधि-विधान से होती आ रही है।

खबरें और भी हैं...