घग्गर पार सेक्टरों में जाने वाली सड़क पर स्ट्रीट लाइट्स खराब

Panchkula Bhaskar News - पंचकूला एक्सटेंशन सेक्टरों में रहने वाले लोगों को इन दिनों पंचकूला-यमुनानगर हाईवे से कनेक्ट होने वाली सड़क पर...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 07:35 AM IST
Panchkula News - street lights on the road leading to ghaggar cross sectors
पंचकूला एक्सटेंशन सेक्टरों में रहने वाले लोगों को इन दिनों पंचकूला-यमुनानगर हाईवे से कनेक्ट होने वाली सड़क पर अंधेरा होने के कारण परेशान होना पड़ रहा है। हाईवे पर भी रात को लाइटें बंद होने से एक्सीडेंट के चांस ज्यादा है। इसके अलावा हाईवे से कनेक्ट होने वाली घग्गर पार सेक्टरों की सड़क पर भी रात को लाइटें बंद रहती है। ऐसे में जहां एक अोर एक्सीडेंट के चांस ज्यादा है, वहीं रात को क्राइम रेट बढ़ने के भी ज्यादा चांस हो रहे है। हाल ही में हाईवे से सटे पेट्रोल पंपों पर भी लूट के मामले सामने आ चुके है। ऐसे में हाईवे से लेकर सेक्टरों में रात को अंधेरा होने से भी लोग सेफ्टी ना होने की बात कह रहे है। आरडब्ल्यूए सेक्टर 26 प्रधान डीएस हीरा की ओर से पहले भी इस मामले की कंप्लेंट दी गई थी। जिस पर एक्शन तो हुअा, लेकिन अब दोबारा से इंटर्नल सड़क से लेकर पार्कों तक में अंधेरा होने से लोग प्रशासनिक अधिकारियों पर सवाल खड़े कर रहे है।

पंचकूला-यमुनानगर हाईवे पर माजरी चौक से लेकर रामगढ़ तक काफी ज्यादा आबादी वाले सेक्टर है। अभी यहां पर हाईवे का काम अंडर कंस्ट्रक्शन है और इस कारण भी हाईवे पर रात को अंधेरा रहता है। हाईवे पर अंधेरा होने से उसके साथ सटे सेक्टरों के अलावा जितने भी रिहायशी एरिया है उनमें रहने वाले लोगों को भी अाने जाने में परेशान होना पड़ रहा है। हाईवे पर रात को काफी स्पीड में व्हीकल ल चलते है और अंधेरा होने से सडक हादसे भी हो रहे है। प्रशासन को इस पर ध्यान देना चाहिए अौर जितना जल्दी हो सके सड़क पर लाइटों को ठीक करवाया जाना चाहिए। घग्गर पार सेक्टरों में कई एेसी डिवाइडिंग और इंटर्नल सड़कें है, जहां कंप्लेंट करने के बाद भी लाइटें ठीक नहीं होती। ऐसी भी भड़कें है जहां पर रात को प्रॉपर लाइटें जलती है, लेकिन अभी भी कई सड़कों पर अंधेरा रहता है। हमारे घर के पास भी सड़क पर रात को हर दूसरे दिन लाइटें बद रहती है। इन सेक्टरों में सड़कों पर रात को आवारा पशु भी घूमते है, लेकिन लाइटें नहीं होने से रात को सड़क पर इनके कारण एक्सीडेंट होने के चांस भी ज्यादा होते है। अगर पिछले 5-6 महीनों की बात करें तो आवारा पशुओं और लाइटों के ना जलने के कारण लोगों के साथ हादसे भी हो चुके है।

रामगढ़ से सेक्टर 27/28 आने वाली डिवाइडिंग रोड पर लाइटें खराब

पंचकूला के जितने भी घग्गर पार सेक्टर है, उनमें आने के लिए रामगढ़ साइड से सेक्टर 27/28 की डिवाइडिंग को इस्तेमाल करते है। अगर हम रात को यहां की बात करें तो हाईवे के साथ सटी इस डिवाइडिंग पर भी कोई लाइट नहीं जलती। यहां लोगों के लिए भी एक्सीडेंट प्रोन एरिया इसी कारण साबित हो रहा है। पहले भी इस मामले को उठाया गया था, लेकिन अभी भी यहां पर लाइटों में प्रोब्लम होने के कारण अंधेरा रहता है। यहां जितने भी हाईवे से कनेक्ट होने वाली पंचकूला एक्सटेंशन सड़क है, उन पर अंधेरा होने से हादसों का भी डर रहता है। -रवी शर्मा

सिटी रिपोर्टर | पंचकूला

पंचकूला एक्सटेंशन सेक्टरों में रहने वाले लोगों को इन दिनों पंचकूला-यमुनानगर हाईवे से कनेक्ट होने वाली सड़क पर अंधेरा होने के कारण परेशान होना पड़ रहा है। हाईवे पर भी रात को लाइटें बंद होने से एक्सीडेंट के चांस ज्यादा है। इसके अलावा हाईवे से कनेक्ट होने वाली घग्गर पार सेक्टरों की सड़क पर भी रात को लाइटें बंद रहती है। ऐसे में जहां एक अोर एक्सीडेंट के चांस ज्यादा है, वहीं रात को क्राइम रेट बढ़ने के भी ज्यादा चांस हो रहे है। हाल ही में हाईवे से सटे पेट्रोल पंपों पर भी लूट के मामले सामने आ चुके है। ऐसे में हाईवे से लेकर सेक्टरों में रात को अंधेरा होने से भी लोग सेफ्टी ना होने की बात कह रहे है। आरडब्ल्यूए सेक्टर 26 प्रधान डीएस हीरा की ओर से पहले भी इस मामले की कंप्लेंट दी गई थी। जिस पर एक्शन तो हुअा, लेकिन अब दोबारा से इंटर्नल सड़क से लेकर पार्कों तक में अंधेरा होने से लोग प्रशासनिक अधिकारियों पर सवाल खड़े कर रहे है।

पंचकूला-यमुनानगर हाईवे पर माजरी चौक से लेकर रामगढ़ तक काफी ज्यादा आबादी वाले सेक्टर है। अभी यहां पर हाईवे का काम अंडर कंस्ट्रक्शन है और इस कारण भी हाईवे पर रात को अंधेरा रहता है। हाईवे पर अंधेरा होने से उसके साथ सटे सेक्टरों के अलावा जितने भी रिहायशी एरिया है उनमें रहने वाले लोगों को भी अाने जाने में परेशान होना पड़ रहा है। हाईवे पर रात को काफी स्पीड में व्हीकल ल चलते है और अंधेरा होने से सडक हादसे भी हो रहे है। प्रशासन को इस पर ध्यान देना चाहिए अौर जितना जल्दी हो सके सड़क पर लाइटों को ठीक करवाया जाना चाहिए। घग्गर पार सेक्टरों में कई एेसी डिवाइडिंग और इंटर्नल सड़कें है, जहां कंप्लेंट करने के बाद भी लाइटें ठीक नहीं होती। ऐसी भी भड़कें है जहां पर रात को प्रॉपर लाइटें जलती है, लेकिन अभी भी कई सड़कों पर अंधेरा रहता है। हमारे घर के पास भी सड़क पर रात को हर दूसरे दिन लाइटें बद रहती है। इन सेक्टरों में सड़कों पर रात को आवारा पशु भी घूमते है, लेकिन लाइटें नहीं होने से रात को सड़क पर इनके कारण एक्सीडेंट होने के चांस भी ज्यादा होते है। अगर पिछले 5-6 महीनों की बात करें तो आवारा पशुओं और लाइटों के ना जलने के कारण लोगों के साथ हादसे भी हो चुके है।

लोगों काे सैर करने के लिए हो रही परेशानी, डर लगता है

सेक्टरों के अंदर लोगों काे सैर करने के लिए पार्क बनाए गए है। जब अंधेरा शुरू हो जाता है तो उसके बाद इनमें सैर नहीं कर सकते। यहां पर कई लाइटें खराब है तो कई जलती नहीं। सबसे बडी बात तो ये है कि इनमें जो मेन हाई मास्क लाइटें लगाई गई है वो भी नहीं जलती। जब मे न लाइटों का ये हाल है तो खुद अंदाजा लगा सकते हो कि बाकी दूसरी लाइटों का क्या हाल होगा। पार्कों में रात को अंधेरा रहता है और यही कारण है कि ना तो बच्चे इनमें खेल पाते है औैर ना ही लोग यहां बैठ सकते है। कुछ दिन पहले तो सेक्टर 25 के पार्क में लोगों को सैर करते हुए सांप भी मिला था। -उर्मिला देवी, एक्स बीडीसी मेंबर

X
Panchkula News - street lights on the road leading to ghaggar cross sectors
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना