पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Tamar News Students Refused To Take Bath In Danger Zone Of Hundru Fall One Killed

मना करने पर भी हुंडरू फॉल के डेंजर जोन में नहाने गए छात्र, एक की मौत

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

हुंडरू फॉल में शनिवार को डूब जाने से पश्चिम बंगाल के एक छात्र की मौत हो गई है। मृतक आसिफ अली (15) विवेकानंद कोचिंग सेंटर गोविंद नगर, बांसकुड़ा (पूर्वी मिदनापुर) व राजनगर हाई स्कूल के कक्षा आठवीं का छात्र था। वह कोचिंग सेंटर के अपने 69 साथियों के साथ बस (डब्ल्यूबी 33डी 9386) से दिन के 11 बजे के करीब हुंडरू फॉल पहुंचा था।

साथियों के साथ वह भी फॉल में नहाने के लिए उतर गया। वहां मौजूद लोगों ने बच्चों को डेंजर जोन में नहाने से मना किया, लेकिन वे नहीं माने। आसिफ अपने दोस्त शेख आलम के साथ जानलेवा साहेब चिपवा दाह में कूद गया। दोनों तैरना नहीं जानते थे। पिछले कुछ दिनों से हो रही बारिश के कारण आजकल फॉल के पानी में तेज बहाव है। देखते ही देखते शेख आलम पानी में डूबने लगा, दोस्त को डूबता देखकर आसिफ उसे बचाने गया। दोस्त को तो बचा लिया, लेकिन खुद तेज धारा में बहकर पत्थरों के बीच बनी खोह में जाकर फंस गया, जिससे उसकी मौत हो गई।

तीन घंटे की मशक्कत के बाद निकाला जा सका छात्र का शव

घटना की जानकारी मिलते ही पर्यटन सुरक्षा समिति के अध्यक्ष राजकिशोर प्रसाद और बालेश्वर प्रसाद मौके पर गोताखोर लेकर पहुंचे। करीब तीन घंटे की मशक्कत के बाद आसिफ के शव को निकाला गया। आसिफ के साथ आई उसकी मौसी और दोस्तों का रो-रोकर बुरा हाल था। उसकी मौसी के आग्रह सिकिदिरी पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम नहीं कराया, पंचनामा करके उन्हें सौंप दिया। शव को लेकर सारे लोग बंगाल लौट गए। शव निकालने में चंद्रउदय बेदिया, पवन भोगता, रोहित बेदिया, विष्णु बेदिया, ब्रजेश भोगता, रंजन बेदिया, मनोज बेदिया, मेघनाथ बेदिया व गणेश बेदिया आदि ने अहम योगदान किया।

सुरक्षा मानकों की अनदेखी से 4 माह में 3 मौत

बंगाल से 69 छात्रों दल का आया था पिकनिक मनाने

हुंडरू फॉल में सुरक्षा मानकों की अनदेखी करने के कारण दुर्घटनाएं हो रही हैं। पिछले चार माह के अंदर फॉल में डूबने से तीन पर्यटकों की मौत हो चुकी है। साहेब चिपवा और आसपास डेंजर जोन होने की चेतावनी पत्थरों पर लिखकर दी हुई है। गेट पास लेते समय भी पर्यटक मित्रों द्वारा सुरक्षा नियम बताए जाते हैं। साथ ही, वे लगातार सिटी बजाकर खतरे के बारे में पर्यटकों को आगाह करते रहते हैं। इस सीजन में पर्यटक मित्रों की तत्परता से पांच पर्यटकों को डूबने से बचाया जा सका है।

दोस्त संग अंतिम सेल्फी...**

शेख आलम

आसिफ अली
खबरें और भी हैं...