Hindi News »Lifestyle »Tech» Jio Success Story Know Why And How Mukesh Ambani Took Jio As Dream Project

सुस्त इंटरनेट से परेशान हुए मुकेश अंबानी तो आया था जियो का आइडिया, 22 महीने में सब कुछ मुट्‌ठी में

2010 में मुकेश अंबानी ने आईबीएसएल को खरीद लिया, जिसका नाम बाद में बदलकर 'रिलायंस जियो' कर दिया गया था।

प्रियंक द्विवेदी / DainikBhaskar.com | Last Modified - Jul 07, 2018, 06:21 PM IST

  • सुस्त इंटरनेट से परेशान हुए मुकेश अंबानी तो आया था जियो का आइडिया, 22 महीने में सब कुछ मुट्‌ठी में
    +4और स्लाइड देखें

    गैजेट डेस्क.15 साल बाद मुकेश अंबानी एक बार फिर से टेलीकॉम बिजनेस में भाग्यशाली बनते नजर आ रहे हैं। 5 जुलाई को रिलायंस की 41वीं सालाना जनरल मीटिंग में मुकेश अंबानी ने अपनी नई कंपनी जियो को सफल और कमाऊ बताते हुए कहा कि 'जियो ने सिर्फ एक साल में ही अपने ग्राहकों की संख्या को बढ़ाकर दोगुना कर लिया और कंपनी ने हर महीने 240 करोड़ जीबी 4G डेटा अपने ग्राहकों को दिया। रिलायंस जियो का मुनाफा 20.6% बढ़कर 36 हजार 75 करोड़ रुपए पहुंच गया है।'

    अपनी 66 मिनट की स्पीच में मुकेश अंबानी ने अपने दोनों बच्चों ईशा और आकाश (जियो के डायरेक्टर) को आगे करते हुए एक साथ जियो के कई प्रोडक्ट्स को शुरू करने की घोषणा की, साथ ही ये भी कहा कि कंपनी का लक्ष्य देश के हर घर तक डिजिटल टूल्स और तकनीक पहुंचाना है।

    साल 2002 में जब मुकेश अंबानी और अनिल अंबानी साथ थे, तब पहली रिलायंस इंडस्ट्रीज़ ने टेलीकॉम सेक्टर में कदम रखा और ग्राहकों को सस्ते दामों पर वॉयस कॉलिंग की सुविधा दी। उस समय कंपनी का स्लोगन था- 'कर लो दुनिया मुट्ठी में'। रिलायंस इन्फोकॉम के नाम से टेलीकॉम सेक्टर में कदम रखने के साथ ही अंबानी बंधुओं ने टेलीकॉम सेक्टर में क्रांति ला दी थी। इसी दौरान महंगे फोन और महंगी कॉल रेट्स के दौर में कंपनी ने 501 रुपए वाला 'मानसून हंगामा' ऑफर लॉन्च किया था।

    पिता की मौत के बाद भाईयों में बंटवारा:2002 में धीरूभाई अंबानी की असामयिक मौत के बाद बड़े भाई मुकेश और छोटे भाई अनिल में संपत्ति के बंटवारे को लेकर विवाद शुरू हो गया। दरअसल, धीरूभाई के बाद मुकेश रिलायंस इंडस्ट्रीज़ के चेयरमैन बन गए और अनिल वाइस चेयरमैन। इसके बाद दोनों भाईयों के बीच विवाद और बढ़ गया। उस समय रिलायंस इंडस्ट्रीज का सालाना टर्नओवर करीब 80 हजार करोड़ रुपए था।

    - मां कोकिलाबेन और कुछ शुभचिंतकों की मध्यस्थता के बाद 2005 में दोनों भाईयों के बीच बंटवारा हो गया और 2006 में रिलायंस इन्फोकॉम का नाम बदलकर रिलायंस कम्युनिकेशन हो गया।

    ऐसे आया था जियो का आइडिया: मुकेश अंबानी को जियो का आइडिया कैसे और कहां से आया था? इसका जवाब स्वयं उन्होंने मार्च 2018 में एक कार्यक्रम में दिया। अंबानी ने बताया कि, 2011 में मेरी बेटी ईशा अमेरिका की येल यूनिवर्सिटी में पढ़ती थी। छुटि्टयों में वह कुछ दिनों के लिए घर आई थी। उसे यूनिवर्सिटी में कुछ कोर्स वर्क भेजना था, लेकिन इंटरनेट स्लो होने की वजह से वो ऐसा नहीं कर पा रही थी।

    - अंबानी ने बताया था कि उनके बेटे आकाश ने भी उनसे कहा था कि पहले लोगों के लिए टेलीकॉम मतलब सिर्फ वॉयस कॉलिंग होता था, लेकिन अब सब कुछ डिजिटल हो गया है। इसमें बातों के अलावा बहुत सारे काम इंटरनेट से ही किए जा सकते हैं। बेटी की परेशानी और बेटे के सुझाव के बाद ही उनके दिमाग में टेलीकॉम सेक्टर में वापसी की बात आई और जियो शुरू करने का आइडिया आया।

    फिर हुई रिलायंस जियो की शुरुआत:रिपोर्ट्स के मुताबिक, साल 2010 में रिलायंस इंडस्ट्रीज़ ने 4,800 करोड़ में इंफोटेल ब्रॉडबैंड सर्विसेस लिमिटेड (आईबीएसएल) की 95% हिस्सेदारी खरीद ली। आईबीएसएल भारत की पहली और इकलौती कंपनी थी, जिसने देश के सभी 22 जोन में 4G ब्रॉडबैंड स्पेक्ट्रम फैला दिया था। इसी का नाम बाद में बदलकर 'रिलायंस जियो' कर दिया गया।

    - दिसंबर 2013 में, रिलायंस जियो ने अपनी 4G सर्विस के लिए भारती एयरटेल से समझौता किया। इस समझौते के तहत, रिलायंस जियो एयरटेल की अंडर-सी केबल कैपेसिटी, ऑप्टिक फाइबर नेटवर्क, वायरलैस टॉवर और इंटरनेट ब्रॉडबैंड सर्विस का इस्तेमाल करती है।

    - इसी साल जियो ने अनिल अंबानी की रिलायंस कम्युनिकेशन के साथ देशभर में 4G स्पेक्ट्रम फैलाने के लिए एक समझौता किया।

    - 27 दिसंबर 2015 को रिलायंस जियो ने अपनी 4G सर्विस के बारे में खुलासा किया। इस सर्विस को शुरुआत में सिर्फ रिलांयस इंडस्ट्रीज़ के कर्मचारियों के लिए ही शुरू किया गया था।

    - 5 सितंबर 2016 को रिलायंस जियो की 4G सर्विस को पूरे देश में शुरू कर दिया गया। शुरुआत में सभी को जियो सिम फ्री में दी गई और इसमें 4GB डेटा रोजाना तीन महीने तक के लिए फ्री दिया गया। साथ ही फ्री अनलिमिटेड कॉलिंग और 100 मैसेज रोजाना की सुविधा भी कंपनी ने अपने यूजर्स को दी।

    22 महीनों में ऐसे आगे बढ़ती गई रिलायंस जियो:

    5 सितंबर से 31 दिसंबर 2016 :अक्टूबर में जियो ने 'जियो वेलकम ऑफर' के साथ टेलीकॉम सेक्टर में एंट्री की। इस ऑफर के तहत जियो यूजर्स को तीन महीनों के लिए फ्री 4GB इंटरनेट डेटा के साथ-साथ फ्री अनलिमिटेड कॉलिंग और फ्री मैसेज की सुविधा दी। इसकी वैलिडिटी 31 दिसंबर को खत्म होने थी।

    1 जनवरी से 31 मार्च 2017:दिसंबर 2016 में कंपनी ने 'हैप्पी न्यू ईयर ऑफर' पेश किया। इस ऑफर में एक बार फिर से सभी जियो यूजर्स को तीन महीने तक के लिए फ्री इंटरनेट, वॉयस कॉलिंग और मैसेजेस की सुविधा मिली। हालांकि इस ऑफर में डेटा लिमिट को 4GB से कम कर 1GB कम कर दिया।

    1 अप्रैल से 31 मार्च 2018: 6 महीनों तक फ्री सर्विस देने के बाद जियो ने अपने यूजर्स के लिए रिचार्ज पैक जारी किए। इसमें प्राइम मेंबरशिप भी शामिल थी। जियो के प्राइम मेंबर बनने के लिए 99 रुपए की खास मेंबरशिप लेनी थी, जिसकी वैधता एक साल यानी 31 मार्च 2018 तक थी। जियो ने अपने डेटा पैक बहुत ही कम रखे और सिर्फ 303 रुपए के रिचार्ज में यूजर्स को 3 महीने तक के लिए इंटरनेट, वॉयस कॉलिंग और मैसेजेस की सुविधा मिली।

    21 जुलाई 2017: रिलायंस की 40वीं सालाना जनरल मीटिंग में जियो ने 4G सपोर्ट वाला फीचर फोन लॉन्च किया और दुनिया का पहला फीचर फोन है, जिसमें 4G VoLTE सपोर्ट दिया गया था। इस फोन को कंपनी ने सभी के लिए फ्री में उतारा था, लेकिन इसे खरीदने के लिए पहले 1500 रुपए की सिक्योरिटी मनी जमा करानी थी, जो 3 साल बाद रिफंडेबल है।

    31 मार्च 2018: एक साल की प्राइम मेंबरशिप खत्म होने पर जियो ने फिर से नया ऑफर लॉन्च किया, जिसमें जियो के प्राइम मेंबर्स को एक साल की मेंबरशिप फ्री में मिल रही थी। इस ऑफर के आने से जियो के प्राइम मेंबर्स उसके साथ बने रहे।

    21 जुलाई 2018: 41वीं सालाना जनरल मीटिंग में जियो ने ब्रॉडबैंड सर्विस भी लॉन्च की, जिसे 'जियो गीगा फाइबर' नाम दिया गया है। जियो गीगा फाइबर के तहत यूजर्स को जियो गीगा राउटर और जिया गीगा टीवी की सर्विस दी जाएगी। इसके साथ ही कंपनी ने जियो फोन 2 भी लॉन्च किया, जिसकी कीमत 2,999 रुपए रखी गई है।

    अगली स्लाइड में देखें 22 महीनों के दौरान लॉन्च जियो के प्रोडक्ट और उनकी सर्विसेस...

  • सुस्त इंटरनेट से परेशान हुए मुकेश अंबानी तो आया था जियो का आइडिया, 22 महीने में सब कुछ मुट्‌ठी में
    +4और स्लाइड देखें

    22 महीनों के दौरान लॉन्च जियो के प्रोडक्ट और उनकी सर्विसेस

    प्रोडक्टसर्विस
    1.जियो सिमसितंबर 2016 में रिलायंस जियो ने अपना 4G सिम मार्केट में उतारा था और यही कंपनी का पहला प्रोडक्ट था। इसमें कंपनी ने 4G इंटरनेट के अलावा अनलिमिटेड वॉयस कॉल और 100 मैसेजेस की सुविधा दी।
    2.जियो टीवीइसमें यूजर्स को मोबाइल पर ही लाइव टीवी देखने की सुविधा मिली। कंपनी का दावा है इस ऐप में 575 से ज्यादा चैनल हैं, जिनमें 60 से ज्यादा एचडी चैनल भी शामिल हैं।
    3.जियो सिनेमाइसमें यूजर्स को उनकी डिमांड के हिसाब से वीडियो दिखाई जाते हैं। दावा है कि इसमें 1 लाख से ज्यादा घंटों की फिल्में हैं। इसमें यूजर्स फिल्मों के अलावा टीवी शो, म्यूजिक वीडियो और ट्रेलर देख सकते हैं।
    4.जियो चैटवॉट्सऐप की तरह ही जियो का भी चैटिंग ऐप जियो चैट आता है। इस ऐप के जरिए यूजर्स मैसेजिंग, वॉइस और वीडियो कॉलिंग कर सकते हैं।
    5.जियो म्यूजिकजियो यूजर्स इस ऐप से अपनी पसंद के गाने फ्री में सुन सकते हैं और इन्हें फ्री में डाउनलोड भी कर सकते हैं। कंपनी का दावा है कि जियो म्यूजिक में 1 करोड़ से ज्यादा गानों का कलेक्शन है।
    6.

    जियो मैग्स

    इसमें भी भारत में छपने वाली लगभग सभी बड़ी मैग्जीन का कलेक्शन है। जियो यूजर्स इन्हें पढ़ सकते हैं और ऑफलाइन रीडिंग के लिए इन्हें डाउनलोड भी किया जा सकता है।
    7.

    जियो एक्सप्रेस

    न्यूज इस ऐप में यूजर्स को दुनियाभर के समाचार एक ही जगह मिलते हैं। इसमें सभी न्यूजपेपर, न्यूज चैनल और न्यूज वेबसाइट की खबरें होती हैं।
    8.जियो मनीनोटबंदी के बाद इस ऐप को लॉन्च किया गया था। इस ऐप के जरिए यूजर्स मोबाइल और डीटीएच रिचार्ज के अलावा मनी ट्रांसफर भी कर सकते हैं।
    9.जियो न्यूजपेपरइस ऐप में 10 से ज्यादा भारतीय भाषाओं में आने वाले न्यूजपेपर ऑनलाइन मिलते हैं, जहां इन्हें फ्री में पढ़ा जा सकता है।
    10.जियो सिक्योरिटीये एक एंटी-वायरस ऐप है। ये ऐप स्मार्टफोन में वेबसाइट और एप्लीकेशन को स्कैन करता है और मोबाइल में आने वाले वायरस को रोकता है।
    11.जियो हेल्थ हबइस ऐप के जरिए अपॉइंटमेंट की बुकिंग और डॉक्टरों से बात की जा सकती है। इस ऐप की मदद से ऑनलाइन ही अपने डॉक्टर से मदद ले सकते हैं।
    12.जियो क्लाउडयहां पर अपनी फोटो और सभी तरह के डॉक्यूमेंट्स को ऑनलाइन स्टोर कर सकते हैं। इन्हें फिर किसी भी स्मार्टफोन, कंप्यूटर या टीवी से भी एक्सेस किया जा सकता है।
    13.जियो फोन कंपनी ने पिछले साल रिफंडेबल स्कीम के साथ जियो फीचर फोन लॉन्च किया था, जिसके लिए यूजर्स को 1500 रुपए जमा कराने थे जो तीन साल बाद रिफंडेबल हैं। इसके साथ ही हाल ही में मीटिंग में जियोफोन 2 भी लॉन्च किया गया है, जिसकी कीमत 2,999 रुपए रखी गई है।
    14.जियो फाईजियो सिम कार्ड लॉन्च करने के बाद जियो फाई हॉटस्पॉट लॉन्च हुआ था, जिसमें 2G और 3G यूजर्स भी जियो की 4G स्पीड का फायदा ले सकते हैं। इसे 1,999 रुपए में लॉन्च किया था, लेकिन अब ये सिर्फ 999 रुपए में अवेलेबल है। इसकी मदद से कहीं भी और कभी भी इंटरनेट चलाया जा सकता है।
    15.जियो गीगा फाइबरजियो की ब्रॉडबैंड सर्विस को जियो गीगा फाइबर के नाम से शुरू किया गया है। शुरुआत में इसे 1100 शहरों में शुरू किया जाएगा। इसके लिए 15 अगस्त 2018 से रजिस्ट्रेशन शुरू होंगे।
    16.जियो गीगा टीवीगीगा फाइबर सर्विस के तहत ही जियो गीगा टीवी लॉन्च की गई है, जो सेट-टॉप बॉक्स है। बताया जा रहा है कि इसमें कंपनी 600 से ज्यादा चैनलों का पैक देगी, साथ ही इस सेट-टॉप बॉक्स में वॉयस कमांड सपोर्ट भी मिलेगा, जिससे सिर्फ बोलकर ही टीवी को कंट्रोल किया जा सकेगा।
  • सुस्त इंटरनेट से परेशान हुए मुकेश अंबानी तो आया था जियो का आइडिया, 22 महीने में सब कुछ मुट्‌ठी में
    +4और स्लाइड देखें
  • सुस्त इंटरनेट से परेशान हुए मुकेश अंबानी तो आया था जियो का आइडिया, 22 महीने में सब कुछ मुट्‌ठी में
    +4और स्लाइड देखें
  • सुस्त इंटरनेट से परेशान हुए मुकेश अंबानी तो आया था जियो का आइडिया, 22 महीने में सब कुछ मुट्‌ठी में
    +4और स्लाइड देखें
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Tech

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×