--Advertisement--

सुनील छेत्री की अपील के बाद भारत-केन्या मैच के सभी टिकट बिके, 100 मैच खेलने वाले दूसरे भारतीय फुटबॉलर बन सकते हैं

Dainik Bhaskar

Jun 04, 2018, 02:58 PM IST

100 इंटरनेशनल मैच खेलने का सपना कभी नहीं देखा था : भारतीय कप्तान छेत्री

sunil chhetri looks to make 100th international football match

  • चीनी ताइपे के खिलाफ केवल 2,500 दर्शक ही स्टेडियम पहुंचे थे
  • सुनील छेत्री 61 गोल के साथ भारत के टॉप स्कोरर भी हैं

मुंबई. इंटरकान्टिनेंटल कप के तीसरे मैच में भारत ने केन्या को 3-0 से हरा दिया। भारतीय की ओर से कप्तान सुनील छेत्री ने 2 और जेजे लालपेख्लुआ ने 1 गोल किए। यह भारत की केन्या के खिलाफ पहली और किसी अफ्रीकी देश के खिलाफ तीसरी जीत है। अफ्रीकी देशों की बात करें तो भारत 1960 से अब तक सिर्फ जाम्बिया, नामीबिया और केन्या के खिलाफ ही मैच जीत सका है। भारत ने घाना, अल्जीरिया और मोरक्को से 1-1 जबकि जाम्बिया से 3 मुकाबले हारे हैं। सुनील छेत्री का यह 100वां अंतरराष्ट्रीय मैच था। वे 100 या उससे ज्यादा मैच खेलने वाले दूसरे भारतीय फुटबॉलर हैं। उनसे पहले पूर्व कप्तान बाइचुंग भूटिया (104 मैच) ने ही यह आंकड़ा पार किया था।

पहला गोलः 65वें मिनट में केन्या के खिलाड़ी ने छेत्री को टक्कर मारी, पेनाल्टी पर सुनील ने गोल किया
- भारी बारिश के बीच हुए पहले हाफ में दोनों टीमें कोई भी गोल नहीं कर सकीं। दूसरे हाफ में भारत हावी रहा। इस दौरान गेंद अधिकतर उसके ही कब्जे में रही।
- मैच के 65वें मिनट में जब सुनील छेत्री गेंद को लेकर केन्या के गोलपोस्ट की ओर बढ़ रहे थे, तब केन्या के एक खिलाड़ी ने उन्हें पीछे से टक्कर मार दी। इस पर रेफरी ने पेनाल्टी दे दी।
- सुनील छेत्री ने इस मौके को भुनाने में कोई गलती नहीं की। उन्होंने 68वें मिनट में गेंद को केन्या के गोलपोस्ट में पहुंचा दिया।

दूसरा गोलः 71वें मिनट में जेजे ने भारत की बढ़त 2-0 की

- पहले गोल के 3 मिनट बाद ही जेजे लालपेख्लुआ ने सटीक किक से गेंद को केन्या के गोलपोस्ट में पहुंचा दिया। इसके साथ ही भारत मुकाबले में 2-0 से हो गया।
- इससे पहले 63वें मिनट में भारत के प्रणय हलदर गोल करने से चूक गए। उन्होंने प्रयास तो बढ़िया किया था, लेकिन केन्या के गोलकीपर ने लंबी छलांग लगाते हुए उनकी कोशिश नाकाम कर दी थी।

तीसरा गोलः 90+2 मिनट में छेत्री ने गेंद को केन्या के गोलपोस्ट में पहुंचाया
- 2-0 की बढ़त के बाद भारत की जीत लगभग तय थी। इंजरी टाइम चल रहा था, लेकिन सुनील छेत्री की गोल की भूख कायम थी। वे और ज्यादा आक्रामक नजर आ रहे थे।
- इसी दौरान उन्होंने गेंद को अपने कब्जे में लिया और केन्या के गोलपोस्ट की ओर दौड़े। केन्या का गोलकीपर गेंद को रोकने के चक्कर में काफी आ गया, तभी छेत्री ने उसके सिर से ऊपर से गेंद को गोलपोस्ट में पहुंचा दिया और भारत की जीत 3-0 से सुनिश्चित कर दी।
- मैच समाप्त होने के बाद स्टेडियम में मौजूद सभी दर्शकों ने उनका खड़े होकर अभिवादन किया। एक दर्शक तो उनके पैर छूने के लिए मैदान में ही आ गया।

हम अपने देश के लिए सबकुछ देने जा रहे हैं: छेत्री

- मैच के बाद सुनील छेत्री ने भारी संख्या में स्टेडियम में आने पर प्रशंसकों को धन्यवाद देते हुए कहा, " प्रशंसकों का बहुत धन्यवाद! आपको पता नहीं है कि इसका क्या अर्थ है? छोटा सा समर्थन हमें दूर तक ले जाएगा। हम अपने देश के लिए सबकुछ देने जा रहे हैं।"

- छेत्री ने आगे कहा, "एक दर्शकों से खचाखच स्टेडियम देखना बहुत ही खास है। मैं आपसे वादा करता हूं कि हम जब भी खेलेंगे अपना 100 फीसदी योगदान देंगे।"

भारत ने मैच में 5 खिलाड़ी रिप्लेस किए

- मैच के 80वें मिनट में भारतीय कोच ने डिफेंडर संदेश झिंगन की जगह नारायण दास को मैदान पर उतारा। उसके बाद 83वें मिनट में अनिरूद्ध थापा की जगह रॉलिन बोर्गेस और हलीचरण नारजरी की जगह आशिक कुरूनियन को मैदान पर उतारा। 85वें मिनट में जेजे की जगह बलवंत और 89वें मिनट में अनस की जगह सलाम मैदान पर उतरे।

बाइचुंग भूटिया ने छेत्री को किया सम्मानित

- मैच शुरू होने से पहले पूर्व भारतीय कप्तान बाइचुंग भूटिया और आईएम विजयन ने वर्तमान कप्तान सुनील छेत्री को सम्मानित किया। मैच देखने भारतीय फुटबॉल फेडरेशन के अध्यक्ष प्रफुल्ल पटेल और बॉलीवुड अभिनेता अभिषेक बच्चन भी पहुंचे।

पिछले 2 साल में भारत ने 6 मुकाबले जीते

तारीख किसे हराया स्कोर
2 जून, 2016 लाओस 1-0
7 जून, 2016 लाओस 6-1
4 सितंबर, 2016 प्यूर्टो रिको 4-1
22 मार्च, 2017 कंबोडिया 3-2
1 जून, 2018 चीनी ताइपे 5-0
4 जून, 2018 केन्या 3-0

2005 में पाकिस्तान के खिलाफ किया था सुनील छेत्री ने डेब्यू

मैच साल खिलाफ
पहला 2005 पाकिस्तान
25वां 2008 म्यांमार
50वां 2011 मलेशिया
75वां 2014 बांग्लादेश
100वां 2018 केन्या

पाकिस्तान के खिलाफ किया था पहला गोल

गोल साल खिलाफ
पहला 2005 पाकिस्तान
25वां 2011 मलेशिया
50वां 2015 मालदीव

3 बार हैट्रिक लगा चुके हैं सुनील

हैट्रिक साल खिलाफ
पहली 2008 तजाकिस्तान
दूसरी 2010 वियतनाम
तीसरी 2018 चीनी ताइपे

100 मैच खेलने का सपना कभी नहीं देखा था: छेत्री

- मैच की पूर्व संध्या पर भारतीय कप्तान ने कहा था, "मेरे पास एक सपना था लेकिन 100 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने का सपना कभी नहीं देखा था। यह अविश्वसनीय है। ईमानदारी से कहूं तो मैं कभी मील के पत्थर के बारे में नहीं सोचता। रात में मां से चैट कर रहा था, उस दौरान वे भावुक हो गईं थी।"

- मैच से पहले भारतीय कोच स्टीफेन कांस्टेनटाइन ने कहा, "हम इस टूर्नामेंट के जरिए एएफसी एशिया कप की तैयारी कर रहे हैं। मैं केन्या और न्यूजीलैंड की क्षमताओं से वाकिफ हूं। ये खिलाड़ी यूरोपीय क्लबों के लिए खेलते हैं। उनके साथ खेलकर हम अपने खेल में सुधार करेंगे।"

छेत्री ने सोशल मीडिया पर की थी भावुक अपील
- छेत्री ने एक वीडियो के जरिए फैंस से अपील की थी कि वे भारतीय टीम का केन्या के खिलाफ मैच देखने स्टेडियम जरूर पहुंचें। उन्होंने कहा था कि हमें गाली दें, हमें पसंद न करें लेकिन स्टेडियम जरूर आएं। हम आपको निराश नहीं करेंगे।
- सुनील की इस अपील को विराट कोहली का भी समर्थन मिला। कोहली ने कहा- देशवासियों को सभी खेलों को बराबरी से देखना और सपोर्ट करना चाहिए। ऐसा ही करके हम देश को खेल राष्ट्र बना सकते हैं। विराट के अलावा सचिन तेंदुलकर, एमसी मैरीकॉम समेत कई खेल हस्तियों ने फुटबॉल मैच देखने की अपील की थी।

sunil chhetri looks to make 100th international football match
मुंबई फुटबॉल एरीना में भारतीय टीम का हौंसला बढ़ाने पहुंचे दर्शक। मुंबई फुटबॉल एरीना में भारतीय टीम का हौंसला बढ़ाने पहुंचे दर्शक।
मैच देखने के लिए बाइचुंग भूटिया, एम विजयन और प्रफुल्ल पटेल पहुंचे। मैच देखने के लिए बाइचुंग भूटिया, एम विजयन और प्रफुल्ल पटेल पहुंचे।
X
sunil chhetri looks to make 100th international football match
sunil chhetri looks to make 100th international football match
मुंबई फुटबॉल एरीना में भारतीय टीम का हौंसला बढ़ाने पहुंचे दर्शक।मुंबई फुटबॉल एरीना में भारतीय टीम का हौंसला बढ़ाने पहुंचे दर्शक।
मैच देखने के लिए बाइचुंग भूटिया, एम विजयन और प्रफुल्ल पटेल पहुंचे।मैच देखने के लिए बाइचुंग भूटिया, एम विजयन और प्रफुल्ल पटेल पहुंचे।
Astrology

Recommended

Click to listen..