• Home
  • Jeevan Mantra
  • Jyotish
  • Rashi Aur Nidaan
  • surya puja ke upay in hindi, surya puja vidhi in hindi, रविवार + सप्तमी का योग- 22 अप्रैल को सूर्य के सामने खड़े होकर करें ये उपाय, दुर्भाग्य हो सकता है दूर
--Advertisement--

रविवार + सप्तमी का योग- 22 अप्रैल को सूर्य के सामने खड़े होकर करें ये उपाय, दुर्भाग्य हो सकता है दूर

सूर्य पूजा से सभी ग्रहों के दोष दूर हो सकते हैं।

Danik Bhaskar | Apr 21, 2018, 01:17 PM IST

रिलिजन डेस्क। इस बार रविवार, 22 अप्रैल को हिन्दी पंचांग के अनुसार वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि है। इसे गंगा सप्तमी भी कहा जाता है। गीताप्रेस गोरखपुर द्वारा प्रकाशित संक्षिप्त भविष्य पुराण के ब्राह्म पर्व और 46वें अध्याय के अनुसार प्राचीन काल में सूर्यदेव का आविर्भाव सप्तमी तिथि पर ही हुआ था यानी इस तिथि पर सूर्यदेव उत्पन्न हुए थे। इस कारण सप्तमी पर सूर्यदेव की विशेष पूजा की जाती है। ज्योतिष के अनुसार रविवार का कारक ग्रह भी सूर्य ही है। इस वजह से रविवार और सप्तमी का योग बहुत भी शुभ बन गया है। भविष्य पुराण में श्रीकृष्ण ने सूर्य पूजा के कुछ सरल उपाय बताए हैं। यहां जानिए 22 अप्रैल को सूर्य पूजा के कुछ खास उपाय…

1. सुबह स्नान के बाद भगवान सूर्य के सामने खड़े होकर जल अर्पित करें। इसके लिए तांबे के लोटे में जल भरे, इसमें चावल, फूल डालकर सूर्य को अर्घ्य दें।

2. जल अर्पित करने के बाद सूर्य मंत्र का जाप करें। इस जाप के साथ शक्ति, बुद्धि, स्वास्थ्य और सम्मान की कामना से करें।

सूर्य मंत्र - ऊँ खखोल्काय स्वाहा

3. इस प्रकार सूर्य की आराधना करने के बाद धूप, दीप से सूर्य देव का पूजन करें।

4. सूर्य से संबंधित चीजें जैसे तांबे का बर्तन, पीले या लाल वस्त्र, गेहूं, गुड़, माणिक्य, लाल चंदन आदि का दान करें। अपनी श्रद्धानुसार इन चीजों में से किसी भी चीज का दान किया जा सकता है। इससे कुंडली में सूर्य के दोष दूर हो सकते हैं।

5. सूर्य के निमित्त व्रत करें। एक समय फलाहार करें और सूर्यदेव का पूजन करें।

कुंडली में सूर्य अशुभ हो तो

अगर किसी व्यक्ति की कुंडली में सूर्य अशुभ हो तो उसे रोज सुबह जल्दी उठ जाना चाहिए। स्नान के बाद सूर्य को यहां बताई गई विधि से जल चढ़ाना चाहिए। ये उपाय सभी राशि के लोग कर सकते हैं। इनके शुभ असर से घर-परिवार में मान-सम्मान बढ़ सकता है।