• Hindi News
  • Himachal
  • Shimla
  • Shimla News tehbazaris will now be able to get permanent accommodation only in august till then they will not be able to set up shops there will be delay in creating vending zone

तहबाजारियों काे अब अगस्त में ही मिल पाएगा स्थायी ठिकाना, तब तक दुकानें नहीं लगा पाएंगे, वेंडिंग जोन बनाने में होगी देरी

Shimla News - नगर निगम शिमला की अाेर से तहबाजारियों को स्थायी ठिकाने देने के लिए अब चार महीने का समय लगेगा। कारण यह है कि निगम...

Mar 27, 2020, 07:21 AM IST

नगर निगम शिमला की अाेर से तहबाजारियों को स्थायी ठिकाने देने के लिए अब चार महीने का समय लगेगा। कारण यह है कि निगम के हाउस में तहबाजारियाें की लिस्ट फाइनल की जानी थी, लेकिन अब कोरोना वायरस के चलते 31 मार्च तक ये तहबाजारी नही बसाएं जा सकेंगे। वहीं, निगम ने अादेश जारी किए है कि अगर काेई तहबाजारी बाजार में अवैध ताैर पर दुकानें लगाता है ताे उन पर कार्रवाई की जाएगी। शहर में स्मार्ट सिटी के तहत बनने वाली प्रीफैब्रिक दुकानों का काम भी फिलहाल लटक गया है। इसके लिए टेंडर प्रोसेसिंग का काम भी फिलहाल टला हुअा है। शहर में बसाए जाने वाले कुल 1065 तहबाजारियाें की लिस्ट में से 606 तहबाजारी एेसे हैं जिन्हें नगर निगम की सब कमेटी ने फाइनल कर दिया है। इसमें 126 तहबाजारी एेसे थे जिनके डाक्यूमेंट्स सही नहीं पाए गए थे। इसमें कुछ तहबाजारी एेसे थे जिनके नाम पर दुकान नहीं थी वहीं कुछ एेसे भी थे जिनकी काफी समय पहले मृत्यु हाे चुकी है। एेसे में वैरिफिकेशन करवाया जाना जरूरी था।

बेकरी भवन में 224 को मिलने हैं स्थायी ठिकाने नगर निगम की स्टेट ब्रांच में पूरे शहर पंजीकृत तहबाजारियाें काे अाईकार्ड देगी। प्रशासन की ओर से इन्हें लाइसेंस भी दिए जाने हैं। करीब 224 तहबाजारियाें काे लिफ्ट के पास बन रहे बेकरी भवन में बसाया जाना है। बदले में नगर निगम तह बाजारियों से किराया भी वसूलता है। यहां पर एक दुकान का किराया भी नए तरीके से फिक्स किया जाएगा। शहर में अतिक्रमण न बड़े इसके लिए तहबाजारियों को स्थायी ठिकाना देने की योजना बनाई गई थी। लेकिन अभी तक यह योजना सिरे नहीं चढ़ पाई है। स्थायी ठिकाना न होने के कारण दुकानदार शहर में जगह-जगह दुकानें सजाने को मजबूर है। वहीं शहर में पंजीकृत तहबाजारियों के मुकाबले वर्तमान में इनकी संख्या कई हजारों में हो गई है।

31 मार्च काे दी जानी थी फाइनल मंजूरी नगर निगम की अाेर से 31 मार्च को वैरिफाई की गई लिस्ट काे फाइनल मंजूरी दी जानी थी। गाैर रहे कि नगर निगम के पास कुल 1065 तहबाजारियाें की लिस्ट है। यह तहबाजारी शहर के अलग-अलग वार्डाें में बैठते हैं। सबसे ज्यादा तहबाजारी शहर के लाेअर बाजार, रामबाजार, सब्जी मंडी में बैठे हैं। इन सभी के लिए अब नगर निगम वेंडिंग जाेन तय करेगा। हालांकि वार्डाें के अनुसार ही वेंडिंग जाेन हाेंगे। जिस वार्ड में तहबाजारी बैठता है, उसमें ही उसे जगह दी जाएगी। अन्य जगहाें पर अगर तहबाजारी बैठेगा ताे उस पर निगम कार्रवाई करेगा।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना