--Advertisement--

नहीं है मंदिर जाने का समय तो कर लें शिखर दर्शन, मिलेंगे 3 फायदे

समय का अभाव होने के कारण कुछ लोग चाहकर भी मंदिर नहीं जा पाते।

Danik Bhaskar | Apr 29, 2018, 05:00 PM IST

रिलिजन डेस्क। हिंदू धर्म में मंदिर जाने की परंपरा सदियों पुरानी है। पुरातन समय में लोग अपने दिन की शुरूआत मंदिर जाने के बाद ही करते थे, लेकिन वर्तमान समय की भाग-दौड़ भरी जिंदगी में सभी के लिए मंदिर जाना संभव नहीं हो पाता। समय का अभाव होने के कारण कुछ लोग चाहकर भी मंदिर नहीं जा पाते। ऐसी स्थिति में सिर्फ मंदिर के शिखर दर्शन करने से भी पूजा का पूरा फल मिल सकता है।
उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. प्रफुल्ल भट्ट के अनुसार, ग्रंथों में लिखा है- शिखर दर्शनम् पाप नाशम्। यानी किसी भी मंदिर के शिखर दर्शन करने से ही पापों का नाश हो जाता है। यदि आप रोज भगवान के दर्शन करने मंदिर नहीं जा पाते तो ऐसे में जहां भी किसी मंदिर का शिखर दिखाई दे, वहां से भगवान को याद करके शिखर दर्शन कर लेना चाहिए। दरअसल, हिंदू धर्म में मंदिर के शिखर दर्शन को भी भगवान के दर्शन के बराबर ही पुण्य देने वाला बताया गया है।
मंदिर का शिखर भी उतना ही महत्वपूर्ण है जितना भगवान की प्रतिमा या मूर्ति। शिखर के दर्शन करने से भी हमारे सभी पापों का नाश हो जाता है। इसलिए यदि आपके पास मंदिर जाने का वक्त नहीं है तो आप शिखर के दर्शन करके भी अपने ईष्ट को याद कर सकते हैं इससे मानसिक शांति के साथ ही उचित फल भी मिलता है।

शिखर दर्शन के लाभ
1. मंदिर के शिखर दर्शन करने से मन को शांति मिलती है।
2. पापों का दर्शन होता है।
3. समस्याओं का अंत होता है।