राजा भैया के पिता उदय प्रताप सिंह किये गए नजरबंद, मुहर्रम पर करना चाहते हैं मंदिर में सुंदरकांड और भंडारा

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कुंडा से सटी इलाहाबाद, फतेहपुर, कौशांबी, बांदा और चित्रकूट की सीमाओं को सील कर दिया है। - Dainik Bhaskar
कुंडा से सटी इलाहाबाद, फतेहपुर, कौशांबी, बांदा और चित्रकूट की सीमाओं को सील कर दिया है।
  • हर साल मुहर्रम पर एक बंदर की पुण्यतिथि बताकर सुंदरकांड और भंडारा का आयोजन उदय प्रताप सिंह करते हैं 
  • पुलिस ने 2 साल से आयोजन पर रोक लगा रखी है 

प्रतापगढ़. पूर्व मंत्री राजा भैया के पिता उदय प्रताप सिंह को पुलिस ने नजरबंद कर दिया है। वे हनुमान जी के मंदिर पर एक बंदर की पुण्यतिथि पर सुंदरकांड और भंडारा कराना चाह रहे थे। उदय प्रताप मुहर्रम पर हर साल ये आयोजन करते आए हैं, इस पर पिछले दो साल से पुलिस ने रोक लगा रखी है। 

 

क्या है विवाद: कुंडा तहसील के शेखपुर आशिक में हनुमान मंदिर में मुहर्रम के दिन ही बंदर की पुण्यतिथि मनाई जाती है। साथ ही वहां पिछले 4 दिन से सुंदर काण्ड और भंडारा चल रहा है। मुहर्रम के दिन भी सुंदर कांड और भंडारे के आयोजन की घोषणा से प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए। अधिकारियों का कहना है कि मुहर्रम के दिन आयोजन पर पिछले 2 सालों से रोक लगी हुई है। इस बार भी प्रशासन ने कहा कि बिना अनुमति कोई आयोजन नहीं किया जायेगा। इसके लिए इलाके में सुरक्षाबलों द्वारा फ्लैग मार्च किया गया। अाला अफसरों ने शेखपुरा में कैम्प कर लिया है। यही नहीं कुंडा की सीमा को भी सील कर दिया गया है। 

 

पूजा के लिए अनुमति जरूरी नहीं: उदय प्रताप सिंह का कहना है कि पूजा करने के लिए मुझे प्रशासन की अनुमति की आवश्यकता नहीं है। पूजा करना मौलिक अधिकार है। फिलहाल आईजी से लेकर डीएम सभी इलाके का दौरा कर मुहर्रम को शांतिपूर्ण ढंग से निपटाने के प्रयास में लगे हुए हैं।

खबरें और भी हैं...