जिला प्रशासन ने 9 हजार कंबल भेजे गरीबों को बांटने के लिए, आचार संहिता ने रोका

News - विधानसभा चुनाव की घोषणा होने के साथ ही रांची सहित राज्यभर में आदर्श आचार संहिता लागू है। ऐसे में आम जनता को...

Nov 10, 2019, 07:46 AM IST
विधानसभा चुनाव की घोषणा होने के साथ ही रांची सहित राज्यभर में आदर्श आचार संहिता लागू है। ऐसे में आम जनता को लाभान्वित करने वाली योजना का प्रचार-प्रसार नहीं किया जा सकता। इस बार आचार संहिता में गरीबों का कंबल और प्रत्येक वर्ष मोरहाबादी मैदान में लगने वाला खादी मेला भी आदर्श आचार संहिता में फंस गया है। जिला प्रशासन ने नगर निगम को करीब 9 हजार कंबल भेज दिया है, ताकि विभिन्न वार्डों के गरीबों के बीच उसका वितरण किया जा सके। लेकिन, आचार संहिता की वजह से निगम ने कंबल बांटने पर रोक लगा दी है। एक ओर तापमान में गिरावट की वजह से ठंडी हवा और कनकनी बढ़ने से गरीबों की परेशानी बढ़ने लगी है, तो दूसरी ओर कंबल बांटने के नाम पर अपनी छवि चमकाने वाले नेता मायूस हैं।

मोरहाबादी मैदान में लगने वाला खादी मेला भी रद्द

चुनाव आयोग से इजाजत मिलेगी, तभी बंटेगा कंबल

उपनगर आयुक्त रजनीश कुमार ने बताया कि प्रत्येक वार्ड में 150-150 कंबल भेजा गया है, लेकिन पार्षदों को इसे बांटने से मना कर दिया गया है। क्योंकि, आचार संहिता लगा हुआ है। उन्होंने बताया कि चुनाव आयोग को कंबल बांटने की अनुमति देने के लिए पत्र भेजा जा रहा है। अनुमति मिलने पर कंबल बांटा जाएगा। लेकिन, सच्चाई यह है कि कंबल सीधे लोगों को सरकारी योजना से जोड़ता है। ऐसे में अनुमति मिलना मुश्किल है।

फरवरी के दूसरे सप्ताह में मेला लगने की संभावना

खादी बोर्ड के सीईओ रंजीत कुमार सिन्हा ने बताया कि इस बार विधानसभा चुनाव की वजह से 20 से 25 दिसंबर तक मोरहाबादी मैदान खाली नहीं मिलेगा। क्योंकि, वाहन कोषांग का टेंट और बैरिकेडिंग रहेगा। चुनाव संपन्न होने के बाद 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस समारोह होगा। झांकी बनाने के लिए भी 15 दिन पहले मैदान में टेंट लग जाएंगे। इसलिए, फरवरी के दूसरे सप्ताह में मेला लगने की संभावना है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना