--Advertisement--

एमिटी यूनिवर्सिटी पटना के बारे में जानिए जिसके स्टूडेंट्स करते हैं ग्लोबल लेबल पर कॉम्पीट

The Pride of Bihar सीरीज में आज हम आपको इसी एमिटी यूनिवर्सिटी पटना के बारे में बता रहे हैं।

Danik Bhaskar | Apr 26, 2018, 01:46 PM IST

पटना। देश को सबसे ज्यादा आईएएस और आईपीएस देने वाला राज्य है बिहार। किसी भी राज्य के लिए यह बात बहुत मायने रखती है कि वहां की शिक्षा व्यवस्था अन्य राज्यों के मुकाबले कहां ठहरती है। बिहार में शिक्षा की स्थिति में तेजी से सकारात्मक सुधार हो रहा है। यहां की सरकार भी लगातार कोशिशों में जुटी है। इसी का परिणाम है एमिटी यूनिवर्सिटी, पटना। यह भारत की लीडिंग रिसर्च एंड इनोवशन ड्रिवन यूनिवर्सिटी है।

The Pride of Bihar सीरीज में आज हम आपको इसी एमिटी यूनिवर्सिटी पटना के बारे में बता रहे हैं। इस ग्रुप के पास वर्ल्ड क्लास एजुकेशन प्रोवाइड करने में 24 साल का अनुभव है। इसकी 8 यूनिवर्सिटीज, 150 इंस्टीट्यूशन्स और 18 स्कूल एवं प्री-स्कूल हैं। इसके अलावा इसके 11 ग्लोबल कैम्पस भी हैं।

ह्यूमन वैल्यू से ड्रिवन हैं एमिटी यूनिवर्सिटी
एमिटी एजुकेशन ग्रुप के AVP गौरव गुप्ता कहते हैं कि एमिटी यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स में संस्कारों पर जोर देती है। हम ह्यूमन वैल्यू से ड्रिवन हैं और स्टूडेंट्स को ग्लोबल लेवल पर स्किल से इक्विप करने का प्रयास करते हैं।

इंडिया को सुपरपॉवर बनाने में एमिटी यूनिवर्सिटी का भी रोल
एमिटी यूनिवर्सिटी पटना के वाइस चांसलर डॉ. टी.आर. वेंकटेश कहते हैं कि करीब तीन लाख इंडियन स्टूडेंट्स पढ़ाई के लिए विदेश जाते हैं, जबकि विदेशों से केवल 48 हजार छात्र ही पढ़ने के लिए भारत आते हैं। इसलिए हमारे सामने यह मौका है कि हम एनरॉलमेंट रेशो को बढ़ाएं। इस दिशा में बिहार सरकर अच्छा काम कर रही है और एमिटी जैसी प्राइवेट यूनिवर्सिटीज को आमंत्रित कर रही हैं। हमारे फाउंडर प्रेसिडेंट के विजन के साथ एलाइन होकर इंडिया को सुपरपॉवर बनाने में एमिटी यूनिवर्सिटी रोल अदा कर रही है।


टॉप लेवल मैनेजर्स शेयर करते हैं अपने एक्सपीरियंस
एमिटी यूनिवर्सिटी इंडस्ट्री के टॉप लेवल मैनेजर्स को इनवाइट करती है जो यहां के स्टूडेंट्स के साथ लाइफ टाइम एक्सपीरियंस शेयर करते हैं। एमिटी यूनिवर्सिटी एक एवरेज स्टूडेंट को भी ऐसे प्रोफेशनल में बदल देती है जो हर दिन नए चैलेंज लेने को तैयार रहता है।

कई एक्टिविटीज में स्टूडेंट्स को करते हैं इनवॉल्व
एमिटी यूनिवर्सिटी पटना के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. रोहित कुमार कहते हैं कि हम यूनिवर्सिटी में यह सुनिश्चित करते हैं कि स्टूडेंट्स लर्निंग स्किल्स में इनवॉल्व हों। इसलिए हम स्टूडेंट्स को कई एक्टिविटीज में इनवॉल्व करते हैं जैसे इंटर्नशिप, ट्रेनिंग, फील्ड ट्रिप्स। इसके अलावा हम 5 से 7 घंटे की ट्रेनिंग शॉपिंग मॉल में भी देते हैं ताकि वे कंज्यूमर को आब्जर्व कर उनके बिहेवियर और एटिट्यूड को समझ सकें।

समर इंटर्नशिप प्रोग्राम का भी कल्चर
असिस्टेंट प्रोफेसर मुबाशिर आलम कहते हैं कि हमने एमिटी में समर इंटर्नशिप प्रोग्राम का भी कल्चर डेवलप किया है। इससे स्टूडेंट्स को अच्छा कार्पोरेट एक्सपीरियंस मिलता है। इससे न केवल उनका नॉलेज बढ़ता है, बल्कि इससे रेज्यूमे भी रिच होता है।

प्रो. नूतन चौधरी कहती हैं कि एमिटी यूनिवर्सिटी कम्युनिकेशन के चार पिलर्स पर फोकस करती है। लिसनिंग, स्पीकिंग, रीडिंग और राइटिंग। इस वजह से एमिटी के स्टूडेंट्स का कॉन्फिडेंस लेवल बहुत हाई होता है।

ग्लोबल लेवल पर कॉम्पीट करने के लिए स्टूडेंट्स को कर रहे हैं तैयार
डीन डॉ. विवेकानंद पांडे कहते हैं कि हम बिहार सरकार के उस कमिटमेंट की दिशा में काम कर रहे हैं कि हमारे स्टूडेंट्स ग्लोबल लेवल पर कॉम्पीट कर सकें। इस संबंध में एमिटी यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स के नॉलेज और स्किल लेवल को डेवलप कर रही है।

स्टूडेंटस भी कहते हैं कि आज उनके पास जॉब्स के मल्टीपल ऑफर्स हैं और इसका श्रेय एमिटी यूनिवर्सिटी को जाता है।

देखें वीडियो - एमिटी यूनिवर्सिटी, पटना के बारे में और अधिक जानकारी मिलेगी इस वीडियो में