• Hindi News
  • Bihar
  • Araria
  • Forbesganj News the stamp on the success of prohibition in the border area due to the lockdown

लाॅकडाउन होने के कारण सीमा क्षेत्र में शराबबंदी की सफलता पर लगी मोहर

Araria News - जहां एक तरफ सरकार के शराबबंदी पर सख्ती के बावजूद भी सीमाई क्षेत्रों के ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में शराबी व...

Mar 27, 2020, 07:01 AM IST
Forbesganj News - the stamp on the success of prohibition in the border area due to the lockdown

जहां एक तरफ सरकार के शराबबंदी पर सख्ती के बावजूद भी सीमाई क्षेत्रों के ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में शराबी व जमाखोरी करने वाले आये दिन धड़ल्ले से अपने कार्यों को अंजाम देकर पकड़े जाते थे, लेकिन कोरोना वायरस महामारी से हुए लोकडाउन व बॉर्डर सील ने सरकार के शराबबंदी अभियान पर सफलता की मुहर फिलहाल लगा दी है। अब शराबी या तस्कर नेपाल की ओर रुख करते नहीं देखे जा रहे हैं।क्योंकि ट्रेन सहित गाड़ी वगैरह को ब्रेक लगा दिया जिससे नेपाल के मयखाना में जाने वाले शराब शौकीनों के अभी से ही पसीने छूटने लगे हैं, क्योंकि एक सप्ताह तक गाड़ी प्रचलन पर बैंड लगा दिया गया है। बता दें कि शराबबंदी पर जहां सरकार काफी सख्त दिख रही थी, वहीं दूसरी ओर सीमाई क्षेत्रों में शराबियों के लिए नेपाल सेफ जोन बना हुआ था, लेकिन बॉर्डर सील ने उनके मंसूबों पर पानी फेर कर रख दिया है। सीमाई क्षेत्र में आसान नहीं थी शराबबंदी शराबी व शराब के तस्कर खुली सीमा का फायदा उठा कर शराबबंदी के बावजूद इस इलाके में शराब लाकर उसे ज्यादा मुनाफे में बेच रहे थे, लेकिन नोट बंदी ने इस पर विराम लगा दिया है। क्योंकि बॉर्डर सील से नेपाल में बैन कर दिया गया है।एवं बॉर्डर सख्ती से कोरोना वायरस को लेकर जांच भी चल रही है। शराब माफिया के खुफिया ठिकाने से भी शराब हुई गायब सूत्रों की मानें तो सीमाई क्षेत्रों के ग्रामीण व शहरी क्षेत्र में शराब माफियाओं के कई खुफिया ठिकाने थे।जहां नेपाल व बंगाल से तस्करी कर शराब की जमा खोरी होती थी लेकिन बॉर्डर सील के बाद अब जमाखोरी पर विराम लग गया है।

बाहर से आने वालों की दें सूचना : मुखिया

सिकटी | सभी पंचायतों के पंचायत भवन में गुरुवार को मुखिया की अध्यक्षता में बैठक की गई। इसमें एएनएम, आशा कर्मी, सेविका, सहायिका, वार्ड सदस्य उपस्थित थे। बैठक में सभी कर्मी लगभग एक मीटर की दूरी बनाकर बैठे। पंचायतों में बाहर से आने वाले लोगों पर निगरानी रखने को कहा गया व इसकी सूचना सिकटी पीएचसी में देने को कहा गया।

नेपाल जाने वाले शराबियों की भीड़ नहीं लगती

सूत्रों की मानें तो सरकार के शराबबंदी के सख्ती के बावजूद शराबी नेपाल की ओर रुख कर लिये थे एवं शराबियों को जोगबनी जाने वाली ट्रेनों में भीड़ देखा जाता था।जो स्टेशन से पैदल उतरकर शराब की सेवन कर अगले दिन के भी कोटे खरीद लेते थे लेकिन लोक डाउन से ट्रेन व बस बंदी ने इनकी सारी मंसूबों पर पानी फेर कर रख दिया है। बॉर्डर सील से नेपाल जाने वाले शराबियों का रात कटना हुआ मुश्किल नाम नहीं छापने की शर्त पर शराबियों ने बताया की शराबबंदी के सख्ती के बाद हमलोग नेपाल का रुख कर लिये थे जिसका सुगम रास्ता जोगबनी जाने वाली ट्रेन मार्ग था।वही बताया की शराबी अररिया, पूर्णिया, कटिहार, किशनगंज से नेपाल के मयखाना में जाते थे लेकिन नोट बंदी ने हमलोगों के नेपाल जाने पर विराम लगा दिया है कारण बॉर्डर ही सील हो गया।जिससे अब रात काटना भी मुश्किल हो रहा है।

सूना पड़ा रेलवे स्टेशन।

X
Forbesganj News - the stamp on the success of prohibition in the border area due to the lockdown

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना