टेक

--Advertisement--

आईफोन में आने वाले हैं ये 10 नए फीचर्स, एंड्रॉयड पर पड़ेंगे भारी

एपल ने सालाना डेवलपर कॉन्फ्रेंस में iOS 12 को लॉन्च किया है।

Dainik Bhaskar

Jun 12, 2018, 02:07 PM IST
these 10 features of ios 12 which are not in google android p

गैजेट डेस्क। अमेरिकी टेक्नोलॉजी कंपनी एपल की सालाना डेवलपर कॉन्फ्रेंस में नए ऑपरेटिंग सिस्टम iOS 12 को लॉन्च किया गया। iOS 12 में कंपनी ने कई बेहतरीन फीचर्स ऐड किए हैं, इन फीचर्स का इंतजार हमेशा से आईफोन यूजर्स को रहता था। iOS 12 इस साल के आखिरी तक सभी आईफोन यूजर्स के लिए अवेलेबल रहेगा। इसके साथ ही गूगल भी अपना नया ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्रॉयड-पी लॉन्च करने की तैयारी में है। हालांकि इन दोनों ओएस में कंपेरिजन किया जाए तो iOS 12 कहीं आगे दिखाई देता है। एपल ने अपने ओएस में कई ऐसे फीचर्स ऐड किए हैं, जो एंड्रॉयड-पी पर भारी पड़ते हैं।

iOS 12 के ये 10 फीचर्स जो एंड्रॉयड पर पड़ते हैं भारी

फीचर्स iOS 12 एंड्रॉयड-पी
1. सिरी
  • एपल ने अपने वॉइस असिस्टेंट सिरी (Siri) को पहले से ज्यादा एडवांस करते हुए इसमें शॉर्टकट का नया फीचर ऐड किया है। इसके जरिए यूजर थर्ड पार्टी ऐप्स को भी कंट्रोल कर सकते हैं।
  • एंड्रॉयड में, थर्ड पार्टी ऐप्स के लिए गूगल असिस्टेंट में कोई शॉर्टकट फीचर नहीं है।
2. सेफ ब्राउजिंग
  • एपल ने iOS 12 में सफारी ब्राउजर को सिक्योर बनाया है। अब फेसबुक समेत सोशल मीडिया साइट्स यूजर्स के डेटा को ट्रैक नहीं कर सकेंगी।
  • सफारी का ये नया फीचर सोशल मीडिया साइट्स के लाइक, शेयर और कमेंट बटन को ब्लॉक कर देगी। इन बटन्स के जरिए ही सोशल साइट यूजर्स का डेटा उनकी परमिशन के बिना ट्रैक करती हैं।
  • जबकि गूगल क्रोम ब्राउजर में ऐसा कोई फीचर नहीं है, जो ट्रैकिंग को ब्लॉक कर सके।
3. ग्रुप फेस टाइम
  • iOS 12 में एपल ने फेस टाइम में ग्रुप वीडियो कॉलिंग का फीचर्स भी ऐड किया है, जिसके जरिए अब एक बार में 32 लोगों से वीडियो कॉलिंग की जा सकती है।
  • इसके साथ ही वीडियो कॉलिंग करते समय जो यूजर बात कर रहा होगा, उसके फेस को हाईलाइट कर दिया जाएगा।
  • गूगल के एंड्रॉयड में इस तरह का कोई फीचर ही नहीं है।
4. फेस आईडी
  • एपल ने iOS 12 में दो फेस आईडी रिकॉर्ड करने का फीचर जोड़ा है। इसके जरिए अब एक यूजर अपनी दो फेस आईडी रिकॉर्ड कर सकता है।
गूगल में सिर्फ एक ही फेस आईडी रिकॉर्ड की जा सकती है।
5. इनबिल्ट क्यूआर कोड स्कैनर
  • iOS 12 में इनबिल्ट क्यूआर कोड स्कैनर दिया गया है।
  • एंड्रॉयड-पी में इसके लिए थर्ड पार्टी ऐप्स की जरुरत होगी।
6. ऑग्मेंटेड रियलिटी
  • iOS 12 में ऑग्मेंटेड रियलिटी (AR) टेक्नोलॉजी रहेगी, जो यूजर्स को वर्चुअल वर्ल्ड में भी रियल वर्ल्ड का फील कराएगी। एआर गेम्स में एपल ने मल्टीप्लेयर सपोर्ट दिया है।
  • एंड्रॉयड-पी में इस तरह का कोई फीचर्स है ही नहीं।
7. टंग डिटेक्शन
  • एपल ने iOS 12 में टंग डिटेक्शन का भी एक फीचर्स दिया है, जिससे यूजर्स अपने टंग एक्सप्रेशन को ऐड कर सकते हैं।
  • एंड्रॉयड-पी में इस तरह का ऑप्शन नहीं दिया गया है।
8. मेजर ऐप
  • iOS 12 में एक नई ऐप मेजर (Measure) भी रहेगी, जिससे यूजर्स ऑग्मेंटेड रियलिटी और कैमरा के जरिए ही रियल लाइफ ऑब्जेक्ट का माप यानी मेजरमेंट ले सकेंगे।
  • एंड्रॉयड-पी में गूगल की तरफ से ऐसा कोई फीचर या ऐप नहीं मिलेगा।
9. अपग्रेडेबल
  • आईफोन 5एस में भी iOS 12 अपडेट मिलेगा। कंपनी का कहना है कि नए ओएस के आने से पुराने आईफोन्स भी फास्ट परफॉर्म करेंगे।
  • गूगल का लेटेस्ट ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्रॉयड-पी ज्यादा पुराने फोन्स के लिए अपग्रेडेबल नहीं रहेगा।
10. मीमोजी
  • iOS 12 में यूजर्स को मीमोजी मिलेगी, जिसके जरिए यूजर्स अपने फेस का इमोजी बना सकते हैं।
  • वहीं एंड्रॉयड-पी में अभी इमोजी ही मिलेगी।

these 10 features of ios 12 which are not in google android p
these 10 features of ios 12 which are not in google android p
these 10 features of ios 12 which are not in google android p
these 10 features of ios 12 which are not in google android p
these 10 features of ios 12 which are not in google android p
these 10 features of ios 12 which are not in google android p
X
these 10 features of ios 12 which are not in google android p
these 10 features of ios 12 which are not in google android p
these 10 features of ios 12 which are not in google android p
these 10 features of ios 12 which are not in google android p
these 10 features of ios 12 which are not in google android p
these 10 features of ios 12 which are not in google android p
these 10 features of ios 12 which are not in google android p
Click to listen..