न्यूज़ रील

--Advertisement--

इन 7 तरह के लोगों को जरूर पीना चाहिए पाइनएप्पल का जूस, जानें क्या है वजह

डॉ अबरार मुल्तानी बताते हैं कि पाइनएप्पल ऐसा फ्रूट है जिसमें विटामिन, एंजाइम और एंटीऑक्सीडेंट एक साथ पाए जाते हैं।

Danik Bhaskar

Apr 13, 2018, 12:09 AM IST

यूटिलिटी डेस्क। गर्मियों में जूस खूब पिया जाता है। इसमें पाइनएप्पल के जूस लोगों की पसंद होता है। यह बजट में होने के साथ ही बेहद टेस्टी भी होता है। डॉ अबरार मुल्तानी बताते हैं कि पाइनएप्पल ऐसा फ्रूट है जिसमें विटामिन, एंजाइम और एंटीऑक्सीडेंट एक साथ पाए जाते हैं। ये हडि्डयों को मजबूत करने, इनडाइजेशन को ठीक करने में बहुत उपयोगी है। मीठा होने के बावजूद भी इसमें लो कैलोरीज होती है। इसमें इतने सारे गुण होते हैं कि ये कई बीमारियों को ठीक कर सकता है। इन 7 तरह के लोगों को तो पाइनएप्पल का जूस जरूर पीना ही चाहिए।

पेट की बीमारी वालों को
◆पाइनएप्पल के जूस में ब्रोमेलैन नाम का तत्व पाया जाता है, जिससे पेट में होने वाले कई रोगों से छुटकारा मिलता है। इसके जूस से पेट फुलने की समस्या से राहत मिलती है। इस जूस में एंजाइम्स पाया जाता है जो प्रोटीन को डाइजेस्ट करने में मदद करता है।

आगे की स्लाइड्स पर जानिए और किन लोगों को ये ज्यूस पीना चाहिए...

मोटोपे से पीड़ित लोगों को 
"◆ पाइनएप्पल जूस में वसा नहीं पाई जाती और कैलोरी भी कम होती है। इसे लगातार लेने से वजन कम होता है। 

 

आंखों के मरीजों को
 ◆पाइनएप्पल में पाए जाने वाले विटामिन एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन-ए हमारी आंखों के लिए बहुत लाभकारी होते हैं। इसके जूस को लगातार पिया जाता है, तो आंखों में होने वाली कई बीमारियां दूर हो जाती हैं।

 

स्किन प्रॉब्लम वालों को
◆ पाइनएप्पल में पाया जाने वाले विटामिन-सी और पोटेशियम त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इससे चेहरे पर मुंहासें, पींपल्स और काले धब्बों को कम करने में बहुत मदद मिलती है।

 

अस्थमा वालों को
◆ पाइनएप्पल में बीटा-कैरोटिन और विटामिन-ए भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इस जूस को पीने से अस्थमा का खतरा भी कम हो जाता है। 

 

अर्थाइटिस के मरीजों को 
इसके जूस में एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण होते हैं, जिससे अर्थराइटिस से होने वाले दर्द और सूजन में राहत मिलती है।

 

हार्ट पैसेंट्स को 
इस जूस में विटामिन -सी, बीटा-कैरोटिन पाया जाता है, जिससे ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद मिलती है। साथ ही हृदय रोग होने का खतरा भी कम हो जाता है।

Click to listen..