पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

तीन स्वीपिंग मशीनें आज से करेंगी शहर को साफ

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

8 मार्च से राजधानी की सड़कों की सफाई तीन मैकेनाइज्ड स्वीपिंग मशीनों से होगी। ये मशीने प्रतिदिन 125 किलोमीटर सड़क की सफाई करेंगी। शनिवार को मोरहाबादी स्थित बापू वाटिका के पास पूजा-अर्चना के बाद मेयर ने हरी झंडी दिखाकर स्वीपिंग मशीन काे रवाना किया।

मौके पर मेयर ने कहा कि फिलहाल रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक सभी प्रमुख सड़कों इन्हीं मशीनों से साफ की जाएंगी। यदि यह प्रयोग सफल रहा तो आगे गलियों में भी इसी मशीन से सफाई कराई जाएगी। उन्होंने बताया कि मैनुअल सफाई के दौरान डिवाइडर के बीच जमे धूल साफ नहीं हो पाते थे। इसलिए, इस मशीन से सफाई कराने का निर्णय लिया गया। उन्होंने कहा कि अब स्वीपिंग मशीन से सूक्ष्म धुल कण भी साफ हाे जाएंगे। डिप्टी मेयर संजीव विजयवर्गीय ने बताया कि मशीन से हाेनेवाली सफाई की सीसीटीवी कैमरे मॉनिटरिंग की जाएगी। इसके लिए निगम में कंट्रोल रूम बनाया गया है।

5 करोड़ की मशीनों पर हर माह 25 लाख खर्च

रांची नगर निगम ने करीब पांच कराेड़ रुपए में तीन स्वीपिंग मशीनों की खरीदारी की है। हालांकि, मशीनों की खरीदारी निगम ने की है या नगर विकास विभाग की एजेंसी सूडा ने, यह अफसरों ने नहीं बताया है। लेकिन, पांच कराेड़ की मशीन खरीदने के बाद भी प्रति माह करीब 25 लाख रुपए का भुगतान नगर निगम द्वारा लायंस सर्विसेज कंपनी काे किया जाएगा। यानी प्रति वर्ष करीब तीन कराेड़ रुपए कंपनी काे दिए जाएंगे। इस पर सवाल खड़े हाे रहे हैं। निगम के ही जनप्रतिनिधि इसमें गड़बड़ी की आशंका जता रहे हैं। क्याेंकि, निगम ने स्वीपिंग मशीन खरीदारी का मामला अभी तक उजागर नहीं किया है।

125 किमी सड़क पर रोज लगाएंगी झाड़ू

मोरहाबादी में मशीन का उद्घाटन करते मेयर व डिप्टी मेयर।
खबरें और भी हैं...