पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आज की द्रौपदी को दर्शाया **

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

कौन कहता है द्रौपदी असमर्थ है, सबल होना द्रोपदी का अर्थ है, द्रोपदी का नाम ही प्रतिरोध है... एेसे ही कुछ कथनों के बीच विपुल नायक के खास प्रस्तुति की शुरुआत होती है। इसमें वे आज की द्रोपदी काे नृत्य के माध्यम से प्रस्तुत किया। इससे पहले उन्हों अपने संबोधन में सभी को महिला दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा नारी अपने आप में शक्ति है। सौभाग्य है कि मैंने 50 से भी ज्यादा नारी शक्ति को मंच पर उतारा है।
खबरें और भी हैं...