--Advertisement--

आपके जीमेल का यूज करते हैं थर्ड पार्टी ऐप्स, सेटिंग में बदलाव कर करके सुरक्षित रख सकते हैं अपना अकाउंट

परिमिशन में बदलाव करने के बाद थर्ड पार्टी ऐप की एक्सेस को कर सकते हैं सीमित।

Danik Bhaskar | Jul 09, 2018, 06:33 PM IST

गैजेट डेस्क। पिछले दिनों वॉल स्ट्रीट जर्नल में छपी एक रिपोर्ट में इस बात का खुलासा किया गया था कि जीमेल (Gmail) की एक्सेस सेटिंग डेटा कंपनियों और थर्ड पार्टी ऐप डेवलपर्स को यूजर्स के ईमेल और प्राइवेट डिटेल्स देखने की इजाजत देती है। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि गूगल के पास ऐसे सैकड़ों थर्ड पार्टी सॉफ्टवेयर डेवलपर्स हैं, जिनको करोड़ों यूजर्स के ईमेल स्कैन करने की परमिशन है। इसके साथ ही ये भी कहा गया है कि कुछ खास मामलों में यूजर्स के ईमेल पढ़ने की परमिशन कंपनी के कर्मचारी को भी होती है। यहां पर हम आपको इन थर्ड पार्टी ऐप निर्माताओं से बचने का एक तरीका बता रहे हैं।

नीचे दिए गए कुछ स्टेप्स फॉलो करके आप इसे आसानी से कर सकते हैं-

पहला स्टेप- गूगल सिक्योरिटी पेज (https://myaccount.google.com/security-checkup/3) पर लॉग-इन करें। इस पेज पर आप हाल ही में अपने गूगल अकाउंट पर की गई एक्टिविटीज को देख सकते हैं। यहां पर लॉग-इन की गई डिवाइसों और लॉग-इन लोकेशन के साथ-साथ यहां से आप थर्ड पार्टी ऐप को आपके अकाउंट की इंफॉर्मेशन एक्सेस करने और न करने की अनुमति भी दे सकते हैं।

दूसरा स्टेप- अब इस पेज में नीचे की तरफ जाएं और थर्ड पार्टी एक्सेस वाले लिंक पर क्लिक करें। इस लिंक पर क्लिक करने पर आप आपके गूगल अकाउंट को एक्सेस करने वाले सभी ऐप्स को देख सकते हैं।

तीसरा स्टेप- इसके बाद जिन ऐप्स को आप गूगल अकाउंट ऐक्सेस करने की अनुमति नहीं देना चाहते हैं, उन्हें रिमूव कर दें और जिन ऐप्स की एक्सेस सीमित करना चाहते हैं उन पर क्लिक करके ऐप परिमिशन में बदलाव कर सकते हैं।

-वॉल स्ट्रीट जर्नल इस की रिपोर्ट के बाद गूगल ने एक ब्लॉग पोस्ट में कहा कि यूजर्स के संवेदनशील डेटा एक्सेस करने वाले थर्ड पार्टी ऐप की वह अच्छी तरह से जांच करता है। इसके साथ ही गूगल ने कहा है कि ऐप को इंस्टाल करने से पहले वह यूजर्स को ऐप द्वारा ली जाने वाली इंफॉर्मेशन की पूरी सूची दिखाता है।