Hindi News »Business» UK Regulator Slaps Rs 8 Crore Fine On London Branch Of Canara Bank

बिजनेस ब्रीफ: केनरा बैंक की लंदन ब्रांच पर 8 करोड़ का जुर्माना, 5 महीने के लिए डिपॉजिट पर रोक

मनी लॉन्ड्रिंग नियमों का पालन नहीं करने पर लगा फाइन

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jun 07, 2018, 12:02 PM IST

बिजनेस ब्रीफ: केनरा बैंक की लंदन ब्रांच पर 8 करोड़ का जुर्माना, 5 महीने के लिए डिपॉजिट पर रोक
नई दिल्ली. केनरा बैंक की लंदन ब्रांच पर यूके फाइनेंशियल सेक्टर रेग्युलेटर एफसीए ने 8,96,100 पाउंड (करीब 8 करोड़ रुपए) का जुर्माना लगाया है। 5 महीने के लिए नए ग्राहकों से डिपॉजिट लेने पर भी रोक लगा दी है। एंटी मनी लॉन्ड्रिंग नियमों की पालना नहीं करने पर ये कार्रवाई की गई है। नवंबर 2012 से जनवरी 2016 के बीच का ये मामला है। केनरा बैंक ने बीएसई फाइलिंग में जानकारी दी है कि एफसीए ने माना है कि बैंक के वरिष्ठ अधिकारियों ने जांच में पूरी मदद की। केनरा बैंक जांच जल्द पूरी करने के एग्रीमेंट के लिए तैयार हो गया। इसकी वजह से एससीए ने फाइन 30% घटा दिया नहीं तो जुर्माना राशि 11 करोड़ से ज्यादा और डिपॉजिट पर 7 महीने की रोक लग सकती थी।
बिजनेस ब्रीफ:आरबीआई बनाएगा पब्लिक क्रेडिट रजिस्ट्री
लोन डिफॉल्ट की पूरी जानकारी रखने के लिए आरबीआई, पब्लिक क्रेडिट रजिस्ट्री (पीसीआर) बनाएगा। आरबीआई ने इस संबंध में यशवंत एम देओस्थली की अध्यक्षता वाली टास्क फोर्स समिति की सिफारिशों को मंजूरी दे दी है। इसके तहत वित्तीय स्थिरता के लिए सभी तरह के लोन की जानकारियां रखी जाएंगी। आरबीआई का कहना है कि इकोनॉमी में क्रेडिट कल्चर को मजबूत करने के लिए पीसीआर की जरूरत है। बैंकों और दूसरे वित्तीय संस्थानों के लोन संबंधी सूचनाएं एक साथ उपलब्ध नहीं हो पाती। ऐसे में ये पता लगाना मुश्किल होता है कि एक व्यक्ति पर कितना लोन है। पब्लिक क्रेडिट रजिस्ट्री बनने के बाद सभी सूचनाएं एक जगह उपलब्ध हो सकेंगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: bijnes brif: kenraa bank ki london braanch par 8 karode ka jurmaanaa, 5 mhine ke liye dipojit par rok
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
Reader comments

More From Business

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×