दो साल का इंतजार हुआ खत्‍म, मई से एलडीए देगा मकानों पर पोजिशन / दो साल का इंतजार हुआ खत्‍म, मई से एलडीए देगा मकानों पर पोजिशन

एलडीए दो सालों से लंबित सरगम अपार्टमेंट के तहत बनने वाले मकानों पर आवंटियों को मई से कब्जा देना शुरु कर देगा।

Feb 14, 2015, 04:39 PM IST
एलडीए का कार्यालय। एलडीए का कार्यालय।
लखनऊ. एलडीए से सरगम और सृष्टि अपार्टमेंट में मकान बुक कराने वालों के लिए अच्‍छी खबर है। एलडीए दो सालों से लंबित सरगम अपार्टमेंट के तहत बनने वाले मकानों पर आवंटियों को मई से कब्जा देना शुरु कर देगा। राजधानी के कुर्सी रोड स्थित जानकीपुरम योजना के तहत सरगम, स्मृति और सृष्टि अपार्टमेंट बनाए जा रहे हैं। इसमें सरगम के दो ब्‍लॉक का काम लगभग पूरा हो गया है।
चीफ इंजीनियर ओपी मिश्रा ने बताया कि इन दो ब्‍लॉक में जितने भी आवंटियों को मकान आवंटित है। उन्हें मई से कब्जा देने की प्रकिया शुरु कर दी जाएगी। साथ ही उन्‍होंने कहा कि अभी यहां पर फिनिशिंग का काम पूरा किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि बाकी बचे ब्लाकों को भी जल्द से जल्द पूरे करने के निर्देश दिए गए हैं। इसको लेकर अभी दो दिन पहले सचिव ने दौरा भी किया था। इस दौरान उन्‍होंने जरुरी निर्देशों के साथ-साथ इस बात को प्राथमिकता के तौर पर कहा था कि जल्द से जल्द ब्लाकों के अधूरे कामों को पूरा किया जाए।
वहीं 650 फ्लैट वाले स्मृति अपार्टमेंट का काम 2011 के जून महीने से लेकर दिसंबर 2012 तक सिर्फ पांच फीसदी ही हुआ है। हालांकि किसान इन योजनाओं के मुआवजे के चलते विरोध कर रहे थे। एलडीए की उदासीनता भी इसके लिए जिम्मेदार थी कि दस महीने में सिर्फ पांच फीसदी ही अपार्टमेंट का काम हो सका। बताया गया कि काम पूरा न होने पर इसकी समय सीमा को जून 2013 से बढ़ाकर दिसंबर 2014 कर दिया गया, लेकिन काम फिर भी नहीं पूरा हो सका।
कार्य की धीमी रफ्तार को देखते हुए एलडीए ने इसे बनाने वाली मेसर्स मार्ग कंपनी को अल्टीमेटम भी दिया था। इसके बावजूद कार्य प्रगति पर कोई फर्क नहीं पड़ा। सृष्टि अपार्टमेंट की कहानी भी कुछ इससे अलग नहीं है। इस अपार्टमेंट का काम मई 2010 में शुरु हुआ था। अनुबंध के मुताबिक काम नवंबर 2014 में खत्म होना था, लेकिन यहां पर भी समयसीमा में काम नहीं हो सका। इसके बाद इसे बनाने वाली कंपनी को छह महीने का समय दिया था, लेकिन उसमें भी कंपनी काम पूरा नहीं कर सकी।
आगे पढ़‍िए अधर में पड़ी एलडीए की कई योजनाएं...
सृष्टि अपार्टमेंट। सृष्टि अपार्टमेंट।
अधर में पड़ी एलडीए की कई योजनाएं
 
साल 2013 में जब कंपनी को अल्टीमेटम दिया गया था तो काम में तेजी आई, लेकिन अभी तक कार्य पूरा नहीं हो सका। इसके चलते आवंटियों को कब्जा मिल सका। अधिकारी जल्‍द ही इन योजनाओं को पूरा करने की बात कह रहे हैं। आपको बता दें, एलडीए की कई और योजनाएं हैं, जो अब तक अधूरी पड़ी हैं। ज्यादातर योजनाएं किसानों और एलडीए के बीच विवाद की वजह से अधूरी पड़ी हैं।
 
बसंत कुंज योजना में भी अब तक लोगों को कब्जा नहीं मिल पाया है, जबकि इस योजना की शुरुआत 2001 में हुई थी। यहां पर किसान ज्यादा मुआवजे की मांग कर रहे थे। यही कुछ हाल सनराइज अपार्टमेंट का भी है। ये योजना साल 2006 में शुरु की गई थी। इस योजना में करीब 500 फ्लैट बनाए जाने थे, लेकिन इसमें भी एलडीए और किसानों के बीच विवाद चल रहा है।
X
एलडीए का कार्यालय।एलडीए का कार्यालय।
सृष्टि अपार्टमेंट।सृष्टि अपार्टमेंट।
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना