प्रेग्नेंसी के दौरान महिला की हो गई मौत, ऑपरेशन के जरिए डॉक्टर्स ने कराई सक्सेसफुल डिलिवरी, पति को समझ नहीं आ रहा था गम मनाए या खुशी

मृत महिला के कान में पति ने कही ऐसी बात कि लौट आई सांसें

dainikbhaskar.com

Mar 17, 2019, 05:55 PM IST
US Woman incredible story of survival during child Birth

फीनिक्स. अमेरिका में एक कपल के लिए खुशी का दिन अचानक मातम में बदल गया। वाइफ की दूसरी डिलिवरी का मौका था और सब कुछ नॉर्मल था। पर ऐन डिलिवरी के वक्त महिला की तबीयत बिगड़ गई। ऑपरेशन से बच्चे का जन्म तो हो गया पर महिला को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। तभी वाइफ को आखिरी बार गुडबाय कहने गए पति ने उसके कानों में बोला, "अगर तुम्हारी जिंदगी में कोई लड़ाई बची हो तो तुम लड़ो।" ये कहने के महज 24 घंटे बाद महिला ने आंखें खोल दीं।

डॉक्टरों ने बता दिया था क्लीनिकली डेड
- फीनिक्स के रहने वाले डॉज और मलेनिया अपने दूसरे बच्चे की नॉर्मल डिलिवरी की तैयारी में थे। लेबर पेन शुरू हुआ और मलेनिया को हॉस्पिटल ले जाया गया, लेकिन तभी उसकी तबीयत बिगड़ने लगी।
- मलेनिया एम्निऑटिक फ्लूड एम्बॉलिज्म कंडीशन से जूझ रही थीं। अचानक उसके दिल ने धड़कना बंद कर दिया। उसे इमरजेंसी केयर भेजा गया। वहां डॉक्टर्स ने उसे क्लीनिकली मृत घोषित कर दिया।
- डॉज ने बताया, "वाइफ को डेड करार देने के बाद डॉक्टर्स ने ऑपरेशन के जरिए बेटी की डिलिवरी कराई। डॉक्टर्स ने भी कह दिया था कि अगर वो किसी स्थिति में जिंदा भी हो जाती है तो उसका हार्ट और लंग बदलना पड़ेगा। इसके बाद भी वो जिंदगी भर डैमेज ब्रेन के साथ रहेगी। डॉक्टर्स लगातार उसे कृत्रिम तरीके से सांसें देने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन कुछ भी असर नहीं कर रहा था।"

गुडबाय मैसेज ने बदल दी कहानी
- डॉक्टर ने डॉज को कह दिया था कि अब उसे गुडबाय कहने का वक्त आ गया है। तभी वह अपनी वाइफ के पास आखिरी बार गुडबाय बोलने गया और उसके कानों में धीरे से कुछ शब्द कहे।
- इसके बाद ऐसा लगा कि जैसे इन शब्दों ने मलेनिया को अलग ही ताकत दे दी। करीब 24 घंटे बाद मलेनिया ने अपनी आंखें खोल दीं।
- इसके बाद डॉज ने उसे बेटी ग्रैबिएला की फोटो भी दिखाई, जिसे उसने क्लीनिकली डेड हालत में जन्म दिया था। ये सब हॉस्पिटल स्टाफ और फैमिली के लोगों के लिए चौंकाने वाला था।
- डॉज ने कहा कि उसकी रिकवरी किसी मिरैकल से कम नहीं थी। उसने डॉक्टरों की उन बातों को भी झूठा साबित कर दिया, जिसमें हार्ट और लंग ट्रांसप्लांट की बात कही गई थी।

क्या होता है इस कंडीशन में ?

एम्निऑटिक फ्लूड एम्बॉलिज्म प्रेग्नेंसी के दौरान होने वाली कॉम्पलिकेशन है, जिसमें जान जाने का खतरा होता है। ये लेबर में जाने या फिर बच्चे के जन्म के तुरंत बाद बनती है। इसमें एम्निऑटिक फ्लूड पेट में पीड़ित के ब्लड में घुल जाता है। इसका असर हार्ट और लंग पर पड़ता है और ये काम करना बंद कर देते हैं।

X
US Woman incredible story of survival during child Birth
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना