--Advertisement--

अब गूगल पिक्सल की नहीं है जरुरत, इन स्मार्टफोन्स पर भी ट्राई कर सकते हैं Android P का Beta वर्जन

Android P लॉन्च होने में अभी वक्त है, लेकिन डेवलपर्स और एडवांस्ड यूजर्स अभी से इसका प्रिव्यू ले सकते हैं।

Danik Bhaskar | Jul 11, 2018, 12:23 PM IST
एंड्रॉयड P का बीटा वर्जन को अब कर सकते हैं ट्राई। एंड्रॉयड P का बीटा वर्जन को अब कर सकते हैं ट्राई।

गैजेट डेस्कl अभी तक एंड्रॉयड का नया वर्जन गूगल अपने नए फोन के साथ ही लांच करता था। इसके बाद इसका अपडेट गूगल के बनाए गए दूसरे मॉडल को मिलता था। बाकी के दूसरे डिवाइस इसके बाद ही अपडेट पाते थे। इस बार गूगल ने अपने इस ट्रेंड में बदलाव किया है। इस बार गूगल के पिक्सल यूजर्स के साथ कुछ दूसरी कंपनियों के यूजर्स भी Android P के बीटा वर्जन की टेस्टिंग कर सकते हैं। अभी यह वर्जन टेस्टिंग से गुजर रहा है, ऐसे में यह आपके फोन की क्षमता को प्रभावित कर सकता है। यहां पर हम आपको ऐसे स्मार्टफोन के बारे में बता रहे हैं, जिनपर आप Android P की टेस्टिंग कर सकते हैं।

1. गूगल पिक्सल और पिक्सल XL : गूगल ने अपने इन दोनों फोन को साल 2016 में लॉन्च किया गया था। ये क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 821 प्रोसेसर के साथ मार्केट में उतारे गए थे। ये दोनों फोन अभी भी एंड्रॉयड यूजर्स के बीच काफी पॉपुलर हैं। ये Android P का बीटा अपडेट पाने वालों पुराने फोन में से एक हैं।

2. गूगल पिक्सल 2 और गूगल पिक्सल 2XL : गूगल ने इन दोनों मॉडल्स को पिछले साल लॉन्च किया गया था। ये फोन गूगल की तरफ से लॉन्च किए गए प्रीमियम फोन हैं। इनमें क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 835 वाला जोरदार प्रोसेसर लगा हुआ है। ऐप डेवलपर्स के बीच ये फोन काफी पॉपुलर हैं। अगर आपके पास इनमें से कोई भी फोन है तो आप Android P के बीटा वर्जन को टेस्ट कर सकते हैं।

3. इसेंशियल फोन : स्मार्टफोन मार्केट में अभी तक इसेंसियल फोन को बहुत ज्यादा सफलता नहीं मिल पाई है। इसके बावजूद खूबसूरत डिजाइन मिड प्राइस रेंज वाला यह फोन भी Android P के बीटा प्रोग्राम का हिस्सा है। यह फोन पिक्सल 2 और पिक्सल 2XL की ही तरह क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 835 चिपसेट पर आधारित है।

4. वन प्लस 6 : चीन की प्रसिद्ध स्मार्टफोन निर्माता कंपनी वन प्लस ने अपने इस मॉडल के लॉन्च होने से पहले ही घोषणा कर दी थी कि यह फोन भी Android P के बीटा डेवलपमेंट प्रोग्राम में भाग लेगा। 8GB रैम और क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 845 प्रोसेसर के साथ आ रहा यह फोन Android P डेवलपमेंट प्रोग्राम में भाग लेने वाला सबसे पावरफुल फोन है।

5. सोनी एक्सपीरिया XZ2 : यह सोनी का फ्लैगशिप स्मार्टफोन है और अभी भारत में उपलब्ध भी नहीं है। यह फोन क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 845 प्रोसेसर पर चलता है। Android P के बीटा प्रोग्राम को सपोर्ट करने वाला पहला हाई डायनमिक रेंज (HDR) वाला फोन है।

6. शियोमी Mi MIX 2S : क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 845 पर चलने वाला यह पहला फोन है। इसकी स्क्रीन इसके ऊपरी किनारे को पूरी तरह से कवर करती है, जो इसे काफी आकर्षक लुक देता है। इसके निचले हिस्से पर लगा हुआ फ्रंट कैमरा इसे और भी खूबसूरत बनाता है। अगर आपके पास यह बेहतरीन फोन है, तो आप इस पर Android P का बीटा वर्जन ट्राई कर सकते हैं।

7. नोकिया 7 प्लस : हाई लेवल क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 800 सीरीज वाले प्रोसेसर के अलावा कुछ दूसरे स्मार्टफोन्स भी हैं, जो क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 660 चिपसेट पर आधारित हैं और Android P के बीटा प्रोग्राम को सपोर्ट करते हैं। नोकिया 7 प्लस भी इसी श्रेणी का फोन है, जो Android P के बीटा प्रोग्राम को सपोर्ट करता है। बीटा प्रोग्राम को सपोर्ट करने वाला एंड्रॉयड वन श्रेणी का पहला और एकमात्र फोन है।

8. ओपो R15 Pro : स्नैपड्रैगन 660 चिपसेट वाले ओपो के इस मॉडल की स्क्रीन और डिजाइन वन प्लस 6 के जैसी ही है। यह फोन चीनी मार्केट में काफी फेमस है। इसमें 6.28 इंच की एमॉलेड स्क्रीन लगी हुई है। यूजर्स इस फोन पर भी Android P बीटा प्रोग्राम को ट्राई कर सकते हैं।

9. वीवो X21/X21 UD : वीवो का यह मॉडल इस श्रेणी में शामिल सभी फोनों से अलग है। अंडर डिस्प्ले फिंगर प्रिंट सेंसर सपोर्ट करने वाला यह विश्व का पहला स्मार्टफोन है। इस फोन पर डेवलपर्स के लिए यह देखना आकर्षक होगा कि अंडर-डिस्प्ले फिंगरप्रिंट सेंसिंग तकनीक एंड्रॉइड के नवीनतम संस्करण के साथ कैसे काम करेगी। इसलिए फोन Android P बीटा प्रोग्राम के लिए योग्य है।

गूगल पिक्सल 2 पर भी की जा सकती है टेस्टिंग। गूगल पिक्सल 2 पर भी की जा सकती है टेस्टिंग।
वन प्लस ने पहले ही कर दी थी घोषणा। वन प्लस ने पहले ही कर दी थी घोषणा।
एंड्रॉयड P टेस्टिंग को सपोर्ट करने वाला एंड्रॉयड वन सीरीज का पहला फोन। एंड्रॉयड P टेस्टिंग को सपोर्ट करने वाला एंड्रॉयड वन सीरीज का पहला फोन।