--Advertisement--

9th का एग्जाम दे रही है ये एक्ट्रस, बचपन में किया था कैटरीना कैफ का रोल

चंडीगढ़ पहुंची चाइल्ड एक्ट्रेस टुनिशा शर्मा ने भास्कर से बातचीत में फिल्म इंडस्ट्री के अनुभवों शेयर किया।

Dainik Bhaskar

Mar 24, 2017, 11:32 PM IST
टुनिशा बोलीं- स्कूल की क्लास से फिल्म की स्क्रीन तक। इस सफर को तय करने में एक दिलचस्प कहानी है। टुनिशा बोलीं- स्कूल की क्लास से फिल्म की स्क्रीन तक। इस सफर को तय करने में एक दिलचस्प कहानी है।
चंडीगढ़। 15 साल की चाइल्ड एक्ट्रेस टुनिशा शर्मा चंडीगढ़ से हैं। शहर पहुंची टुनिशा ने भास्कर से बातचीत में फिल्म इंडस्ट्री के अनुभव शेयर किया। वे बोलीं, 9वीं क्लास के एग्जाम चल रहे हैं, लेकिन आजकल शूटिंग में इतना व्यस्त हूं कि एग्जाम भी मुंबई से ही देने की सोच रही हूं। इसके लिए आजकल स्कूल से बातचीत चल रही है। बता दें कि टुनिशा फिल्म ने फितूर में कैटरीना कैफ के बचपन का रोल किया था। यह फिल्म फरवरी 2016 में रिलीज हुई थी। इस फिल्म में किया था पहला रोल...
- टुनिशा बोलीं- स्कूल की क्लास से फिल्म की स्क्रीन तक। इस सफर को तय करने में एक दिलचस्प कहानी है। फिल्म फितूर के लिए मुंबई का एक प्रोडक्शन हाउस कैटरीना कैफ के बचपन से मिलता-जुलता चेहरा तलाश रहे थे। ऐसे में मैंने अपना स्क्रीन टेस्ट दिया, जो उन्हें पसंद आया।
- बस ये था मेरा पहला रोल जिसके बाद कैटरीना की एक अौर फिल्म में भी मुझे कैटरीना के बचपन का किरदार निभाने का मौका मिला। दो बार कैटरीना कैफ का बचपन निभाने के बाद लोगों को यही लगा कि मुझे लुक्स की वजह से काम मिल रहा है। लेकिन इसके बाद कहानी-2 में भी मुझे काम करने का मौका मिला। अब एक अन्य सीरियल शेर-ए- पंजाब महाराजा रणजीत सिंह में कार्य कर रही हूं।
- टुनिशा बोलीं- एक्टिंग में ही आगे बढ़ना चाहती हूं, क्योंकि ये मेरे पिता का सपना था। वो चाहते थे कि मैं मुंबई जाऊं और अभिनय करूं। लेकिन सपना पूरा होने से पहले ही उनका देहांत हो गया। उनके देहांत के बाद ही मुझे लगा कि मैं एक्टिंग में ही आगे बढ़ूं।
मुंबई में चाइल्ड आर्टिस्ट को लेकर नियम तय हैं...
- शहर लौटी तो कई पुराने दोस्त मिले। फिल्म करने के बाद आपको एक पहचान मिलती है, इससे खुश हूं। मैंने एक्टिंग को लेकर कोई कोर्स नहीं किया था। फिर भी कैमरा के सामने काफी विश्वास से खुद को किरदार में ढालती हूं। मैं ऐसे ही अभिनय को सीखना चाहती हूं।
- मुंबई में चाइल्ड आर्टिस्ट को लेकर नियम तय हैं। 12 घंटे की शूट होती है, ये काफी समय होता है, खाली समय में पढ़ लेती हूं। सीरियल से ज्यादा मजा मुझे फिल्म में काम करने में आया हैं अौर इससे मेरा हौसला भी बढ़ा। मुझे खुशी हुई कि कैटरीना कैफ, सिद्धार्थ मल्होत्रा आदि से मिलने का मौका मिला।
आगे की स्लाइड्स में देखें चाइल्ड एक्ट्रेस टुनिशा की फोटोज...
फिल्म फितूर के लिए मुंबई का एक प्रोडक्शन हाउस कैटरीना कैफ के बचपन से मिलता-जुलता चेहरा तलाश रहे थे। ऐसे में मैंने अपना स्क्रीन टेस्ट दिया, जो उन्हें पसंद आया। फिल्म फितूर के लिए मुंबई का एक प्रोडक्शन हाउस कैटरीना कैफ के बचपन से मिलता-जुलता चेहरा तलाश रहे थे। ऐसे में मैंने अपना स्क्रीन टेस्ट दिया, जो उन्हें पसंद आया।
बस ये था मेरा पहला रोल जिसके बाद कैटरीना की एक अौर फिल्म में भी मुझे कैटरीना के बचपन का किरदार निभाने का मौका मिला। बस ये था मेरा पहला रोल जिसके बाद कैटरीना की एक अौर फिल्म में भी मुझे कैटरीना के बचपन का किरदार निभाने का मौका मिला।
दो बार कैटरीना कैफ का बचपन निभाने के बाद लोगों को यही लगा कि मुझे लुक्स की वजह से काम मिल रहा है। दो बार कैटरीना कैफ का बचपन निभाने के बाद लोगों को यही लगा कि मुझे लुक्स की वजह से काम मिल रहा है।
इसके बाद कहानी-2 में भी मुझे काम करने का मौका मिला। इसके बाद कहानी-2 में भी मुझे काम करने का मौका मिला।
अब एक अन्य सीरियल शेर-ए- पंजाब महाराजा रणजीत सिंह में कार्य कर रही हूं। अब एक अन्य सीरियल शेर-ए- पंजाब महाराजा रणजीत सिंह में कार्य कर रही हूं।
टुनिशा बोलीं- एक्टिंग में ही आगे बढ़ना चाहती हूं, क्योंकि ये मेरे पिता का सपना था। टुनिशा बोलीं- एक्टिंग में ही आगे बढ़ना चाहती हूं, क्योंकि ये मेरे पिता का सपना था।
सपना पूरा होने से पहले ही उनका देहांत हो गया। उनके देहांत के बाद ही मुझे लगा कि मैं एक्टिंग में ही आगे बढ़ूं। सपना पूरा होने से पहले ही उनका देहांत हो गया। उनके देहांत के बाद ही मुझे लगा कि मैं एक्टिंग में ही आगे बढ़ूं।
शहर लौटी तो कई पुराने दोस्त मिले। फिल्म करने के बाद आपको एक पहचान मिलती है, इससे खुश हूं। शहर लौटी तो कई पुराने दोस्त मिले। फिल्म करने के बाद आपको एक पहचान मिलती है, इससे खुश हूं।
मुंबई में चाइल्ड आर्टिस्ट को लेकर नियम तय हैं। मुंबई में चाइल्ड आर्टिस्ट को लेकर नियम तय हैं।
X
टुनिशा बोलीं- स्कूल की क्लास से फिल्म की स्क्रीन तक। इस सफर को तय करने में एक दिलचस्प कहानी है।टुनिशा बोलीं- स्कूल की क्लास से फिल्म की स्क्रीन तक। इस सफर को तय करने में एक दिलचस्प कहानी है।
फिल्म फितूर के लिए मुंबई का एक प्रोडक्शन हाउस कैटरीना कैफ के बचपन से मिलता-जुलता चेहरा तलाश रहे थे। ऐसे में मैंने अपना स्क्रीन टेस्ट दिया, जो उन्हें पसंद आया।फिल्म फितूर के लिए मुंबई का एक प्रोडक्शन हाउस कैटरीना कैफ के बचपन से मिलता-जुलता चेहरा तलाश रहे थे। ऐसे में मैंने अपना स्क्रीन टेस्ट दिया, जो उन्हें पसंद आया।
बस ये था मेरा पहला रोल जिसके बाद कैटरीना की एक अौर फिल्म में भी मुझे कैटरीना के बचपन का किरदार निभाने का मौका मिला।बस ये था मेरा पहला रोल जिसके बाद कैटरीना की एक अौर फिल्म में भी मुझे कैटरीना के बचपन का किरदार निभाने का मौका मिला।
दो बार कैटरीना कैफ का बचपन निभाने के बाद लोगों को यही लगा कि मुझे लुक्स की वजह से काम मिल रहा है।दो बार कैटरीना कैफ का बचपन निभाने के बाद लोगों को यही लगा कि मुझे लुक्स की वजह से काम मिल रहा है।
इसके बाद कहानी-2 में भी मुझे काम करने का मौका मिला।इसके बाद कहानी-2 में भी मुझे काम करने का मौका मिला।
अब एक अन्य सीरियल शेर-ए- पंजाब महाराजा रणजीत सिंह में कार्य कर रही हूं।अब एक अन्य सीरियल शेर-ए- पंजाब महाराजा रणजीत सिंह में कार्य कर रही हूं।
टुनिशा बोलीं- एक्टिंग में ही आगे बढ़ना चाहती हूं, क्योंकि ये मेरे पिता का सपना था।टुनिशा बोलीं- एक्टिंग में ही आगे बढ़ना चाहती हूं, क्योंकि ये मेरे पिता का सपना था।
सपना पूरा होने से पहले ही उनका देहांत हो गया। उनके देहांत के बाद ही मुझे लगा कि मैं एक्टिंग में ही आगे बढ़ूं।सपना पूरा होने से पहले ही उनका देहांत हो गया। उनके देहांत के बाद ही मुझे लगा कि मैं एक्टिंग में ही आगे बढ़ूं।
शहर लौटी तो कई पुराने दोस्त मिले। फिल्म करने के बाद आपको एक पहचान मिलती है, इससे खुश हूं।शहर लौटी तो कई पुराने दोस्त मिले। फिल्म करने के बाद आपको एक पहचान मिलती है, इससे खुश हूं।
मुंबई में चाइल्ड आर्टिस्ट को लेकर नियम तय हैं।मुंबई में चाइल्ड आर्टिस्ट को लेकर नियम तय हैं।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..