गीता की कविताओं में विषयों की विविधता: अशोक

News - काव्य संग्रह में 103 कविताएं शब्दों के चयन की हुई तारीफ लोकार्पित संग्रह में 103 कविताएं हैं। इसका प्रकाशन एबीएस...

Jan 16, 2020, 07:40 AM IST
Ranchi News - variety of subjects in geeta39s poems ashoka
काव्य संग्रह में 103 कविताएं

शब्दों के चयन की हुई तारीफ

लोकार्पित संग्रह में 103 कविताएं हैं। इसका प्रकाशन एबीएस पब्लिकेशन, वाराणसी ने किया है। मंच की राष्ट्रीय सचिव सारिका भूषण ने स्वागत वक्तव्य दिया। संचालन संगीता कुंजारा टाक ने किया।

कल्चरल रिपोर्टर | रांची

वरिष्ठ साहित्यकार डॉ. अशोक प्रियदर्शी ने कहा है कि गीता चौबे की कविताओं में विषयों की विविधता है। प्रचुर मात्रा में लिखी जा रही कविताओं की दुनिया से उनकी यही खासियत उन्हें अलग खड़ा करती है। वह बुधवार को गीता चौबे के पहले काव्य संग्रह क्यारी भावनाओं की, के लोकार्पण अवसर पर बोल रहे थे। इसका आयोजन महिला काव्य मंच की झारखंड इकाई ने इस्पात क्लब में किया था। माैके पर डॉ. माया प्रसाद ने माहवारी, कर्णफूल की तल्ली, गौरैया आदि शब्दों के चयन पर कवयित्री की तारीफ की। वरिष्ठ कवि-लेखक विद्याभूषण ने कवयित्री की सृजनशीलता की बधाई देते हुए संतुलित रहने की सलाह दी। कार्यक्रम में रश्मि शर्मा, सोनल थेपडा, रेनु झा, रेणुबाला धार, संगीता सहाय, नरेश बंका, सदानन्द सिंह यादव, गीता सिन्हा गीतांजलि, रीता गुप्ता, शालिनी नायक, प्रतिमा त्रिपाठी, सुरेंद्र कुमार चौबे, राजेन्द्र प्रसाद, रंजना वर्मा, मुनमुन ढाली समेत कई साहित्यप्रेमी शामिल हुए।

इस्पात क्लब में काव्य संग्रह ‘क्यारी भावनाओं की’ का लोकार्पण

X
Ranchi News - variety of subjects in geeta39s poems ashoka
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना