• Home
  • Jeevan Mantra
  • Jyotish
  • Rashi Aur Nidaan
  • vastu tips for curtains in hindi, tips for bathroom in hindi, बाथरूम के बाहर लगाएं सफेद या नीला पर्दा, अलग-अलग जगहों के लिए शुभ होते हैं अलग-अलग रंगों के पर्दे
--Advertisement--

बाथरूम के बाहर लगाएं सफेद या नीला पर्दा, अलग-अलग जगहों के लिए शुभ होते हैं अलग-अलग रंगों के पर्दे

वास्तु में बताई गई बातों का ध्यान रखने से हमारी परेशानियां दूर हो सकती हैं।

Danik Bhaskar | May 02, 2018, 04:47 PM IST

रिलिजन डेस्क। अगर आप घर में वास्तु के नियमों का पालन करते हैं तो बहुत सी परेशानियों से बच सकते हैं। वास्तु सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाता है और नकारात्मकता को खत्म करता है। जिन में वास्तु दोष होते हैं, उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ता है। साथ ही, किसी भी काम में आसानी से सफलता नहीं मिल पाती है। वास्तु शास्त्र में ये भी बताया गया है कि घर के किस हिस्से में किस रंग के पर्दे लगाना चाहिए। बाथरूम के लिए सफेद या नीले पर्दे लगाना चाहिए। यहां जानिए उज्जैन के वास्तुशास्त्री पं. दयानंद शास्त्री के अनुसार पर्दों से जुड़ी खास बातें...

सकारात्मकता को बढ़ाते हैं पर्दे

घर की सुंदरता बढ़ाने के लिए दीवारों के रंग और पर्दे खास भूमिका निभाते हैं। अलग-अलग रंग के पर्दे घर को खूबसूरत बनाते हैं, साथ ही, घर में पॉजिटिव एनर्जी बनाए रखने में भी मदद करते हैं। जानें किस जगह कैसे पर्दे लगाएं...

1. सबसे पहले ये बात ध्यान रखें कि पर्दे हमेशा दो परतों वाले लगाना चाहिए।

2. बेडरूम में मानसिक शांति और रिश्तों में प्रेम बनाए रखने के लिए गुलाबी, आसमानी या हल्के हरा रंग की पुताई करवा सकते हैं।

3. अगर पूर्व दिशा में कमरा हो तो हरे रंग के पर्दे बेहतर रहते हैं।

4. यदि पर्दे पश्चिम दिशा के कमरे में लगाने हैं तो सफेद पर्दे लगाना ठीक रहता है।

5. उत्तर दिशा के कमरे में नीले पर्दे लगाने चाहिए।

6. शौचालय और स्नानगृह के लिए सफेद या हल्के नीले पर्दे शुभ माने गए हैं।

7. बैठक कक्ष या ड्राइंग रूम में क्रीम, सफेद या भूरे रंग के पर्दे लगाना चाहिए।

8. अगर कमरा दक्षिण दिशा में है तो कमरा हो तो लाल पर्दे उपयुक्त रहते हैं।

9. रसोई घर के लिए लाल और नारंगी पर्दे शुभ माने गए हैं।