--Advertisement--

Success चाहिए तो अपने ऑफिस की टेबल पर ना करें ये गलतियां

कहीं आपकी वर्किंग टेबल पर कोई ऐसी गलती तो नहीं हो रही है जो आपको हर बार सफलता से दूर कर रही हो।

Danik Bhaskar | Apr 23, 2018, 11:42 AM IST

रिलिजन डेस्क. बढ़ते कॉम्पीटिशन और वर्कलोड के दौर में सफलता बहुत मुश्किल होती जा रही है। आपको अपने ऑफिस में वैसी सफलता नहीं मिलती, जिसके आप हकदार हैं तो अपनी कमजोरियों के साथ इस बात पर भी फोकस करना चाहिए कि कहीं आपकी वर्किंग टेबल पर कोई ऐसी गलती तो नहीं हो रही है जो आपको हर बार सफलता से दूर कर रही हो। कई बार इस बात को लोग नजरअंदाज कर जाते हैं कि जिस जगह बैठकर वो काम कर रहे हैं वो कैसी है। अगर आप अपनी वर्किंग टेबल को गौर से देखेंगे तो पाएंगे कि कुछ छोटी-छोटी बातें ऐसी हैं जो आपकी सफलता में रोड़े अटका रही है।

अपनी वर्किंग टेबल को ऐसे मैंटेन करें कि वो आपकी सफलता में सहयोगी हो। अक्सर लोग इस बात को भूल जाते हैं कि वो जिस जगह बैठकर काम कर रहे हैं उस जगह का प्रभाव भी उन पर पड़ता है। ज्योतिषाचार्य और वास्तुविद पं. आनंद व्यास के मुताबिक वास्तु शास्त्र में हर छोटी से छोटी जगह इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वो हमारे अनुकूल हो। अगर कोई जगह भी थोड़ा दोष हो तो वो सफलता में बाधा बनता है। जहां आप काम करते हैं, वहां से आपके घर में लक्ष्मी का आगमन होता है। लक्ष्मी वहां रहती हैं जहां दोष ना हो। अगर हम ऑफिस के साथ साथ अपनी वर्किंग टेबल का भी ध्यान रखें तो हो सकता है कि हमारी सफलता का रास्ता ज्यादा आसान हो जाए।

ये ध्यान रखें अपनी वर्किंग टेबल पर

टेबल के कोने गोल ना हो…

अपनी वर्किंग टेबल और मीटिंग टेबल को लेकर हमेशा ध्यान रखें कि उनके कोने गोलाई में कटे हुए ना हों, चौकोर हो। गोल कोने वाली टेबल पर किए गए निर्णय हमेशा घूमते रहते हैं, कभी अमल नहीं हो पाते।

धूल ना जमने दें

टेबल पर धूल ना जमने दें। वास्तु में धूल को सबसे बड़ा कारण माना जाता है असफलता का। अगर आपकी टेबल पर बार-बार धूल जमती है तो ये संकेत है कि आपको फ्यूचर में सफलता को लेकर भारी संघर्ष करना होगा।

फालतू चीजें हटा दें

वर्किंग टेबल पर कभी फालतू कागजों और फाइलों का ढेर ना लगने दें। टेबल को साफ और खाली रखें। जो काम के डॉक्यूमेंट्स हैं वो ही रखें, बाकी चीजें हटा दें।

रंगों का चयन सावधानी से करें

अपनी टेबल के सामने वाले बोर्ड पर रंग को लेकर ध्यान रखें। कोई ऐसा रंग ना चुनें जो आपके काम के साथ मेल ना खाता हो। जैसे अगर आप अकाउंटेंसी से जुड़ा काम करते हैं तो कभी लाल, नीला या काला रंग अपनी टेबल पर ना रखें। हरा रंग रखें, अकाउंट्स का कारक ग्रह बुध है और ये हरे रंग का होता है। ये आपकी सफलता को आगे बढ़ाने में मदद करता है। ऐसे ही हर प्रोफेशन का एक रंग होता है। जब भी कोई रंग चुनना हो तो किसी विशेषज्ञ से सलाह जरूर लें।

टेबल पर पैर ना रखें

अपने काम करने की टेबल पर कभी पैर ना रखें। ये आपकी टेबल की पॉजीटिव एनर्जी को खत्म कर देता है। हमेशा ध्यान रखें कि टेबल पर जूते भी ना लगें।

टूट-फूट का ध्यान रखें

अगर टेबल में कोई टूट-फूट हो गई हो तो उसे फौरन सुधरवा लें या बदल दें। टूटी टेबल पर काम ना करें। इससे आपका फोकस बिगड़ता है और काम के प्रति एकाग्रता भंग होती है।