Hindi News »Business» Vijay Mallya Ed Chargesheet Property Attached

माल्या की नौ हजार करोड़ की संपत्तियां जब्त करने की तैयारी, ईडी ने दाखिल की नई चार्जशीट

चार्जशीट में कहा गया है कि माल्या ने आरसीबी और फोर्स इंडिया की मदद से की मनी लॉन्ड्रिंग की।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jun 19, 2018, 02:03 PM IST

  • माल्या की नौ हजार करोड़ की संपत्तियां जब्त करने की तैयारी, ईडी ने दाखिल की नई चार्जशीट
    +1और स्लाइड देखें
    माल्या के खिलाफ दूसरी चार्जशीट में 6,027 करोड़ की धोखाधड़ी का जिक्र है। -फाइल

    मुंबई. बैंकों का नौ हजार करोड़ रुपए से अधिक का कर्ज लौटाए बिना देश छोड़कर भागे शराब कारोबारी विजय माल्या के खिलाफ सोमवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने नई चार्जशीट दाखिल की। माल्या, उससे जुड़ी दो कंपनियों और अन्य लोगों पर बैंकों के कन्सोर्टियम के साथ 6,027करोड़ रुपए से अधिक की धोखाधड़ी के लिए मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप लगाया गया है। माल्या और उसकी कंपनियों ने बैंकों के समूह से यह रकम 2005-2010 के दौरान ली थी।

    इस चार्जशीट में माल्‍या की किंगफिशर एयरलाइंस, यूनाइटेड ब्रेवरीज होल्डिंग लिमिटेड समेत कई अन्‍य नाम हैं। इस चार्जशीट के आधार पर ईडी भगोड़ा आर्थिक अपराधी अध्यादेश के तहत माल्या और उसकी कंपनियों की नौ हजार करोड़ रुपए से अधिक की संपत्तियां तुरंत जब्त करने के लिए कोर्ट से इजाजत मांगेगी।

    पहली चार्जशीट आईडीबीआई लोन फर्जीवाड़े से जुड़ी थी

    ईडी ने पिछले साल माल्‍या के खिलाफ पहली चार्जशीट फाइल की थी। इसमें आईडीबीआई बैंक से लिए गए 900 करोड़ रुपए के लोन में फर्जीवाड़े का आरोप है। यह लोन किंगफिशर एयरलाइंस के लिए लिया गया था। माल्या को वापस लाने के लिए भारत सरकार लगातार कोशिश कर रही है। माल्या के खिलाफ ब्रिटेन में भी मुकदमे चल रहे हैं। हाल ही में उसे एक मामले में गिरफ्तार भी किया गया था, लेकिन बाद में छोड़ दिया गया था।कुछ दिन पहले ही ब्रिटेन की एक अदालत ने माल्या से कहा था कि वह बैंकों को 2 लाख पौंड चुकाएं। कोर्ट ने कहा था कि कानूनी लड़ाई के दौरान बैंकों ने बड़ी रकम खर्च की है और इसकी भरपाई विजय माल्या करें।

  • माल्या की नौ हजार करोड़ की संपत्तियां जब्त करने की तैयारी, ईडी ने दाखिल की नई चार्जशीट
    +1और स्लाइड देखें
    पहली चार्जशीट आईडीबीआई लोन से जुड़ी थी। यह लोन किंगफिशर एयरलाइन के लिए हासिल किया गया था। -फाइल
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Business

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×