Hindi News »Business» Vodafone Idea Merger Approved By DoT

वोडाफोन-आइडिया के मर्जर को दूरसंचार विभाग की सशर्त मंजूरी: सूत्र; वोडाफोन को 3,926 करोड़ नकद देने होंगे

दूरसंचार विभाग ने 3,342 करोड़ रुपए की बैंक गारंटी भी मांगी।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jul 09, 2018, 07:08 PM IST

वोडाफोन-आइडिया के मर्जर को दूरसंचार विभाग की सशर्त मंजूरी: सूत्र; वोडाफोन को 3,926 करोड़ नकद देने होंगे
  • वोडाफोन-आइडिया लिमिटेड बनने के बाद पहले ही दिन से देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी होगी
  • ये सबसे ज्यादा 39.01% मोबाइल सब्सक्राइबर मार्केट शेयर वाली कंपनी होगी
  • नंबर दो (वोडाफोन) और नंबर तीन (आइडिया) मिलकर नंबर-1 कंपनी (वोडाफोन आइडिया लिमिटेड) बनाएंगी

नई दिल्ली. दूरसंचार विभाग ने वोडाफोन इंडिया और आइडिया के मर्जर को सशर्त मंजूरी दे दी है। न्यूज एजेंसी के सूत्रों के मुताबिक विभाग ने आइडिया सेल्युलर से वोडाफोन पर बकाया स्पेक्ट्रम चार्ज के तौर पर 3,926 रुपए की मांग की है। साथ ही 3,342 करोड़ रुपए की बैंक गारंटी मांगी है। इस डील के बाद नई कंपनी का नाम वोडाफोन आइडिया लिमिटेड प्रस्तावित है जो देश की सबसे बड़ी मोबाइल सर्विस ऑपरेटर कंपनी बन जाएगी। जिसकी वैल्यू 1.5 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा होगी। ये सबसे ज्यादा 39% मोबाइल सब्सक्राइबर मार्केट शेयर वाली कंपनी होगी। आइडिया और वोडाफोन पर इस वक्त करीब 1.15 लाख करोड़ रुपए का कर्ज है।

भारती एयरटेल फिलहाल 27.44% मोबाइल सब्सक्राइबर मार्केट शेयर के साथ सबसे बड़ी कंपनी है। मर्जर के बाद वोडाफोन-आइडिया 39.01% (19.74%+19.27%) मार्केट शेयर और करीब 42 करोड़ ग्राहकों के साथ देश की सबसे बड़ी मोबाइल सर्विस ऑपरेटर कंपनी बन जाएगी।

कंपनीमार्केट शेयरग्राहक संख्या
भारती एयरटेल27.44%29.57 करोड़
वोडाफोन19.74%21.70 करोड़
आइडिया19.27%20.20 करोड़
रिलांयस जियो17.44%17.71 करोड़
बीएसएनएल9.99%11.23 करोड़

(30 अप्रैल 2018 तक)

मर्जर के बाद क्या होगा शेयरहोल्डिंग पैटर्न ?

वोडाफोन45.1%
आदित्य बिड़ला ग्रुप26%
आइडिया के शेयरधारक28.9%

नई कंपनी का प्रस्तावित मैनेजमेंट

नाममौजूदा पदनई कंपनी में प्रस्तावित पद

कुमार मंगलम बिड़ला

आदित्य बिड़ला ग्रुप के चेयरमैननॉन एग्जिक्यूटिव चेयरमैन
बालेश शर्मावोडाफोन इंडिया के सीओओसीईओ
अक्षय मूंदराआइडिया के सीएफओसीएफओ
अंबरीश जैनआइडिया के डिप्टी एमडीसीओओ

रिलायंस जियो ने मर्जर के लिए मजबूर किया
रिलायंस जियो के बेहद सस्ते टैरिफ और डेटा से टेलीकॉम सेक्टर में प्राइस वॉर छिड़ा हुआ है। जियो के आने के बाद कई कंपनियों का कारोबार घटा है। मर्जर के बाद वोडाफोन-आइडिया ग्राहक संख्या के मामले में सबसे बड़ी कंपनी बन जाएगी जो रिलायंस जियो को कड़ी टक्कर दे सकती है। जियो की ग्राहक संख्या तेजी से बढ़ रही है। मार्च से अप्रैल के दौरान रिलायंस जियो ने सबसे ज्यादा 96.31 लाख ग्राहक जोड़े।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Business

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×