कार मोडिफाई कराना हो तो इन 10 बातों को रखें ध्यान, नहीं होगा कोई पुलिस केस / कार मोडिफाई कराना हो तो इन 10 बातों को रखें ध्यान, नहीं होगा कोई पुलिस केस

गलत तरीके से कार मोडि‍फाई कराने पर कार जब्‍त हो सकती है।

DainikBhaksar.com

Aug 11, 2018, 03:01 PM IST
कार मोडि‍फाइ कार मोडि‍फाइ

ऑटो डेस्क। भारत में कार मोडि‍फि‍केशन के नि‍यम काफी सख्‍त हैं। देश में ऐसी मार्केट्स हैं जहां खासतौर पर छोड़ी-बड़ी कारों को मोडि‍फाई लि‍या जाता है। हालांकि‍, मोडि‍फाई कराने से पहले आपको कुछ बातों का ध्‍यान रखना पड़ेगा। देश के व्‍हीकल एक्‍ट में कुछ नि‍यम ऐसे हैं जि‍नके तहत अगर आपने कार को मोडि‍फाई नहीं कराया तो आपको तगड़ी चपत लग सकती है।

हालांकि‍, आप कई तरीकों से अपनी कार को नया लुक और नए फीचर्स दे सकते हैं, जोकि‍ गैरकानूनी नहीं हैं। यानी अगर इन तरीकों से कार को मोडि‍फाइ कराया जाएगा तो पुलि‍सवाले भी आपको परेशान नहीं कर सकते।

आगे की स्लाइड्स में पढ़े किन बातों को ध्यान में रखकर करें कार मोडिफाई....

रैपिंग पूरी तरह से कानूनी है रैपिंग पूरी तरह से कानूनी है

बॉडी रैप या डुअल कलर

 

- कार के एक्‍सटीरि‍यर लुक को बदलने का सबसे आसान तरीको है रैपिंग यानी ढकना। कुछ हि‍स्‍सों में रैपिंग को रूफ, मि‍रर और डोर हैंडल में कंट्रास्‍टिंग कलर के साथ कि‍या जा सकता है। कार को लेटेस्‍ट डुअल टोन ट्रेंड में शामि‍ल करने के लि‍ए रैपिंग सबसे आसान और सबसे सस्‍ता तरीका है। इसके अलावा, रैपिंग पूरी तरह से कानूनी है और इसके लि‍ए कार के रजि‍स्‍ट्रेशन सर्टि‍फि‍केट में कोई बदलाव नहीं करना पड़ता क्‍योंकि‍ इससे कार के कलर में कोई बदलाव नहीं होता है।

बड़े टायर्स और नए अलॉय व्‍हील्‍स लगवाना गैरकानूनी नहीं है। बड़े टायर्स और नए अलॉय व्‍हील्‍स लगवाना गैरकानूनी नहीं है।

टायर का साइज

 

- नई कार में सबसे कॉमन अपग्रेड है, व्‍हील्‍स में बदलाव। कई लोग बड़े टायर्स को पसंद करते हैं और आफटर मार्केट अलॉय व्‍हील्‍स को लगवाते हैं। बड़े टायर्स और नए अलॉय व्‍हील्‍स लगवाना गैरकानूनी नहीं है। हालांकि‍, अगर आप ट्रक के टायर्स को कार में लगाते हैं या ऐसे टायर्स लगाते हैं जि‍ससे गाड़ी चलाना मुश्‍कि‍ल हो तो आपकी कार को जब्‍त कि‍या जा सकता है। 

ज्‍यादातर बॉडी कि‍ट्स पूरी तरह से कानूनी है। ज्‍यादातर बॉडी कि‍ट्स पूरी तरह से कानूनी है।

बॉडी कि‍ट्स

 

- कुछ बॉडी कि‍ट्स कार के लुक को पूरी तरह से बदल देते हैं। ज्‍यादातर बॉडी कि‍ट्स पूरी तरह से कानूनी है। बशर्ते, बॉडी कि‍ट्स की वजह से कार के स्‍ट्रक्‍चर यानी चेसि‍स में कोई बदलाव नहीं हुआ हो। मौजूदा समय में मारुति‍ सुजुकी इंडि‍या से लेकर टाटा मोटर्स तक खुद अपने डीलरशि‍प पर कई कारों के साथ बॉडी कि‍ट्स का ऑफर दे रही हैं। 

कुछ mm का फर्क पूरी तरह से कानूनी है कुछ mm का फर्क पूरी तरह से कानूनी है

सस्‍पेंशन

 

- कार के सस्‍पेंशन को हाई परफॉर्मेंस वाले प्रोडक्‍ट से रि‍प्‍लेस कि‍या जा सकता है। हालांकि‍, अगर ग्राउंड क्‍लि‍यरेंस का मार्जि‍न ज्‍यादा बढ़ जाता है तो आपकी कार को जब्‍त भी कि‍या जा सकता है। कुछ mm का फर्क पूरी तरह से कानूनी है।  

हैडलैम्‍प को मोडि‍फाइ करना गैरकानूनी भी है और खतरनाक भी हैडलैम्‍प को मोडि‍फाइ करना गैरकानूनी भी है और खतरनाक भी

ऑग्जि‍ल्यरी लैम्‍प

 

- हैडलैम्‍प को मोडि‍फाइ करना गैरकानूनी भी है और खतरनाक भी लेकि‍न ऑग्‍जिल्‍यरी लैम्‍प काफी सुरक्षि‍त हैं। ऑग्‍जि‍ल्‍यरी लैम्‍प को स्‍टॉक हैडलैम्‍प की ऊंचाई से ज्‍यादा ऊपर इंस्‍टॉल नहीं कि‍या जाना चाहि‍ए। इसके अलावा, पब्‍लि‍क रोड पर कार चलाते हुए इसे कवर करना होगा। इस लैम्‍प का इस्‍तेमाल ऑफ रोड या रात में कार चलाते हुए सड़क पर कि‍सी रुकावट को पहचानने के लि‍ए होता है। ध्‍यान रहे कि‍ रूफटॉप पर लैम्‍प को लगाना गैरकानूनी है।  

DRLs की मदद से रोड पर आसानी से दूसरे व्‍हीकल्‍स की पहचान की जा सकती है DRLs की मदद से रोड पर आसानी से दूसरे व्‍हीकल्‍स की पहचान की जा सकती है

डेटाइम एलईडी DRLs 

 

- एलईडी डेटाइम रनिंग लैम्‍प कि‍सी भी व्‍हीकल के सौंदर्य अपील को बढ़ाने का काम करता है और यह सेफ्टी फीचर्स के लि‍ए भी अहम है। वैसे तो ज्‍यादातर नई कारों में DRLs को स्‍टैंडर्ड फीचर के तौर पर मि‍ल रहा है लेकि‍न यह टॉप ऐंड वेरि‍एंट्स तक सीमि‍त है। एलईडी DRLs को आसानी से आफटर मार्केट शॉप से इंस्‍टॉल कराया जा सकता है। DRLs की मदद से रोड पर आसानी से दूसरे व्‍हीकल्‍स की पहचान की जा सकती है।

लेदर आपको लग्‍जरी का अनुभव देता है लेदर आपको लग्‍जरी का अनुभव देता है

आर्ट लेदर सीट कवर्स

 

- लेदर आपको लग्‍जरी का अनुभव देता है। हालांकि‍, असली लेदर प्रोडक्‍ट काफी महंगा पड़ता है। लेकि‍न मार्केट में आर्ट लेदर कवर्स भी आने लगे हैं जो कि‍ असली लेदर से नहीं बने लेकि‍न वह कार के इंटीरि‍यर के लुक और अनुभव को बदल देता है। आर्ट लेदर कवर्स का रख-रखाव भी आसान है और ऐसा करने पर आपकी कार को जब्‍त भी नहीं कि‍या जाएगा।   

फ्यूल कि‍ट इंस्‍टॉल करने के बाद रजि‍स्‍ट्रेशन सर्टि‍फि‍केट में इसे चढ़ाना न भूलें फ्यूल कि‍ट इंस्‍टॉल करने के बाद रजि‍स्‍ट्रेशन सर्टि‍फि‍केट में इसे चढ़ाना न भूलें

फ्यूल में बदलाव

 

- आपको कई दूकानें मि‍ल जाएंगी जो एलपीजी या सीएनजी कि‍ट्स को कारों में इंस्‍टॉलेशन का काम करती हैं और यह पूरी तरह से कानूनी भी हैं। हालांकि‍, यह सुनि‍श्‍चि‍त करना जरूरी है कि‍ जो कि‍ट इंस्‍टॉल की जा रही है वह सरकार से सर्टि‍फाइड है। खराब प्रोडक्‍ट के साथ फ्यूल में बदलाव खतरनाक हो सकता है। इसके अलावा, फ्यूल कि‍ट इंस्‍टॉल करने के बाद रजि‍स्‍ट्रेशन सर्टि‍फि‍केट में इसे चढ़ाना न भूलें। 

सेफ्टी फीचर्स जैसे रि‍मोट सेंट्रल लॉकिंग इंस्‍टॉल करना भारत में गैरकानूनी नहीं है सेफ्टी फीचर्स जैसे रि‍मोट सेंट्रल लॉकिंग इंस्‍टॉल करना भारत में गैरकानूनी नहीं है

सेफ्टी फीचर्स

 

- सेफ्टी फीचर्स जैसे रि‍मोट सेंट्रल लॉकिंग इंस्‍टॉल करना भारत में गैरकानूनी नहीं है। कई लोग बि‍ना रि‍मोट सेंट्रल लॉकिंग वर्जन वाली कार खरीदते हैं और इसे बाद में इंस्‍टॉल करवाते हैं। इलेक्‍ट्रि‍कल मोडि‍फि‍केशन से कार की वारंटी कैंसि‍ल हो सकती है लेकि‍न आपकी कार को जब्‍त नहीं कि‍या जा सकता।  

 

अन्‍य फीचर्स

 

कार ड्राइविंग को आसान बनाने के लि‍ए कई दूसरी एक्‍ससेरीज को भी इंस्‍टॉल कि‍या जा सकता है। पार्किंग सेंसर और रीयर व्‍यू कैमरा जैसे फीचर्स केवल टॉप ऐंड वेरि‍एंट्स में मि‍लते हैं। जो लोग नीचे वाला वेरि‍एंट खरीदते हैं उन्‍हें अकसर यह फीचर्स नहीं मि‍ल पाते। ऐसे में आप इन फीचर्स को आफटर मार्केट से इंस्‍टॉल करा सकते हैं।

X
कार मोडि‍फाइकार मोडि‍फाइ
रैपिंग पूरी तरह से कानूनी हैरैपिंग पूरी तरह से कानूनी है
बड़े टायर्स और नए अलॉय व्‍हील्‍स लगवाना गैरकानूनी नहीं है।बड़े टायर्स और नए अलॉय व्‍हील्‍स लगवाना गैरकानूनी नहीं है।
ज्‍यादातर बॉडी कि‍ट्स पूरी तरह से कानूनी है।ज्‍यादातर बॉडी कि‍ट्स पूरी तरह से कानूनी है।
कुछ mm का फर्क पूरी तरह से कानूनी हैकुछ mm का फर्क पूरी तरह से कानूनी है
हैडलैम्‍प को मोडि‍फाइ करना गैरकानूनी भी है और खतरनाक भीहैडलैम्‍प को मोडि‍फाइ करना गैरकानूनी भी है और खतरनाक भी
DRLs की मदद से रोड पर आसानी से दूसरे व्‍हीकल्‍स की पहचान की जा सकती हैDRLs की मदद से रोड पर आसानी से दूसरे व्‍हीकल्‍स की पहचान की जा सकती है
लेदर आपको लग्‍जरी का अनुभव देता हैलेदर आपको लग्‍जरी का अनुभव देता है
फ्यूल कि‍ट इंस्‍टॉल करने के बाद रजि‍स्‍ट्रेशन सर्टि‍फि‍केट में इसे चढ़ाना न भूलेंफ्यूल कि‍ट इंस्‍टॉल करने के बाद रजि‍स्‍ट्रेशन सर्टि‍फि‍केट में इसे चढ़ाना न भूलें
सेफ्टी फीचर्स जैसे रि‍मोट सेंट्रल लॉकिंग इंस्‍टॉल करना भारत में गैरकानूनी नहीं हैसेफ्टी फीचर्स जैसे रि‍मोट सेंट्रल लॉकिंग इंस्‍टॉल करना भारत में गैरकानूनी नहीं है
COMMENT