मुख्य सरना स्थल हातमा में हुई जल भराई और केकड़ा पकड़ने की रश्म

News - झारखंड का प्रमुख तीन दिवसीय प्रकृति पर्व सरहुल का आगाज गुरुवार हो गया। गुरुवार को प्रमुख सरना स्थल हातमा समेत...

Mar 27, 2020, 07:42 AM IST
Ranchi News - water logging and hatching crab at the main sarna site hatama

झारखंड का प्रमुख तीन दिवसीय प्रकृति पर्व सरहुल का आगाज गुरुवार हो गया। गुरुवार को प्रमुख सरना स्थल हातमा समेत सभी सरना स्थलों पर पारंपरिक रूप से विधि-विधान सेे पूजा की शुरुआत हुई। मुख्य सरना पूजा स्थल हातमा में पाहन जगलाल के नेतृत्व में पहले दिन की विभिन्न प्रकार की रश्म अदायगी की गई। मान्यता और परंपरा के अनुसार आसपास के किसी जलाशय से मछली या केकड़ा पकड़ने की है। सुबह में समीप के जलाशय से केकड़ा पकड़ा गया। शाम को पूजा स्थल में दो घड़े में पानी भर कर रखा गया। शुक्रवार की सुबह घड़े की पानी की स्थिति एवं दिशा देखकर इस वर्ष बारिश कैसे होगी उसकी भविष्यवाणी की जाएगी। शुक्रवार को रांची के सभी सरना स्थल एवं अखरा में सरहुल की पूजा अर्चना साल एवं सखुआ के वृक्ष में की जाएगी। इसकी तैयारी शुरू हो गयी है। पूजा करने वाले पाहन गुरूवार से ही उपवास में रहेंगे और शुक्रवार की पूजा-अर्चना के बाद उपवास तोड़ेंगे।

कार्यक्रम हो चुका है स्थगित

{पहले ही सरहुल पूर्व होने वाले पूर्व संध्या कार्यक्रम सांस्कृतिक कार्यक्रम सरना नवयुवक संघ स्थगित कर चुके हैं। वहीं सरहुल पर निकलने वाली शोभायात्रा भी स्थगित हो चुका है।

{पूजा करने वाले पाहन गुरुवार से ही उपवास में रहेंगे और शुक्रवार की पूजा-अर्चना के बाद उपवास तोड़ेंगे पर्व के श्रद्धालु।

पूजा में कोरोना से बचने के उपाय पर विशेष रहेगा फोकस

इस वर्ष सरहुल पूजा में कोरोना वायरस से बचने के लिए उपाय पर विशेष ध्यान रखा जाएगा। सारी विधि में इस बात का ध्यान रखा जाएगा कि पूजा में शामिल होने वाले घर-परिवार एवं गांव-घर के लोग विशेष सतर्कता बरतें। पाहन जगलाल ने कहा कि जो लोग पूजा में शामिल होंगे वे विशेष दूरी बनाए रखेंगे और मुंह में मॉस्क पहनेंगे और सेनेटाइजर का इस्तेमाल करेंगे। विभिन्न सरना समितियों ने भी इसकी अपील सभी सरना धर्मियों से की है। केंद्रीय सरना समिति के अजय तिर्की, फूलचंद तिर्की, बबलू मुंडा, आदिवासी सेना के शिवा कच्छप, राजी पड़हा प्रार्थना सभा के चंद्रदेव बलमुचू, युवा सरन समिति सिराेम टोली के प्रकाश हंस, जय आदिवासी केंद्रीय परिषद के निरंजना हेरेंज टोप्पो, आदिवासी छात्र मोर्चा के अजय टोप्पो, अखिल भारतीय आदिवासी विकास परिषद की प्रदेश अध्यक्ष गीताश्री उरांव रांची जिला अध्यक्ष कुंदरसी मुंडा आदि ने बयान जारी कर कहा है कि कहीं कोई सामूहिक आयोजन न हो इसका ख्याल रखें। सभी अखरा में आदिवासी परंपरा के अनुसार पूजा-अर्चना करें और देश एवं समाज की खुशहाली की दुआ करें ताकि हमारा यह समान कोरोना जैसे वायरस से हमारा झारखंड और हमारा देश मुक्त हो सके।

आज बारिश की भविष्यवाणी...52 साल बाद नहीं निकलेगी शोभायात्रा

X
Ranchi News - water logging and hatching crab at the main sarna site hatama

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना