--Advertisement--

रोज सुबह देखें सूर्यदेव की फोटो, दूर हो सकते हैं कुंडली के दोष

जो लोग सूर्य उदय से पहले उठते हैं और स्नान के बाद उदय होते हुए सूर्य को जल चढ़ाते हैं, उनकी कई समस्याएं दूर हो सकती हैं।

Danik Bhaskar | Jun 19, 2018, 11:07 AM IST

रिलिजन डेस्क। हिन्दू धर्म में पंचदेव बताए गए हैं, जिनकी पूजा रोज करनी चाहिए। इनमें गणेशजी, शिवजी, विष्णुजी, मां दुर्गा और सूर्यदेव शामिल हैं। रोज सुबह सूर्यदेव के दर्शन करने से कुंडली के सूर्य और अन्य ग्रहों के दोष दूर हो सकते हैं। सूर्य साक्षात दिखाई देने वाले भगवान माने जाते हैं। घर में पूर्व दिशा में सात घोड़ों के रथ पर सवार सूर्य की फोटो लगानी चाहिए। मान्यता है कि रोज सुबह जल्दी उठकर सूर्य के दर्शन करने और जल चढ़ाने से सभी परेशानियां दूर हो सकती हैं। ज्योतिष में सूर्य को ग्रहों का राजा माना जाता है।

महाभारत में कर्ण हर रोज सूर्य की पूजा करते थे और सूर्य को अर्घ्य देते थे। भगवान श्रीराम भी सूर्य पूजा करते थे। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार हर द‌िन सूर्य को तांबे के लोटे से जल चढ़ाना चाहिए। इस छोटे से उपाय से व्यक्ति को घर-परिवार और समाज में मान-सम्मान मिलता है, भाग्योदय में आ रही बाधाएं दूर हो सकती हैं। यहां जानिए सूर्य देव से जुड़ी कुछ खास बातें...

# घर में लगाएं सूर्य देव की फोटो

अगर आप सूर्यदेव की कृपा पाना चाहते हैं तो अपने घर में सात घोड़ों के रथ पर सवार सूर्यदेव की फोटो लगानी चाहिए। ये फोटो पूर्व दिशा में लगाएं। इससे घर में सकारात्मकता बढ़ती है। रोज सुबह घर से बाहर निकलने से पहले इस फोटो के दर्शन करना चाहिए और सूर्यदेव से प्रार्थना करनी चाहिए। ऐसा रोज करने से व्यापार, नौकरी और प्रमोशन से जुड़ी समस्याएं खत्म हो सकती हैं।

# सूर्य को अर्घ्य कैसे दें

पं. शर्मा के अनुसार रोज सुबह जल्दी उठकर स्नान के सूर्य को जल चढ़ाना चाहिए। इसके लिए तांबे के लोटे में जल भरें और इसमें चावल, लाल फूल, लाल चंदन भी डालें। इसके बाद पूर्व दिशा की ओर मुंह करके सूर्य देव को अर्घ्य चढ़ाएं। इस दौरान सूर्य मंत्र ऊँ सूर्याय नम: का जाप करते रहना चाहिए।

# सूर्य के लिए करें इन चीजों का दान

> सूर्य ग्रह के अशुभ असर से बचने के लिए अपने वजन के बराबर या अपने सामर्थ्य के अनुसार गेहूं का दान समय-समय पर करना चाहिए।

> लाल और पीले वस्त्रों का दान किसी गरीब व्यक्ति को करें।

> तांबे के बर्तन, गुड़ आदि चीजों का दान भी किया जा सकता है।

Related Stories