--Advertisement--

अपने कुल देवी-देवताओं की पूजा किए बिना कोई भी पूजा नहीं होती सफल, मनोकामनाएं नहीं होतीं पूरी

दुर्भाग्य से बचने के लिए घर में किन देवी-देवताओं की पूजा करना जरूरी है।

Danik Bhaskar | Jul 13, 2018, 05:36 PM IST
दुर्भाग्य से बचने के लिए घर मे दुर्भाग्य से बचने के लिए घर मे

रिलिजन डेस्क. काफी लोग पूजा-पाठ नियमित रूप से करते हैं, लेकिन अपने कुल देवता और कुल देवी का ध्यान नहीं करते हैं, इस कारण पूजा का फल नहीं मिल पाता है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार अगर कुल के देवी-देवता की पूजा नहीं की जाएगी तो कोई भी उपाय सफल नहीं हो सकता है। यहां जानिए पूजा करते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए...
- किसी भी प्रकार की पूजा में कुल देवता, कुल देवी, घर के वास्तु देवता, स्थान देवता आदि का ध्यान करना आवश्यक है। इनकी पूजा के बिना मनोकामनाएं पूरी नहीं हो पाती हैं।
- घर में या मंदिर में जब भी कोई विशेष पूजा करें तो इष्टदेव के साथ ही स्वस्तिक, कलश, नवग्रह देवता, पंच लोकपाल, षोडश मातृका, सप्त मातृका का पूजन अनिवार्य रूप से किया जाना चाहिए।
- पूजा में ऐसे चावल का उपयोग करना चाहिए जो खंडित या टूटे हुए ना हो। चावल चढ़ाने से पहले इन्हें हल्दी से पीला कर लेना चाहिए। पानी में हल्दी घोलकर उसमें चावल को डूबो कर पीला किया जा सकता है।
- पूजन में पान का पत्ता भी अर्पित किया जाता है। ध्यान रखें कि केवल पान का पत्ता अर्पित ना करें, इसके साथ इलाइची, लौंग, गुलकंद आदि भी चढ़ाना चाहिए। पूरा बना हुआ पान चढ़ाएंगे तो बहुत अच्छा रहता है।
- देवी-देवताओं के सामने घी और तेल, दोनों के ही दीपक जलाने चाहिए। यदि आप प्रतिदिन घी का दीपक घर में जलाएंगे तो घर के कई वास्तु दोष दूर हो जाएंगे।
- पूजन में हम जिस आसन पर बैठते हैं, उसे पैरों से इधर-उधर खिसकाना नहीं चाहिए। आसन को हाथों से ही खिसकाना चाहिए।
- किसी भी भगवान के पूजन में उनका आवाहन करना, ध्यान करना, आसन देना, स्नान करवाना, धूप-दीप जलाना, अक्षत, कुमकुम, चंदन, पुष्प, प्रसाद आदि अनिवार्य रूप से होना चाहिए।
- देवी-देवताओं को हार-फूल, पत्तियां आदि अर्पित करने से पहले एक बार साफ पानी से जरूर धो लेना चाहिए।