--Advertisement--

एशियाई खेलों में भाग नहीं ले पाएंगी मीराबाई चानू, लोअर बैक इंजरी के कारण लिया गया फैसला

Dainik Bhaskar

Aug 07, 2018, 04:52 PM IST

मीराबाई ने इस साल ऑस्ट्रेलिया में हुए गोल्डकोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीता था

मीराबाई ने भारत के लिए अब तक 2 ग मीराबाई ने भारत के लिए अब तक 2 ग

  • तुर्कमेनिस्तान के अश्गाबात 1 नवंबर से वर्ल्ड चैम्पियनशिप का आयोजन होगा
  • यह चैम्पियनशिप ओलिंपिक खेलों के लिए पहला क्वालिफायर भी होगा

नई दिल्ली. भारत की महिला वेटलिफ्टर मीराबाई चानू एशियाई खेलों में भाग नहीं ले पाएंगी। लोअर बैक (पीठ के निचले हिस्से) इंजरी के कारण यह फैसला लिया गया है। इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में 18 अगस्त से 2 सितंबर तक एशियाई खेल होने हैं। इंडियन वेटलिफ्टिंग फेडरेशन (आईडब्ल्यूएलएफ) के सचिव सहदेव यादव ने मंगलवार को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा, 'हां, मीराबाई एशियाई खेलों में हिस्सा नहीं लेंगी।' मीराबाई इस साल मई से ही पीठ के निचले हिस्से में चोट से परेशान हैं। वे इस कारण अभ्यास में भी हिस्सा नहीं ले पाईं थीं। भारतीय वेटलिफ्टिंग टीम के मुख्य कोच विजय शर्मा ने मीराबाई को टूर्नामेंट से बाहर रखने की सिफारिश की थी। विजय शर्मा का मानना है कि इससे वे ओलिंपिक क्वालिफायर के लिए फिट हो सकेंगी। इस साल के अंत में ओलिंपिक क्वालिफायर के मुकाबले होने हैं।

कोच ने कहा- ज्यादा भार उठाने के लिए उनके पास समय कम: विजय शर्मा ने सोमवार को कहा था, "मैंने मीराबाई से संबंधित रिपोर्ट फेडरेशन को सौंप दी। अब उन्हें निर्णय लेना है। मेरी निजी राय है कि ज्यादा भार उठाने के लिए उनके पास कम समय है। ओलंपिक क्वालिफायर का समय आ रहा है, जो कि एशियाई खेलों से ज्यादा अहम है। मीराबाई फेडरेशन के संपर्क में है। वे ठीक हैं, लेकिन रविवार को हुए अभ्यास सत्र में थोड़ी तकलीफ हुई। उन्होंने अभ्यास छोड़ दिया।"

22 साल बाद भारत को दिलाया था गोल्ड: मणिपुर की मीराबाई ने पिछले साल नवंबर में अमेरिका में हुई वर्ल्ड चैम्पियनशिप में 48 किलोग्राम भार वर्ग में हिस्सा लिया था। चैम्पियनशिप में उन्होंने गोल्ड मेडल अपने नाम किया। यह भारत के लिए 22 साल में पहला गोल्ड था। उन्होंने इस साल कॉमनवेल्थ गेम्स में 196 किग्रा भार उठाकर गोल्ड जीता था। उन्होंने सबसे ज्यादा भार उठाने का राष्ट्रीय रिकॉर्ड भी बनाया था।

X
मीराबाई ने भारत के लिए अब तक 2 गमीराबाई ने भारत के लिए अब तक 2 ग
Astrology

Recommended

Click to listen..