--Advertisement--

कहां से आया ए1 और ए2 मिल्क, कौनसा फायदेमंद और क्यों?

दोनों ही दूध में लैक्टोज तो रहता है, लेकिन ए2 दूध में मौजूद लैक्टोज आसानी से पचाया जा सकता है।

यह ए2 के मुकाबले ए1 जेनेटिकली अलग है यूरोप, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड से आने वाली विदेशी गायों का दूध ए1 होता है
Danik Bhaskar | Aug 20, 2018, 11:56 AM IST

हेल्थ डेस्क. इन दिनों ए1 और ए2 मिल्क चर्चा में है। बच्चों के लिए कौन-सा दूध अच्छा है, इस पर पिछले दिनों वर्ल्ड मिल्क डे पर काफी बहस हो रही थी। कभी गाय के सभी दूध ए2 ही हुआ करते थे। यूरोप की गायों में कुछ जेनेटिक बदलाव होने से यह ए1 और ए2 हुआ है। दुनियाभर की गायें ए2 श्रेणी का ही दूध देती है। इसमें बीटा कैसिन प्रोटीन होता है। सभी प्रोटीन में अमीनो एसिड्स की चेन होती है, लेकिन बीटा कैसिन में 229 अमीनो एसिड्स होते हैं। डॉ. श्रीलेखा हाड़ा होम्योपैथ व न्यूट्रीशनिस्ट, मुंबई से जानते हैं कौन सा दूध है बेहतर और क्यों...

क्या है ए1 और ए2 मिल्क, कौनसा फायदेमंद और क्यों?
तो ए1 क्या है? जब गाय में प्राकृतिक बदलाव आया तब ये ए1 हुआ। यह ए2 के मुकाबले जेनेटिकली अलग है। इसमें एक अमीनो एसिड का अंतर है। यानी यूरोप, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड से आने वाली विदेशी गायों का दूध ए1 होता है, लेकिन इसका गुणवत्ता से लेनादेना नहीं है। 

इसे ऐसे समझना आसान होगा
ए2 बीटा कैसिन भारत की गायों से मिलने वाला दूध है। दरअसल, दूध में जो प्रोटीन होता है, वह पेप्टाइड्स में तब्दील होता है। बाद में यह अमीनो एसिड्स का स्वरूप लेता है। इस तरह का दूध पचाने में आसान रहता है।

क्या यह पचने में आसान है? 
ए1 बीटा कैसिन में पेप्टाइड्स को अमीनो एसिड्स में ब्रेक नहीं किया जा सकता। इसी कारण से ये पचाने योग्य नहीं होता है, जो कई तरह के रोगों को जन्म देता है।

ऐसा क्यों होता है? 
दरअसल, बीसीएम7 नामक एक छोटा-सा प्रोटीन होता है, जो ए2 दूध देने वाली गायों के यूरीन, ब्लड या आंतों में नहीं पाया जाता है, लेकिन यही प्रोटीन ए1 गायों के दूध में पाया जाता है, इस कारण से ए1 दूध को पचाने में तकलीफ होती है। 

ए1 दूध में खराबी क्या है? 
टाइप 1 डायबिटीज, दिल के रोग, बच्चों में सायकोमोटर का धीमा विकास, ऑटिज्म, सिजोफ्रेनिया, एलर्जी से बचाव न कर पाने जैसी कमियां इसमें हैं।

ए2 दूध इसलिए अच्छा 
दोनों ही दूध में लैक्टोज तो रहता है, लेकिन ए2 दूध में मौजूद लैक्टोज आसानी से पचाया जा सकता है। साथ ही इसमें प्रोलिन नामक अमीनो एसिड है, जो इसे गुणकारी बनाता है। मानव, बकरी और भेड़ का दूध ए2 ही होता है। 


बच्चों को कौनसा दें? 

  • बच्चों के लिए ए2 दूध ही श्रेष्ठ माना जाता है। क्योंकि इससे बच्चों में मोटापा नहीं होता, दिमागी क्षमता बढ़ती है, पाचन में वृद्धि होती है। मां बनी महिलाओं को इससे फीडिंग में आसानी होती है।
  • यह दूध थकान, सुस्ती अधिक भूख और अधिक प्यास भी नहीं लगने देता है। इसमें ओमेगा फैट्स का श्रेष्ठ कॉम्बिनेशन होता है।
  • भारतीय गायों का दूध इस श्रेणी में आता है। हमारे देश में गिर गायें ये दूध देती हैं। गाय के दूध से बुखार, यूरिनरी ट्रेक की बीमारियां, रक्त की परेशानियों में राहत मिलती है।
  • इसमें विटामिन डी भी मिलता है, जो आसानी से आंतों से कैल्शियम प्राप्त कर लेता है। मैनोपॉज और ओस्टियोपोरोसिस में भी गाय का दूध लाभ करता है।
--Advertisement--