--Advertisement--

समझें जीरो कैलोरी फूड का फंडा, ये वजन घटाते नहीं बढ़ाते हैं, इनकी जगह नेचुरल फूड को डाइट में करें शामिल

एक ताजा रिसर्च में कहा गया है कि कुछ जीरो कैलोरी फूड से भी वजन बढ़ सकता है।

Dainik Bhaskar

Jun 28, 2018, 07:20 PM IST
वजन कम करने के लिए इन दिनों लोगों में जीरो कैलोरी फूड की चाहत बढ़ी है। जब इन्हें खाया जाता है तो कैलोरी बर्न हो जाती है। फिर भी एक ताजा रिसर्च में कहा गया है कि कुछ जीरो कैलोरी फूड से भी वजन बढ़ सकता है। वजन कम करने के लिए इन दिनों लोगों में जीरो कैलोरी फूड की चाहत बढ़ी है। जब इन्हें खाया जाता है तो कैलोरी बर्न हो जाती है। फिर भी एक ताजा रिसर्च में कहा गया है कि कुछ जीरो कैलोरी फूड से भी वजन बढ़ सकता है।

हेल्थ डेस्क. कोई फूड कैसे जीरो कैलोरी हो सकता है? वजन कम करने के लिए इन दिनों लोगों में जीरो कैलोरी फूड की चाहत बढ़ी है। जब इन्हें खाया जाता है तो कैलोरी बर्न हो जाती है। फिर भी एक ताजा रिसर्च में कहा गया है कि कुछ जीरो कैलोरी फूड से भी वजन बढ़ सकता है। डायटीशियन सुरभि पारीक से जानते हैं कैसे...

ऐसे समझें क्यों बढ़ता है वजन
उदाहरण के तौर पर आपने डाइट सोडा ही पिया है, ताकि आपके शरीर को कुछ ताकत मिल सके, लेकिन ये भीतर जाकर कुछ राहत देगा। जब ये कैलोरी नहीं देता है, तो शरीर असमंजस में पड़ जाता है। इससे भूख लगने लग जाती है। कैलोरी के अभाव में आपको कुछ खा लेने की अजीब बेचैनी होने लगती है।

ये जीरो कैलोरी फूड वजन बढ़ाते हैं
बटर स्प्रे यानी सोयाबीन का तेल और पानी, जिसमें थिकनर्स डाले जाते हैं। इसमें ईडीटीए (एथिलिनडायमाइनेटेट्राएसिटिक एसिड) भी डाला जाता है। यानी एक बार स्प्रे की बोतल में 904 कैलोरी और 90.4 ग्राम फैट है। यानी एक चम्मच में एक ग्राम फैट और करीब 10 कैलोरी। इसी प्रकार से कैलोरी फ्री डिप्स, स्प्रेड औस सॉस, पीनट स्प्रेड, चॉकलेट सीरप, मार्शमैलो डिप, पास्ता सॉस भी इसी श्रेणी में हैं। पीनट डिप को ही ले। पीनट स्प्रेड में हाई कैलोरी पीनट बटर को हटाया जाता है। इसमें पानी, वेजिटेबल फाइबर, नमक और और नेचरल रोस्टेड पीनट फ्लेवर रहता है। मामूली आर्टिफिशल स्वीटनर भी रहता है। दूसरे शब्दों में यह फूड नहीं है, यह आर्टिफिशल फ्लेवर है, जिसमें आर्टिफिशल स्वीटनर, नमक रहता है।

डाइट में ये शामिल करें नेचुरल लो कैलोरी फूड
वजन कम करने के लिए ये चार फल और सब्जियां हैं जो जीरो कैलोरी फूड की श्रेणी में आते हैं

  • ब्रोकली : जीरो कैलोरी यह सब्जी कैंसर पनपने नहीं देती है। साथ ही इससे वजन कम होता है। यह हाई फाइबर फूड है, जो हमारा पाचन ठीक रखते हुए रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।
  • गाजर: गाजर बेहद लो कैलोरी फूड है। वि‌श्व मधुमेह दिवस पर इस बात की घोषणा की गई कि गाजर से डायबिटीज भी काबू में रहती है।
  • जीरो नूडल्स : जीरो नूडल्स की स्थिति भी ऐसी ही है। ये नूडल्स ग्लूकोमेनन फाइबर से बनाए जाते हैं। यह एक जापानी जमीकंद कोनजाक प्लांट का है। दावा ये किया जाता है कि ये नूडल्स चावल और पास्ता का विकल्प हैं। ये बिना कैलोरी के तृप्ति देने वाला है। कुछ ही अध्ययन ऐसे हैं, जो यह बताते हैं कि इस फाइबर से वजन कम होता है और खराब कोलेस्ट्रॉल भी घटता है। यह मामूली रबर के समान होता है।
  • तरबूज : इसमें नेचुरल स्वीटनर होता है। पानी की मात्रा अधिक होती है, मामूली कैलोरी होती है। यह जीरो कैलोरी में सही माना जाता है, क्योंकि यह शरीरिक गतिविधियों को काबू में रखता है।
  • टमाटर: जीरो कैलोरी में यह सबसे सटीक फूड है। वजन कम करने के साथ-साथ यह दिल की बीमारियों को भी दूर रखता है।
ब्रोकली जीरो कैलोरी सब्जी है यह कैंसर पनपने नहीं देती। ब्रोकली जीरो कैलोरी सब्जी है यह कैंसर पनपने नहीं देती।
X
वजन कम करने के लिए इन दिनों लोगों में जीरो कैलोरी फूड की चाहत बढ़ी है। जब इन्हें खाया जाता है तो कैलोरी बर्न हो जाती है। फिर भी एक ताजा रिसर्च में कहा गया है कि कुछ जीरो कैलोरी फूड से भी वजन बढ़ सकता है।वजन कम करने के लिए इन दिनों लोगों में जीरो कैलोरी फूड की चाहत बढ़ी है। जब इन्हें खाया जाता है तो कैलोरी बर्न हो जाती है। फिर भी एक ताजा रिसर्च में कहा गया है कि कुछ जीरो कैलोरी फूड से भी वजन बढ़ सकता है।
ब्रोकली जीरो कैलोरी सब्जी है यह कैंसर पनपने नहीं देती।ब्रोकली जीरो कैलोरी सब्जी है यह कैंसर पनपने नहीं देती।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..