• Hindi News
  • Business
  • WhatsApp leak Sebi to soon take action against market operators, companies staff
--Advertisement--

वॉट्सऐप लीक: सेबी को 12 कंपनियों के शेयरों में इनसाइडर ट्रेडिंग का शक, आरोपियों पर जल्द होगी कार्रवाई

वित्तीय नतीजे जारी होने से पहले ही वॉट्सऐप पर इन्फॉर्मेशन लीक हो गई थी

Dainik Bhaskar

Jun 05, 2018, 07:33 PM IST
इनसाइडर ट्रेडिंग मामले में सेबी ने कंपनियों को आंतरिक जांच के निर्देश देकर रिपोर्ट मांगी थी।- फाइल इनसाइडर ट्रेडिंग मामले में सेबी ने कंपनियों को आंतरिक जांच के निर्देश देकर रिपोर्ट मांगी थी।- फाइल

  • जिन 12 कंपनियों से जुड़ा मामला है उनमें से 7 एनएसई में शामिल हैं
  • ऑडिटर, एनालिस्ट, निवेश सलाहकार भी इस मामले में आरोपी हैं

मुंबई. शेयरों पर असर डालने वाली सूचनाएं वॉट्सऐप पर लीक करने वाले अधिकारियों और ब्रोकर्स पर सेबी जल्द कार्रवाई करेगा। सेबी की जांच अंतिम चरण में है। इनमें करीब 12 ब्लू चिप कंपनियों के सीनियर स्टाफ मेंबर, ब्रोकरेज फर्मों के कर्मचारी और अन्य लोग शामिल हैं। सेबी को इस मामले में इनसाइडर ट्रेडिंग से कमाई का भी शक है। कंपनी के मैनेजमेंट से जुड़ा कोई व्यक्ति गोपनीय सूचना के आधार पर शेयरों में मुनाफा कमाता है, तो इसे इनसाइडर ट्रेडिंग (भेदिया कारोबार) कहा जाता है।

कंपनियों पर भी कार्रवाई हो सकती है

- इस मामले में स्टाफ के साथ ही कंपनियों पर भी एक्शन लिया जा सकता है। सूत्रों के मुताबिक, कंपनियों को वित्तीय नतीजों से जुड़ी शेयर की संवेदनशील सूचना की सुरक्षा में लापरवाही का दोषी ठहराया जा सकता है।

इनसाइडर ट्रेडिंग से कमाई का शक
- सेबी इस मामले में इनसाइडर ट्रेडिंग के एंगल से भी जांच कर रहा है। सेबी को शक है कि कुछ लोगों ने लीक सूचनाओं के जरिए गैरकानूनी तरीके से मुनाफा कमाया।

- संबंधित अधिकारियों के मुताबिक कंपनियों से मिली सूचनाओं का मिलान किया जा रहा है। इस मामले की जांच जल्द पूरी होने वाली है।

- सेबी को लगभग सभी कंपनियों से इस मामले में मांगी गई सूचनाओं का जवाब मिल चुका है। वरिष्ठ अधिकारियों के मुताबिक, जो कंपनियां इस मामले में व्यक्तिगत जिम्मेदारी तय करने में विफल रही हैं, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
- ब्रोकरेज फर्मों के कर्मचारी और मार्केट से जुड़े कुछ लोग भी राडार पर हैं। इन पर कंपनियों के अधिकारियों से मिलीभगत का आरोप है। पिछले साल ये मामला सामने आया था।

क्या है इनसाइडर ट्रेडिंग ?
- कंपनी के मैनेजमेंट से जुड़ा कोई व्यक्ति कॉन्फिडेंशियल इन्फॉर्मेशन के आधार पर शेयर खरीद या बिक्री कर मुनाफा कमाता है तो इसे इनसाइडर ट्रेडिंग (भेदिया कारोबार) कहा जाता है।

- सेबी कानून 1992 के तहत ये अपराध है। 2015 में सेबी ने नियमों को और सख्त किया है। इसके तहत 'कोई भी सूचना जो सामान्य रूप से उपलब्ध नहीं है और बाजार पर असर डाल सकती है' सेंसेटिव इन्फॉर्मेशन मानी जाएगी।

सेबी ने 3 महीने में रिपोर्ट मांगी थी
- जिन कंपनियों से सेबी ने इस मामले में जानकारी मांगी, उनमें एचडीएफसी बैंक भी शामिल है। पिछले हफ्ते रेग्युलेटरी फाइलिंग में एचडीएफसी बैंक ने बताया कि सेबी की ओर से मांगी गई जानकारी दे दी गई है।

- सेबी ने 23 फरवरी को निर्देश दिए थे कि मामले की आंतरिक जांच कर सूचना लीक करने वाले दोषियों की पहचान की जाए। भविष्य में ऐसा ना हो ये सुनिश्चित किया जाए और तीन महीने में जरूरी सूचना उपलब्ध करवाई जाए। इसके अलावा सेबी ने टाटा मोटर्स, एक्सिस बैंक और बाटा इंडिया के खिलाफ भी आदेश जारी किए थे।

व्हॉट्सएप पर सर्कुलेट आंकड़ों का वास्तविक डेटा से मिलान
- सेबी की शुरुआती जांच में सामने आया है कि वित्तीय नतीजों से पहले, जो आंकड़े वॉट्सऐप ग्रुप पर सर्कुलेट हो रहे थे, वो आधिकारिक नतीजों से मेल खा रहे हैं। इस संबंध में सेबी ने शेयर बाजार से जुड़ी अलग-अलग संस्थाओं के साथ ही कई जगहों पर छापे की कार्रवाई भी की।

आरोपियों में ऑडिटर, एनालिस्ट भी शामिल

- सेबी कंपनियों के अधिकारियों समेत जिन लोगों के खिलाफ जांच कर रहा है उनमें ऑडिटर, ब्रोकर, एनालिस्ट और निवेश सलाहकार शामिल हैं, जिनके साथ सूचनाएं शेयर कई गई थीं।

2017 का है मामला

- पिछले साल जुलाई-सितंबर तिमाही के आधिकारिक नतीजे जारी होने से पहले ही कई कंपनियों के आंकड़े वॉट्सऐप पर लीक हो गए थे।

किन कंपनियों से जुड़ा है मामला ?

1) डॉ. रेड्डीज
2) सिप्ला
3) एक्सिस बैंक
4) एचडीएफसी बैंक
5) टाटा स्टील
6) विप्रो
7) बजाज फाइनेंस
8) महिंद्रा हॉलीडेज एंड रिसॉर्ट
9) क्रॉम्प्टन ग्रीव्स

10) माइंडट्री
11) मस्टेक
12) इंडिया ग्लाइकोल्स

- ये सभी शेयर बाजार में लिस्टेड कंपनियां हैं।

12 कंपनियों के सितंबर 2017 तिमाही के नतीजों से संबंधित आंकड़े वॉट्सऐप पर लीक हुए थे।- फाइल 12 कंपनियों के सितंबर 2017 तिमाही के नतीजों से संबंधित आंकड़े वॉट्सऐप पर लीक हुए थे।- फाइल
X
इनसाइडर ट्रेडिंग मामले में सेबी ने कंपनियों को आंतरिक जांच के निर्देश देकर रिपोर्ट मांगी थी।- फाइलइनसाइडर ट्रेडिंग मामले में सेबी ने कंपनियों को आंतरिक जांच के निर्देश देकर रिपोर्ट मांगी थी।- फाइल
12 कंपनियों के सितंबर 2017 तिमाही के नतीजों से संबंधित आंकड़े वॉट्सऐप पर लीक हुए थे।- फाइल12 कंपनियों के सितंबर 2017 तिमाही के नतीजों से संबंधित आंकड़े वॉट्सऐप पर लीक हुए थे।- फाइल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..