Hindi News »Lifestyle »Tech» Whatsapp New Feature Will Allow The Users To Preview The Link

फेक न्यूज पर लगाम लगाने के लिए वॉट्सऐप लाएगा नया फीचर, लिंक खोलने से पहले देख सकेंगे प्रिव्यू

संदेहास्पद लिंक को वॉट्सऐप लाल रंग में दिखाएगा, टैप करके यूजर्स देख सकेंगें लिंक का प्रिव्यू।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jul 07, 2018, 06:30 PM IST

फेक न्यूज पर लगाम लगाने के लिए वॉट्सऐप लाएगा नया फीचर, लिंक खोलने से पहले देख सकेंगे प्रिव्यू

गैजेट डेस्क। सोशल मीडिया पर लगातार फेक न्यूज फैलाई जा रही हैं। फेक न्यूज की वजह से पिछले दिनों भीड़ ने कुछ लोगों की लिंचिंग की थी। फेक न्यूज फैलाने में वॉट्सऐप का काफी महत्वपूर्ण योगदान रहता है। इसको ध्यान में रखते हुए सरकार ने वॉट्सऐप को फेक न्यूज फैलने से रोकने के लिए उपाय करने को कहा था। सरकार के निर्देश के बाद लग रहा है कि वॉट्सऐप अपने प्लेटफॉर्म के माध्यम से फैलने वाली फेक न्यूज पर लगाम लगाने के लिए नया फीचर लाने की तैयारी में है।

कैसे लगेगी लगाम

WABeatalinfo के मुताबिक, जब कोई यूजर्स वॉट्सऐप पर कोई भी लिंक शेयर करेगा तो पहले वॉट्सऐप उसका एक प्रिव्यू दिखाएगा। यह फीचर यूजर्स को कोई हार्मफुल लिंक शेयर करने से पहले यह बताएगा कि वे हार्मफुल लिंक शेयर कर रहे हैं। लिंक प्रिव्यू फीचर वॉट्सऐप के यूजर्स को वेब लिंक के रूप में उपलब्ध किसी गलत कंटेंट को शेयर करने से पहले और लिंक खोलने से पहले सूचित करेगा।

-रिपोर्ट के मुताबिक, वॉट्सऐप से जब कोई हार्मफुल लिंक शेयर किया जाएगा तो वॉट्सऐप लिंक से साथ लाल रंग में 'संदेहास्पद लिंक' की चेतावनी देगा। ऐसे संदेहास्पद लिंक पर टैप करने पर सीधा लिंक नहीं खुलेगा बल्कि वॉट्सऐप अपने यूजर्स को सूचित करेगा और उनके सामने दो ऑप्शन रखेगा। ऐसे में अगर यूजर्स लिंक के साथ जाना चाहें तो जा सकते हैं या फिर बिना लिंक खोले ही वापस आने का ऑप्शन भी उनके पास रहेगा। चूंकि यह इनक्रिप्टेड प्लेटफॉर्म है, इसलिए वॉट्सऐप पर शेयर किए जाने वाले वेब पेज डाटा का विश्लेषण स्थानीय रूप से किया जाएगा। इसका मतलब यह भी है कि लिंक प्रिव्यू फीचर लिंक स्कैन करती है और यह निर्धारित करती है कि यह हानिकारक है या नहीं।

वाट्सएप की तरफ से नहीं है कोई कंफर्मेशन

रिपोर्ट और उसके साथ शेयर किए गए स्क्रीनशॉट यह स्पष्ट नहीं करते हैं कि वॉट्सऐप किस तरह के लिंक को संदेहास्पद मानेगा। ऐसा लगता है कि बिना HTTPS वाली लिंक को अनसेफ लिंक समझा जाता है। हालांकि, ये लिंक सिर्फ संदेहास्पद मानी जाएंगी। ये हानिकारक हैं या नहीं इस बारे में रिपोर्ट में कुछ नहीं बताया गया है। रिपोर्ट में बताया गया है कि अभी इस फीचर की टेस्टिंग की जा रही है और जल्द ही इसे वॉट्सऐप यूजर्स के लिए लांच कर दिया जाएगा।

-यह फीचर अभी बीटा यूजर्स के लिए भी उपलब्ध नहीं है। वॉट्सऐप संदेहास्पद लिंक को ट्रैक करने के लिए किसी थर्ड पार्टी की सुविधा का इस्तेमाल कर सकता है। हालांकि, अनसेफ लिंक की पहचान करने के लिए क्रोम और फायरफॉक्स ब्राउजर द्वारा इस्तेमाल की जाने वाला अलर्ट सिस्टम थोड़ा ज्यादा अच्छा है। लिंक पेज प्रिव्यू के संबंध में वॉट्सऐप की तरफ से अभी कोई ऑफिशियल कंफर्मेशन नहीं मिली है, लेकिन इस अपडेट की मदद से वॉट्सऐप पर शेयर की जाने वाली फेक लिंक्स पर रोक लगाने में काफी मदद मिलेगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Tech

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×