बेटे के गम में डिप्रेशन में चला गया था बॉलीवुड कपल, खत्म करना चाहते थे लाइफ / बेटे के गम में डिप्रेशन में चला गया था बॉलीवुड कपल, खत्म करना चाहते थे लाइफ

एक्टर शेखर सुमन इन दिनों सब टीवी के शो 'सात फेरों की हेरा फेरी' में नजर आ रहे।

DainikBhaskar.com

Jun 10, 2018, 12:00 AM IST
आयुष-अध्ययन और शेखऱ सुमन-अलका। आयुष-अध्ययन और शेखऱ सुमन-अलका।

- फिल्मों के अलावा शेखर सुमन ने कई टीवी शोज में अभिनय किया है

- दिल्ली यूनिवर्सिटी में हुई वाइफ अलका से पहली मुलाकात

- फिलहाल 'सात फेरों की हेरा फेरी' शो में आ रहे नजर

एंटरटेनमेंट डेस्क. फिल्मों के अलावा कई टीवी शोज में अभिनय करने वाले शेखर सुमन इन दिनों सब टीवी के शो 'सात फेरों की हेरा फेरी' में नजर आ रहे हैं। अपने मजाकिया अंदाज से सभी का दिल जीतने वाले शेखर की जिंदगी में एक वक्त ऐसा भी आया था जब वे अपने बेटे को खोने के गम में डिप्रेशन में चले गए थे। वो और उनकी वाइफ अलका इतने ज्यादा डिप्रेशन में थे कि अपनी लाइफ तक खत्म करना चाहते थे। लेकिन दोनों ने एक-दूसरे को संभाला और जिंदगी को आगे बढ़ने दिया। दिल्ली यूनिवर्सिटी में हुई थी दोनों की पहली मुलाकात...

- बात 80 के दशक की है। शेखर सुमन और अलका दोनों ही दिल्ली यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट थे।

- दोनों की मुलाकात एक कॉमन फ्रेंड के जरिए हुई थी। शेखर ने एक इंटरव्यू में बताया था कि अलका को देखते ही उन्हें उनसे प्यार हो गया था। उन्होंने बताया था कि अलका में कुछ ऐसी बात थी, जिसकी वजह से वे उनकी ओर अट्रैक्ट हुए थे।

- वहीं, अलका ने भी एक इंटरव्यू में बताया था कि शेखर को देखते ही उन्हें लगा था कि यही वो शख्स है, जिसके साथ वे अपनी पूरी लाइफ गुजारता चाहती हैं।

- धीरे-धीरे दोनों में दोस्ती हुई और फिर प्यार।

पेरेंट्स को नहीं था ऑब्जेक्शन

कुछ समय डेटिंग के बाद दोनों ने अपनी रिलेशनशिप के बारे में पेरेंट्स को बताया। पेरेंट्स को दोनों के रिलेशन को लेकर कोई ऑब्जेक्शन नहीं था। परिवारवाले चाहते थे दोनों जल्दी शादी कर लें। इस दौरान अलका बतौर फैशन डिजाइनर काम करने लगी थी और शेखर श्रीराम सेंटर दिल्ली में जॉब। उस दौरान शेखर की सैलरी 600 रुपए थी। दोनों ने 4 मई, 1983 को शादी कर ली।

आगे की स्लाइड्स में पढ़ें शेखर सुमन से जुड़ी कुछ और बातें...

बेटों और वाइफ के साथ शेखर सुमन। बेटों और वाइफ के साथ शेखर सुमन।

लाइफ का बुरा दौर

शादी के कुछ सालों तक तो दोनों की लाइफ मजे में चली। लेकिन अचानक जिंदगी में बुरा दौर शुरू हो गया। शेखर के पास जॉब नहीं रही और अलका का काम भी ठीक नहीं चल रहा था। इसी बीच उन्हें पता चला कि उनके बड़े बेटे आयुष को Endomyocardial Fibrosis नाम की रेयर बीमारी है, जो हार्ट में होती है। बेटे आयुष की हालत बहुत ज्यादा क्रिटिकल थी। और आखिरकार 11 साल की उम्र में आयुष की मौत हो गई। शेखर ने एक इंटरव्यू में बताया था कि जब आयुष हमें छोड़कर चला गया तो ऐसा लगा दुनिया में कुछ बचा ही नहीं। हम दोनों डिप्रेशन में चले गए थे और जीने की इच्छा भी खत्म हो गई थी। 
अध्ययन, अलका और शेखर सुमन। अध्ययन, अलका और शेखर सुमन।
समय के साथ सबकुछ बदल गया
शेखर ने एक इंटरव्यू में बताया कि, आयुष के जाने के लंबे समय बाद उनकी लाइफ पटरी पर आईं। 1988 में दूसरे बेटे अध्ययन का जन्म हुआ। उन्हें सीरीयल 'देख भाई देख' में काम करने का मौका मिला। ये सीरियल खूब पॉपुलर हुआ और शेखर को इंडस्ट्री में पहचाना जाने लगा। शेखर का काम अच्छा चलने लगा तो अलका ने छोटे बेटे अध्ययन पर फोकस करना शुरू कर दिया। अलका ने एक इंटरव्यू में बताया कि हम पिछले 30 साल से साथ हैं। हमने साथ में जिंदगी में कई उतार-चढ़ाव देखें, लेकिन दोनों ने एक-दूसरे का साथ कभी नहीं छोड़ा। हम दोनों ही एक-दूसरे के सबसे बड़े सपोटर हैं।

 

शेखर सुमन और अलका। शेखर सुमन और अलका।
टीवी सीरियलों के अलावा फिल्मों में भी किया काम
शेखर सुमन ने टीवी सीरियलों के अलावा फिल्मों में भी काम किया है। उन्होंने टीवी शो 'एक राजा एक रानी', 'अंदाज', 'कभी इधर कभी उधर', 'हेरा फेरी', 'रिपोर्टर', 'मैं अनाड़ी तू अनाड़ी' सहित अन्य शोज में काम किया है। वहीं, उन्होंने 'उत्सव', 'नाचे मयूरी', 'अनुभव', 'संसार', 'त्रिदेव', 'रणभूमि', 'चोर मचाए शोर', 'एक से बढ़कर एक', 'हार्टलेस', 'भूमि' जैसी फिल्मों में काम किया है। 
X
आयुष-अध्ययन और शेखऱ सुमन-अलका।आयुष-अध्ययन और शेखऱ सुमन-अलका।
बेटों और वाइफ के साथ शेखर सुमन।बेटों और वाइफ के साथ शेखर सुमन।
अध्ययन, अलका और शेखर सुमन।अध्ययन, अलका और शेखर सुमन।
शेखर सुमन और अलका।शेखर सुमन और अलका।
COMMENT