पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एक तरफ सलमान को सजा हुई, दूसरी तरफ वो इस परिवार के लिए फरिश्ता बन गए, जानिए कैसे?

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

मुंबई. सलमान खान को सजा होने के दूसरे दिन भी जमानत नहीं मिली। उनकी याचिका पर सुनवाई हुई। जिसके बाद कोर्ट ने कहा कि पूरा रिकॉर्ड देखने के बाद ही जमानत पर फैसला दिया जाएगा। मामला अगले दिन पर टल गया। सलमान खान को काला हिरण का शिकार करने के दोष में पांच साल की जेल और दस हजार रुपए जुर्माने की सजा दी गई है। वो जोधपुर सेंट्रल जेल में बंद हैं। जिस दिन सलमान को काले हिरण का शिकारी बताया गया, उसी दिन मुंबई में एक ऐसा परिवार भी सामने आया जिसने सलमान को फरिश्ता कहा। सजा वाले दिन सलमान की वजह से उसकी जिंदगी में ऐसा कुछ हुआ कि 'भाई' उस परिवार के लिए 'भगवान' बन गया।

 

कैसे बने फरिश्ता?
सलमान को फरिश्ता बताने वाले मुंबईकर नसीम खान हैं। जिनकी मां हार्ट पेशेंट है। वो हॉस्पिटल में एडमिट थी। नसीम के मुताबिक डॉक्टर ने कहा कि ऑपरेशन के लिए एक लाख तीस हजार रुपए चाहिए। नसीम के पास इतना पैसा नहीं था। किसी ने नसीम से कहा कि सलमान की संस्था बीइंग ह्यूमन से मदद मांगो। नसीम ने वैसा ही किया। उसके बाद ऐसा कुछ हुआ जिसे देख उन्हें भरोसा नहीं हुआ।

 

24 घंटे के अंदर मिली मदद
नसीम खान के अनुसार उन्हें 24 घंटे के अंदर सलमान खान की संस्था बीइंग ह्यूमन की तरफ से एक लेटर मिला। जिसमें 70 हजार रुपए की मदद करने का वादा किया गया। उसमें ये भी लिखा था कि जरूरत होगी तो और भी मदद की जाएगी।

 

सलमान को सजा सुनाने वाले दिन की गई मदद
नसीम कहते हैं कि उन्हें ज्यादा आश्चर्य इस बात का था कि एक तरफ जोधपुर में सलमान खान को पांच साल की सजा सुनाई गई। परिवार समेत दोस्त और फाउंडेशन में काम करने वाले लोग परेशान थे। उसके बाद भी सलमान खान के लोगों ने उनकी मदद की। उन्होंने कहा कि 'मैं सलमान के लिए दुखी हूं कि उनको पांच साल की सजा हुई। उन्होंने क्या गलत किया मैं उस डिटेल में नहीं जाऊंगा। बस यही कहूंगा कि उन्होंने बहुत अच्छे काम किए हैं। कई ऐसे लोग हैं जिनका हमेशा सलमान ने साथ दिया है।'

 

क्या है बीइंग ह्यूमन 
सलमान खान एक चैरिटी फाउंडेशन चलाते हैं जिसका नाम बीइंग ह्यूमन है। यह फाउंडेशन 2007 में बना। बताया जाता है कि सलमान बचपन से अपने पेरेंट्स को दूसरों की मदद करते देखते थे, इसी वजह से उनका चैरिटी की तरफ रुझान हुआ और उन्होंने इस फाउंडेशन की नींव रखी। 

 

क्या करता है फाउंडेशन
बीइंग ह्यूमन बच्चों के हेल्थ और शिक्षा समेत तमाम लोगों की बीमारियों और मुश्किल घड़ी में आर्थिक मदद करता है। सलमान अभी तक सलमान बीइंग ह्यूमन के जरिए से बच्चों के हेल्थ, हार्ट सर्जरी और एजुकेशन पर करीब 50 करोड़ रुपए खर्च कर चुके हैं। बीइंग ह्यूमन ने अभी तक तक़रीबन हजार बच्चों की हार्ट सर्जरी कराई है और कई लोगों की मदद की है।

ये भी देखें...

12 लोगों के साथ बाथरूम शेयर करते थे सलमान, जोधपुर जेल में सजा काटने की ऐसी है कहानी

 

जेल में सलमान खान ने कैदी से किया था ये वादा, जो आज तक नहीं किया पूरा

खबरें और भी हैं...