--Advertisement--

महिला को कई दिनों से शरीर के एक हिस्से में हो रही थी खुजली, लगा वॉशिंग पाउडर से एलर्जी के चलते हो रही दिक्कत, करती रही इग्नोर

3 हफ्ते बाद जब डॉक्टर को दिखाया लगा जिंदगी का सबसे बड़ झटका

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 09:44 AM IST
Woman diagnosed with cancer after ignoring one simple symptom

बर्मिंघम. इंग्लैंड में एक महिला को काफी समय से ब्रेस्ट में खुजली की परेशानी से जूझ रही थी। उसे लगा कि ऐसा वॉशिंग पाउडर से एलर्जी के चलते हो रहा है। इसके अलावा कोई ऐसी वजह भी समझ नहीं आ रही थी कि जिससे किसी खतरे का अंदाजा लगाया जा सके। पर तीन हफ्ते बाद जब खुलजी का सिलसिला बढ़ता चला गया तो उसने डॉक्टर से कंसल्ट किया। तमाम चेकअप के बाद डॉक्टर ने बताया कि वो एग्रेसिव इन्फ्लेमेट्री ब्रेस्ट कैंसर से जूझ रही है और ये थर्ड स्टेज पर है। ये खबर महिला के लिए जिंदगी का सबसे बड़ा झटका था।

कैंसर होने की मिली खबर

- बर्मिंघम की रहने वाली 44 साल की शरलॉट विटमैन को कई दिनों से ब्रेस्ट में खुजली हो रही थी। उसे लगा कि वॉशिंग पाउडर से एलर्जी के चलते ऐसा हो रहा है।
- वहीं, उसके 51 साल के पार्टनर गैरी बोगले को ऐसे कोई लक्षण नहीं दिखाई दिए कि जिससे मामला गंभीर लगे और किसी खतरे का शक हो सके।
- करीब तीन हफ्ते बाद खुजली का समस्या बहुत बढ़ गई। ऐसे में शरलॉट ने आखिरकार डॉक्टर को दिखाने का फैसला किया। वहां उसके कई तरह के टेस्ट और चेकअप किया गया।
- डॉक्टर ने जब रिपोर्ट्स देखीं तो शॉकिंग खबर सुनाई। उसने बताया कि शरलॉट एग्रेसिव इन्फ्लेमेटरी ब्रेस्ट कैंसर से जूझ रही हैं और ये तीसरी स्टेज पर पहुंच चुका है।
- शरलॉट को लिए ये जिंदगी का सबसे बड़ा झटका था। वहीं गैरी को और गहरा सदमा लगा क्योंकि 14 साल पहले उसकी पहली पत्नी की मौत भी ब्रेस्ट कैंसर से हुई थी।

कीमो के दौरान बिगड़ी तबियत
- बीमारी का पता लगते ही शरलॉट का कीमो का 6 राउंड का कोर्स शुरू हुआ। चौथे कोर्स के बाद ही अचानक शरलॉट की तबीयत बिगड़ने लगी।
- वो तेज बुखार से तपने लगी और उसे इमरजेंसी यूनिट में एडमिट कराना पड़ा। 6 दिन उसने इसी हालत में हॉस्पिटल में गुजारे।
- फिर पता चला ये सब यूरिनरी में इंफेक्शन के चलते हो गए घाव के चलते हो रहा है, जिसके चलते उसका इम्यून सिस्टम का निचला हिस्सा प्रभावित हो रहा था।
- हालांकि, इस हालस में भी शरलॉट पॉजीटिव रही और उसने अच्छे से रिकवरी भी कर ली। इसके बाद उसने कीमो के बाकी दोनों कोर्स पूरे किए।
- फिर डॉक्टर ने बताया कि अब शरलॉट सर्जरी के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। इसके बाद पिछले महीने उसका बायां ब्रेस्ट सर्जरी के जरिए काटकर निकाला गया। अब वो रिकवरी कर रही है।
- मुश्किल से 5 फीसदी ब्रेस्ट कैंसर ही इन्फ्लेमेटरी होते हैं, जिसमें ब्रेस्ट में मौजूद ग्रंथियां ब्लॉक हो जाती हैं और इनसे अतिरिक्त मात्रा में मौजूद फ्लूड निकलना बंद हो जाता है।

Woman diagnosed with cancer after ignoring one simple symptom
Woman diagnosed with cancer after ignoring one simple symptom
X
Woman diagnosed with cancer after ignoring one simple symptom
Woman diagnosed with cancer after ignoring one simple symptom
Woman diagnosed with cancer after ignoring one simple symptom
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..