--Advertisement--

महिला हॉकी वर्ल्ड कपः ओलिंपिक चैम्पियन इंग्लैंड से मुकाबला आज, कॉमनवेल्थ गेम्स में ग्रुप स्टेज में हरा चुका है भारत

Dainik Bhaskar

Jul 21, 2018, 11:04 AM IST

भारत ने 8 साल बाद वर्ल्ड कप के लिए क्वालिफाई किया, अर्जेंटीना में हुए पिछले वर्ल्ड कप के लिए क्वालिफाई नहीं कर सका था

भारत की कप्तान रानी रामपाल के पास 10 साल का अंतरराष्ट्रीय हॉकी खेलने का अनुभव है। भारत की कप्तान रानी रामपाल के पास 10 साल का अंतरराष्ट्रीय हॉकी खेलने का अनुभव है।

  • भारत ने महिला हॉकी वर्ल्ड कप में अब तक 38 मैच खेले
  • भारतीय टीम में रानी रामपाल और दीपिका को ही वर्ल्ड कप में खेलने का अनुभव

लंदन. महिला हॉकी वर्ल्ड कप शनिवार से शुरू हो रहा है। टूर्नामेंट के पहले दिन 4 मैच होंगे। 10वीं रैंकिंग वाले भारत का सामना ओलिंपिक चैम्पियन मेजबान इंग्लैंड से शाम 6:30 बजे खेला जाएगा। अन्य मुकाबलों में अमेरिका-आयरलैंड, जर्मनी-दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया-जापान की टीमें भिड़ेंगी। भारत को इस टूर्नामेंट के लिए ग्रुप-बी में इंग्लैंड, आयरलैंड और अमेरिका के साथ रखा गया है। सबसे अधिक 7 बार इस टूर्नामेंट को जीतने वाली नीदरलैंड पूल-ए में है। भारत सातवीं बार इस टूर्नामेंट में हिस्सा ले रहा है। मैच को स्टार स्पोर्ट्स के चैनल्स पर देखा जा सकता है।

रानी रामपाल की कप्तानी में उतरने वाली भारतीय टीम को विश्वास है कि वे इंग्लैंड के खिलाफ अपने पहले मैच में जीत हासिल करेंगी। इस साल ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत ने इंग्लैंड को ग्रुप स्तर पर हराया था। हालांकि, बाद में ब्रॉन्ज मेडल के लिए हुए मैच में इंग्लैंड ने बाजी मारी थी। भारतीय टीम में रानी रामपाल और दीपिका को ही वर्ल्ड कप में खेलने का अनुभव है, जबकि बाकी खिलाड़ी पहली बार वर्ल्ड कप खेलेंगी। वैसे कई खिलाड़ी 100 से ज्यादा इंटरनेशनल मैच खेल चुकी हैं।

वर्ल्ड कप में भारत का सक्सेस रेट 33%: वर्ल्ड कप में भारत ने अब तक 9 मैच जीते और 27 हारे हैं, जबकि 3 मुकाबले ड्रॉ कराने में सफल रहा। इस दौरान भारत ने 48 गोल किए और 87 खाए। वर्ल्ड कप में भारत का सबसे अच्छा प्रदर्शन 1974 में रहा था। तब उसने चौथा स्थान हासिल किया था। उसके बाद से उसका प्रदर्शन निराशाजनक ही रहा है। वर्ल्ड कप का यह 14वां संस्करण है। पिछले 13 में से 7 में नीदरलैंड चैम्पियन रहा, जबकि अर्जेंटीना, जर्मनी और ऑस्ट्रेलिया 2-2 बार विश्व कप की ट्रॉफी जीतने में सफल रहे।

टीमः गोलकीपरः सविता (उप-कप्तान), रजनी एतिमारपू। डिफेंडर: दीपा ग्रेस इक्का, सुनीता लाकड़ा, दीपिका, गुरजीत कौर, रीना खोखर। मिडफील्डर: नमिता टोप्पो, लिलिमा मिंज, मोनिका, उदिता, निक्की प्रधान, नेहा गोयल। फॉरवर्ड: रानी रामपाल (कप्तान), वंदना कटारिया, लालरेमसियामी, नवनीत कौर, नवजोत कौर।

शनिवार शाम 6:30 बजे से इसी मैदान पर भारत और इंग्लैंड के बीच महिला हॉकी मैच खेला जाएगा। शनिवार शाम 6:30 बजे से इसी मैदान पर भारत और इंग्लैंड के बीच महिला हॉकी मैच खेला जाएगा।
2015 में भारत ने महिला हॉकी वर्ल्ड लीग में 5वां स्थान हासिल किया था। - फाइल 2015 में भारत ने महिला हॉकी वर्ल्ड लीग में 5वां स्थान हासिल किया था। - फाइल
इंग्लैंड में भी भारतीय प्रशंसकों की कमी नहीं है। - फाइल इंग्लैंड में भी भारतीय प्रशंसकों की कमी नहीं है। - फाइल
X
भारत की कप्तान रानी रामपाल के पास 10 साल का अंतरराष्ट्रीय हॉकी खेलने का अनुभव है।भारत की कप्तान रानी रामपाल के पास 10 साल का अंतरराष्ट्रीय हॉकी खेलने का अनुभव है।
शनिवार शाम 6:30 बजे से इसी मैदान पर भारत और इंग्लैंड के बीच महिला हॉकी मैच खेला जाएगा।शनिवार शाम 6:30 बजे से इसी मैदान पर भारत और इंग्लैंड के बीच महिला हॉकी मैच खेला जाएगा।
2015 में भारत ने महिला हॉकी वर्ल्ड लीग में 5वां स्थान हासिल किया था। - फाइल2015 में भारत ने महिला हॉकी वर्ल्ड लीग में 5वां स्थान हासिल किया था। - फाइल
इंग्लैंड में भी भारतीय प्रशंसकों की कमी नहीं है। - फाइलइंग्लैंड में भी भारतीय प्रशंसकों की कमी नहीं है। - फाइल
Astrology

Recommended

Click to listen..