--Advertisement--

Blood Donor Day: 'मैं दवा लेता हूं इसलिए खून नहीं दे सकता', जानें ब्लड डोनेशन के भ्रम और सच्चाई

विश्व स्वास्थ्य संगठन हर साल 14 जून को विश्व रक्तदान दिवस मनाता है।

Dainik Bhaskar

Jun 14, 2018, 05:45 PM IST
खाली पेट रक्तदान करने की बजाय, नाश्ता खाने के बाद बाद ब्लड डोनेट करें। प्रेग्नेंसी और माहवारी के दौरान महिलाएं ब्लड डोनेट करने से बचें। खाली पेट रक्तदान करने की बजाय, नाश्ता खाने के बाद बाद ब्लड डोनेट करें। प्रेग्नेंसी और माहवारी के दौरान महिलाएं ब्लड डोनेट करने से बचें।

हेल्थ डेस्क. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 14 जून को विश्व रक्तदान दिवस घोषित किया है। यह विभिन्न तरह के ब्लड ग्रुप का पता लगाने वाले वैज्ञानिक डॉ. कार्ल लैंडस्टीनर के सम्मान में मनाया जाता है। अक्सर लोगों लगता है कि ब्लड डोनेट करके हम दूसरों की जान बचाते हैं जबकि सच ये भी है कि इस बहाने डोनर की सेहत भी सुधरती है। हमारे मन के ब्लड डोनेशन से जुड़े कई भ्रम आते हैं जैसे ब्लड डोनेशन के बाद मैं कोई काम नहीं कर सकता, दवा ले रहा हूं इसलिए रक्तदान नहीं कर सकता है। डॉ. लीना हूडा, ब्लड ट्रांसफ्यूजन स्पेशलिस्ट व मेडिकल आॅन्कोलॉजिस्ट, एसएमएस हॉस्पिटल, जयपुर बता रहीं है ब्लड डोनेशन से जुड़े भ्रम-तथ्यों और रक्तदान करते समय किन बातों का ख्याल रखना चाहिए...

भ्रम: किसी बीमार डोनर का ब्लड चढ़ाने से उसकी बीमारी दूसरे व्यक्ति में आ जाती है।
सच:
ऐसा दो स्थिति में ही होता है। पहला जब डोनर के ब्लड की जांच न की गई हो, दूसरा डोनर ने अपनी बीमारियों की जानकारी पहले न दी हो। इसलिए जब भी ब्लड डोनेट करें तो कुछ भी न छिपाएं।

भ्रम : ब्लड डोनेशन के बाद कमजोरी महसूस होती है।
सच :
रक्तदान के दौरान जब ब्लड निकाला जाता है तो थोड़ी देर के लिए चक्कर आ सकते हैं लेकिन कमजोरी नहीं आती है क्योंकि ब्लड लेने से पहले डॉक्टर जरूरी जांच भी करते हैं। ब्लड की एक यूनिट में 350 या 450 मिलीलीटर रक्त लिया जाता है जिसकी पूर्ति शरीर खुद कर लेता है। एक स्वस्थ रक्तदाता हर तीन महीने के बाद रक्तदान कर सकता है।

भ्रम: मैं दवा लेता हूं इसलिए रक्तदान नहीं कर सकता।
सच :
अगर डोनर किसी गंभीर रोग जैसे डायबिटीज, मिर्गी, थायरॉयड से परेशान है या छह माह पहले कोई आॅपरेशन हुआ है तो ब्लड डोनेट न करें। इससे जुड़ी किसी भी भ्रम की स्थिति बनने पर फिजिशियन से राय ले सकता है।

भ्रम: रक्तदान करते समय दर्द होता है।
सच :
ऐसा बिल्कुल भी नहीं होता है। केवल रक्तदान से पहले सुई लगाते समय ही मामूली सा दर्द होता है। ब्लड डोनेशन के दौरान डोनर रिलैक्स फील करता है।

भ्रम: रक्तदान के बाद मैं कोई काम नहीं कर सकता।
सच:
ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। रक्तदान के 5-10 मिनट बाद आप रूटीन के सारे काम कर सकते हैं। रक्तदान के बाद जूस या नारियल पानी पी सकते हैं।

ब्लड डोनेट कर रहे हैं तो ये बातें ध्यान रखें

  • डोनर की उम्र 18-65 वर्ष के बीच होनी चाहिए और वजन 48 किलो से कम नहीं होना चाहिए। रक्तदान से पहले भोजन जरूर कर लें।
  • प्रेग्नेंसी और माहवारी के दौरान महिलाएं ब्लड डोनेट करने से बचें। इसके अलावा बच्चे को ब्रेस्ट फीडिंग कराती हैं तो रक्तदान न करें।
  • अगर रक्तदान के दौरान उल्टी लगने, सर्दी लगने, खांसी आने, सिरदर्द, चक्कर और घबराहट जैसे लक्षण दिखें तो डॉक्टर को बताएं।
  • रक्तदान के बाद जहां से ब्लड निकाला गया है वहां से ब्लीडिंग बंद न हो तो कोहनी को मोड़कर रखें और तब तक रखें जब तक ब्लड निकलना बंद न हो जाए।
  • रक्तदान के बाद अगर प्रभावित हिस्से पर सूजन आती है या नीला पड़ जाता है और ठंडा सेंक करें।
  • रक्तदान से पहले नींद पूरी लें। अगर रातभर ट्रेवल किया है तो अगले दिन रक्तदान न करें।

एक्स्ट्रा शॉट्स
अलग-अलग तरह के ब्लड ग्रुप का पता लगाने वाले वैज्ञानिक डॉ. कार्ल लैंडस्टीनर का जन्म 14 जून 1868 को हुआ था। इसलिए भी वर्ल्ड ब्लड डोनर डे हर साल 14 जून को मनाया जात है। साल 1901 में कार्ल ने A,B,O जैसे ब्लड ग्रुप का पता लगाया। डॉ. कार्ल ने 1909 में पोलियो वायरस का भी पता लगाया। इसके बाद ही पोलियो को नियंत्रित करने का अभियान शुरू किया गया।

डोनर की उम्र 18—65 वर्ष के बीच होनी चाहिए और वजन 48 किलो से कम नहीं होना चाहिए। डोनर की उम्र 18—65 वर्ष के बीच होनी चाहिए और वजन 48 किलो से कम नहीं होना चाहिए।
X
खाली पेट रक्तदान करने की बजाय, नाश्ता खाने के बाद बाद ब्लड डोनेट करें। प्रेग्नेंसी और माहवारी के दौरान महिलाएं ब्लड डोनेट करने से बचें।खाली पेट रक्तदान करने की बजाय, नाश्ता खाने के बाद बाद ब्लड डोनेट करें। प्रेग्नेंसी और माहवारी के दौरान महिलाएं ब्लड डोनेट करने से बचें।
डोनर की उम्र 18—65 वर्ष के बीच होनी चाहिए और वजन 48 किलो से कम नहीं होना चाहिए।डोनर की उम्र 18—65 वर्ष के बीच होनी चाहिए और वजन 48 किलो से कम नहीं होना चाहिए।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..